Breaking News

बिहार :: जयंती पर याद किये गये चाचा नेहरू

जयंती पर पुष्प अर्पित करते कांग्रेस कार्यकर्ता।

बिहारशरीफ। स्थानीय धनेश्वर घाट स्थित कांग्रेस कार्यालय में भारत के प्रथम प्रधानमंत्री स्वर्गीय पंडित जवाहरलाल नेहरू कि 128वीं जयंती समारोह बाल दिवस के रूप में मनाया गया। इस मौके पर कांग्रेस के जिला अध्यक्ष दिलीप कुमार ने चाचा नेहरू को स्मरण करते हुए उनके जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उन्होंने आजादी की लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका अदा किया। स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद उन्हें सर्वसम्मति से नेता चुना गया उसके बाद देश के प्रथम प्रधानमंत्री बनने का गौरव प्राप्त हुआ। चाचा नेहरू उच्च कोटि के विचारक, प्रशासक, राजनीतिज्ञ एवं कूटनीतिज्ञ थे। उन्होंने देश को एक कुशल नेतृत्व में देश के वैज्ञानिक और औद्योगिक विकास में उन का अहम योगदान रहा है। उन्होंने वर्तमान प्रधानमंत्री को आलोचना करते हुए कहा कि आज हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी खुद एक प्रधानमंत्री पद की गरिमा को भूलकर देश में सांप्रदायिकता को बढ़ावा दे रहे हैं। देश की एकता को खंडित कर रहे हैं। देशभक्ति का ढोंग कर रहे है। उन्होंने कहा कि पिछले 60 वर्षों में भारत एक शक्तिशाली राष्ट्र बना है। सवा सौ करोड़ देशवासी गांधी व नेहरू जी को उनके योगदान को भुला नहीं सकती है। चाचा नेहरू ने भारतीय लोकजीवन को एक नया आयाम दिया है, जो हमें सदियों तक मार्गदर्शन करेगा। इस मौके पर मो जमील अशरफ जमाली, अमोद कुमार पाठक, अजीत कुमार, मुन्ना पांडे, संजय महाराज, जितेंद्र प्रसाद सिंह, नवप्रभात प्रशांत, राजीव रंजन कुमार, राजीव कुमार, राजेश्वर प्रसाद, प्रणव कुमार, सुभाष कुमार, संजीव पांडे, राजबल्लभ पासवान, गोपाल यादव सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे। वहीं नूरसराय के मध्य विद्यालय ककड़िया के प्रांगण में विद्यालय के चेतना सत्र में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का 128वां जन्मदिन बाल दिवस के रूप में प्रधानाध्यापक शिवेन्द्र कुमार के अध्यक्षता में मनाया गया। इस दौरान शिक्षक व बच्चों ने चाचा नेहरू को याद किया और उनके आदर्शो को आत्मसात करने का संकल्प लिया। बच्चों, शिक्षकों एवं अभिभावकों ने नेहरू की तस्वीर पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। मौके पर शिक्षक नेता राकेश बिहारी शर्मा ने समारोह को सम्बोधित करते हुए अपने उद्बोधन में कहा कि वैसे तो किसी भी त्यौहार मनाने के पीछे कोई न कोई उद्देश्य जरुर होता है ठीक उसी प्रकार बाल दिवस का भी हमारे जीवन में बच्चो के भविष्य निर्माण में सहायक होता है। उन्होंने कहा पंडित जवाहरलाल नेहरू ने भारत देश के आधुनिक निर्माण के साथ-साथ उसे आत्मनिर्भर बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। श्री शर्मा ने बच्चों से चाचा नेहरू के आदर्शो को आत्मसात करने की अपील की। समारोह में बच्चों के बीच मिठाई बांटी गई। बाल दिवस के मौके पर खेलकूद प्रतियोगिता हुई। इस अवसर पर विद्यालय के सचिव सुनीता देवी, विद्यालय के प्रधानाध्यापक शिवेन्द्र कुमार, बालसंसद के प्रधानमंत्री सत्यम कुमार, शिक्षक सुरेश प्रसाद रजक, शिक्षक शैलेन्द्र कुमार विद्यार्थी, शिक्षक अनुज कुमार, छात्र-छात्रा शुभम प्रकाश शर्मा, शुरभि कुमारी, काजल कुमारी, मौसम कुमारी, मनीष कुमार, मुकेश कुमार इत्यादी शिक्षक सहित सैकड़ों छात्र-छात्राएं शामिल थे।

Check Also

योगीता फाउंडेशन :: मन, वचन व कर्म में समानता रखने वाले गांधी व शास्त्री ने आत्मनिर्भर समाज का देखा था सपना- मनोज शर्मा

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जीवन दर्शन एवं …

Leave a Reply

Your email address will not be published.