Breaking News

बिहार :: घटना के विरोध में आइसा ने प्रतिरोध मार्च निकाला

बेगूसराय (आरिफ हुसैन) : समस्तीपुर में पुलिस फायरिंग और खगड़िया में दबंगों द्वारा महादलितों के घरों में आग लगाने की घटना के खिलाफ आइसा ने शनिवार को प्रतिरोध मार्च निकाला। मार्च अम्बेदकर चौक स्थित आइसा जिला कार्यालय से निकल कर कैंटिन चौक पहुंच प्रतिरोध सभा में तब्दील हो गयी। मौके पर सभा को संबोधित करते हुए आइसा नेता वतन कुमार ने कहा कि नीतीश-मोदी के राज में बिहार में दलितों पर जुल्म बढ़ गये हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा-जदयू राज में प्रशासन अपराधियों पर लगाम लगाने की बजाय जनता के आंदोलनों के दमन पर उतारू है तो दूसरी ओर महादलितों पर दबंगों का जुल्म लगातार जारी है। जिसका ताजा उदाहरण है समस्तीपुर के ताजपुर में 16 साल की छात्रा के अपहरण के खिलाफ आम लोगों का लगातार आंदोलन चल ही रहा था तभी ताजपुर में ही एक और व्यवसायी की अपराधियों ने हत्या कर दी। जब घटना से आक्रोशित लोगों ने रोड जाम कर प्रदर्शन करने की कोशिश की तब पुलिस ने भीड़ पर गोली चला दी जिससे एक व्यक्ति की मौत और कई लोग घायल हो गए। वहीं खगड़िया जिले में सत्ता और प्रशासन द्वारा संरक्षण प्राप्त अपराधियों ने अपना बर्चस्व साबित करने के लिए 70 महादलितों के घरों को जला कर राख कर दिया जिसकी हमारी संगठन भर्त्सना करती है। मौके पर छात्र नेता अभिषेक आनंद ने कहा यह बहुत दर्दनाक और निंदनीय घटना है। आज बिहार पूरी तरह से अपराधियों के चंगुल में है। नीतीश जबसे भाजपा के साथ आये हैं तब से बिहार में सामंती, दबंग ताकतों का मनोबल बढ़ गया है। दलितों, महिलाओं, छात्रों, व्यापारियों और अल्पसंख्यकों पर चौतरफा हमले बढ़ गये हैं और अपराधियों के पक्ष में पुलिस प्रशासन खड़ा है। जिसे आइसा जैसी न्याय पसंद संगठन कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। मौके पर राजेश श्रीवास्तव, अविनाश, रोमन, राजीव, अंकुश, अंकित, राजा, बबलू, परमात्मा, तिपेश, प्रतीक सहित दर्जनों छात्र नौजवान उपस्थित थे।

Check Also

दर दर की ठोकरे खा रहे बुजुर्ग, नही हो रहा विश्वविद्यालय थाना में एफआईआर दर्ज

मामले को अकिंत करने के बजाय उलझाने में लगे है विश्वविद्यालय थाना दरभंगा। विश्वविद्यालय थाना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *