Breaking News

बरौनी जंक्शन पर यात्री सुविधा नदारद जबकि लगभग 6 करोड़ की प्रतिमाह राजस्व की प्राप्ति!

गढ़हरा (बेगूसराय)/संवाददाता : उतर बिहार का एक प्रमुख स्टेशन बरौनी जंक्शन है। उक्त स्टेशन से रेलवे को लगभग छह करोड़ रुपये प्रतिमाह दैनिक यात्रियों, माल भारा के रूप में राजस्व की प्राप्ति होती है। लेकिन यात्री सुविधा के नाम पर कुछ भी नहीं है। इस स्टेशन से 60 जोड़ी ट्रेनों आना-जाना प्रति दिन होता है। इस जंक्शन पर कुल 9 प्लेटफार्म हैं। लेकिन यात्रियों के सुख-सुविधा के लिये प्लेटफार्म संख्या 4-5 पर ही शौचालय है। जो पे एन्ड यूज शौचालय है जिसे मनमाने तरीके से संचालन के बाबजूद रेलयात्रियों के लिए एक मात्र सहारा है। प्लेटफार्म संख्या 2-3, 6-7 व 8-9 पर शौचालय, पेशाब खाना, स्नान घर नहीं रहने के कारण रेलयारियों को जान जोखिम में डाल कर रेलवे लाईन पर शौच, पेशाब करने हेतु मजबूर होना पड़ता है। यात्रियों को जंक्शन पर नित्य क्रिया को लेकर प्रतिदिन फजीहत झेलनी पड़ती है। सबसे ज्यादा परेशानी तो महिला रेलयात्रियों को झेलनी पड़ती है। कभी-कभी तो जंक्शन में उस समय अफरा-तफरी मच जाती है जब गंदगी फैलाने के आरोप में आरपीएफ द्वारा पकड़े जाने पर आर्थिक जुर्माना भी भरना पड़ता है। जंक्शन के उत्तर व दक्षिण दोनों तरफ गंदगी के अम्बार लगे रहने के कारण प्लेटफार्म पर यात्रियों को बैठना मुश्किल हो जाता है। क्योकि गंदगी से निकली सड़ांध बदबू यात्रियों के लिए मुसीबत खड़ा कर देती है। वहीं मच्छरों की बढ़ रही प्रकोप यात्रियों के लिए सिरदर्द बना हुआ है। यात्रियों को प्लेटफार्म पर बैठना दूभर हो जाता है। स्थानीय रेलाधिकारी इसके प्रति असंवेदनशील बने हुए हैं। इस संबंध में स्वास्थ्य पदाधिकारी से पूछने पर उन्होंने कहा कि इसकी जांच कराकर कार्रवाई की जायगी।

Check Also

मनु महाराज केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति पर ITBP के नये डीआईजी, 7 IAS और 5 IPS का तबादला संजय सिंह बने स्वास्थ्य विभाग के विशेष सचिव

डेस्क : भारतीय प्रशासनिक सेवा के 7 अधिकारी बदले गए हैं। वहीं दूसरी सेवाओं से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *