बिहार :: डीएम ने दिया नगर नगर पंचायत में हुई घोटाला का जाँच करने का आदेश।

0

शेरघाटी (गया)। शेरघाटी नगर पंचायत में बरती गयी वित्तिय अनियमिता को लेकर गठित जांच टीम के समक्ष, नगर पंचायत की ओर से साक्ष्य प्रस्तुत करने की बात तो दूर शरीर उपस्थिति भी दर्ज नही कारायी गयी है। अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ शेरघाटी प्रखंड इकाई के अध्यक्ष मो. असमत उर्फ दुन ने कार्यपालक पदाधिकारी सुनिल कुमार लाल दास एवं नगर पंचायत शेरघाटी के मुख्य पार्षद लिलावती देवी पर नगर विकास मंत्रालय के दिशा-निर्देश का नजर अंदाज कर योजना राशि का खर्च करने का गंभीर आरोप लगया है। जिसमें लाखों रूपये की बदंर बाट की आकांशा जताया था। साथ ही नगर अध्यक्ष के पुत्र विनय प्रसाद नगर पंचायत के कार्यो में दिलचस्पी लिये जाने पर आपत्ती जतायी है। जिसको लेकर उन्होनें नगर विकास पटना, आयुक्त मगघ प्रमंडल, जिला अधिकारी गया के अतिरिक्त अन्य संबंधित मंत्रालयों से लिखीत शिकायत किया था। जिसके आलोक में जिला अधिकारी गया कुमार रवि ने शेरघाटी के अनुमंडल पदाधिकारी ज्योती कुमार को टीम गठित कर सप्ताहन जाॅच प्रतिवेदन प्रशित करने का आदेश दिया था। जिसको लेकर जिला कार्यालय द्वारा पत्राकं स0-7474 गो. तिथि-2-10-2017 प्रेशित किया था। प्रेशित आदेश के अनुपालन नही किये जाने पर पुनः जिला कार्यालय की ओर से रीमाईन्डर भेजा गया, जिसका पत्राकं स0-7706 गो. तिथि 9-10-2017 है। उसके बाबजूद अब तक जिला अधिकारी गया का आदेश को जानबूछकर नजर अंदाज किया जा रहा है। जिससे साफ मालूम पडता है कि जाॅच-जाॅच नही बल्कि अधिकारियों के लिए आय का श्रोत एवं मनोरजन का साधन बन गया है। विदित हो कि पूर्व के समय भी एलइडी बल्ब, डस्टबीन आदी की खरीद में अनियमिता बरतने का आरोप लगायी जाती रही है। और उसकी उच्चस्तरीय जाॅच भी हुई परन्तु आरोपियों के विरूद्ध कारवाई होना शिकायतकर्ता एवं शहरवासियों के लिए वर्षो बीत जाने के बाद भी आज भी एक अनसुलझी पहेली बनी हुई है। जिसके कारण राजद अध्यक्ष श्री असमत द्वारा लगये गये नये आरोपों की निपक्ष जाॅच एवं कारवाई को लेकर लोगों में शंसय बना हुआ है। गठित जाॅच दल के सदस्य अभियन्ता मनोज कुमार से जाॅच में हो रहे विलम्व के संबंध में पूछे जाने पर उन्होने बताया कि बीते कई दिनो से जारी त्योहार में कानून व्यवस्था कार्य में व्यस्थ होने के कारण जाॅच में विलम्व हुआ है। अगामी तीन-चार दिनो में जाॅच कार्य पूरी कर ली जायेगी और जॉच प्रतिवेदन अगे्रसित कर दी जायेगी।