Breaking News

बिहार :: गार्ड लूट कांड को लेकर किया कार्यालय का घेराव

गढ़हरा (बेगूसराय)/अरूण श्रीवास्तव संवाददाता : शनिवार को गढ़हरा यार्ड में गुड्स गार्ड अभिकान्त कुमार को ड्यूटी के दौरान अपराधियों द्वारा बेरहमी से पिटाई कर लूटपाट करने के मामले को लेकर सम्पूर्ण रेल परिसर गर्म रहा। रेलवे गार्ड ने अपनी संरक्षा सुरक्षा को लेकर गार्ड बुकिंग कार्यालय का घेराव कर जमकर प्रशासन के विरोध नारेबाजी की। जिस कारण जक्शन परिसर में अफरा-तफरी मची रही। घटना की जानकारी मिलने पर सोनपुर के मंडल परिचालन पदाधिकारी रूपेश कुमार बरौनी पहुंचकर मामले की तहकीकात किया। रेलकर्मियों को मनाने का प्रयास किया। साथ ही अपराधियों का गिरफ्तारी कराने के साथ-साथ बेहतर व्यवस्था बनाए रखने में भरपूर सहयोग करने का आश्वासन दिया। गौरतलब हो कि शनिवार की देर शाम गढ़हरा यार्ड में अपने ड्यूटी पर तैनात अप रक्सौल माल गाड़ी के गार्ड अभिकान्त कुमार को ब्रेक पर चढ़कर दो नकाबपोश सशस्त्र अपराधियों ने पिस्तौल की बट से सिर फोड़ दिया। उसके बाद श्री कुमार को गंभीर रूप से पिटाई कर 17 सौ नगद रुपये छीन लिया। गंभीर रूप से घायल लहूलुहान पीड़ित गार्ड मौका देख किसी प्रकार जान बचाते हुए यार्ड से रेलवे कॉलोनी परिसर की ओर भागा। हल्ला होने पर लोगों ने गंभीर रूप से घायल गार्ड को उप मंडलीय अस्पताल गढ़हरा पहुंचाया। इस संबंध में पीड़ित गार्ड ने बताया कि वे गुड्स ट्रेन पर ड्यूटी में था कि यार्ड से गाड़ी खुलने के बाद आउटर सिग्नल पर रुकी। जहां दो की संख्या में नकाबपोश सशस्त्र अपराधियों ने अचानक बेरहमी से हमला बोल दिया। उसने पिस्तौल की बट से मारकर लहूलुहान कर दिया। जेब में रखे 17 सौ रुपया जबरन निकाल लिया। जान बचाने को लेकर भागना चाहा। मौका देखते ही किसी प्रकार यार्ड से कॉलोनी परिसर की ओर भागा। घटना की सूचना मिलते ही क्षेत्रीय प्रबंधक सुभाष चंद्र, स्टेशन प्रबंधक विमलेश साहा, बसंत सिन्हा, अवधेश सिंह, मनोज सिंह सहित दर्जनों गार्ड अस्पताल पहुंच कर मामले की जानकारी लिया। देर रात रेल डीएसपी अंजनी कुमार झा ने भी गढ़हरा पहुंच पीड़ित रेलकर्मी से मिलकर मामले की तहकीकात किया। पूरे घटनाक्रम के दौरान गढ़हरा यार्ड से लेकर अस्पताल तक में एक भी आरपीएफ जवान नहीं दिखे। रेलकर्मियों ने नाम नहीं छापने के शर्त पर बताया कि शाम ढ़लते ही सम्पूर्ण यार्ड पेट्रोलियम पदार्थों के लुटेरों के कब्जे में रहता है। जहां रेलकर्मी अपनी जान हथेली पर रखकर ड्यूटी करने को मजबूर होते हैं। सनद रहे कि रेल परिसर गढ़हरा में एक माह के अंदर सशस्त्र नकाबपोश अपराधियों ने दर्जनों रेलकर्मियो को पिस्तौल बल पर हजारों की लूट पाट की है। लेकिन प्रशासन के कानों पर जूं तक नहीं रेंगती। लगातार हो रही घटना को लेकर रेलकर्मियों के बीच दहशत व्याप्त है।

Check Also

दर दर की ठोकरे खा रहे बुजुर्ग, नही हो रहा विश्वविद्यालय थाना में एफआईआर दर्ज

मामले को अकिंत करने के बजाय उलझाने में लगे है विश्वविद्यालय थाना दरभंगा। विश्वविद्यालय थाना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *