Breaking News

बिहार :: दरभंगा के डीईओ निलंबित, पोशाक व साईकिल योजना में 60 लाख रूपये गबन का आरोप

दरभंगा : जिला शिक्षा अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार झा को राज्य के शिक्षा विभाग के निदेशक (प्रशासन) सह अवर सचिव के आदेश पर मंगलवार को निलंबित कर दिया गया। निलंबन अवधि में डॉ. झा का मुख्यालय जन शिक्षा निदेशालय में होगा। शिक्षा निदेशालय से प्राप्त निर्देश के आलोक में डॉ. झा जिला शिक्षा अधिकारी का प्रभार वरीय जिला कार्यक्रम अधिकारी स्थापना डॉ. महेश प्रसाद सिंह को सौंपेंगे।

ज्ञातव्य हो कि शिक्षा विभाग के 60 लाख रुपये के गबन को लेकर यह निलंबन की कार्रवाई हुई है। आईडीबीआई बैंक दोनार शाखा से 16 जुलाई 2016 को जिला शिक्षा अधिकारी के हस्ताक्षर से चेक के माध्यम से दोनार स्थित पंजाब एंड सिंध बैंक में राशि स्थानांतरित किया गया। यहां से 31 अक्टूृबर 2016 को 60 लाख की यह राशि आरटीजीएस के माध्यम से पंजाब नैशनल बैंक लहेरियासराय शाखा में ट्रैवल एजेंट राजीव कुमार सिंह के खाता में डाल दिया गया। यहां से इस राशि की निकासी तीन महीने के दौरान पूरी तरह कर ली गई।

मामला तब प्रकाश में आया, जब डीएम के निर्देश पर वर्तमान डीपीओ लेखा योजना सुनील कुमार को जिला शिक्षा अधिकारी की ओर से प्रभार सौंपने का कार्य प्रारंभ हुआ। मामला खुलते ही जिला शिक्षा अधिकारी डॉ. झा ने विगत 27 सितंबर को लहेरियासराय थाने में डीपीओ लेखा योजना शाखा के कर्मी दिलीप कुमार पाठक, आईडीबीआई बैंक के एजेंट मधुकर शांडिल्य व ट्रैवल एजेंट राजीव कुमार के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करायी। वहीं दूसरी ओर 28 सितंबर को श्री पाठक की ओर से भी थाने में मामला दर्ज करायी गयी। पहली अक्टूबर को डीएम की ओर से तीन सदस्यीय जांच समिति का गठन किया गया। समिति की ओर से भी व्यापक जांच पड़ताल कर रिपोर्ट तैयार कर ली गयी है।

इस बीच राज्य निदेशालय में तत्कालीन डीपीओ लेखा योजना व वर्तमान जिला शिक्षा अधिकारी डॉ. झा के विरुद्ध तमाम मामलों का कच्चा चिट्ठा पहुंच गया। इसकी छानबीन के उपरांत 23 अक्टूबर को राज्य निदेशालय की ओर से डॉ. झा के निलंबन का आदेश निर्गत कर दिया गया। हालांकि डॉ. झा ने थाने में आवेदन देकर विभिन्न चेकों पर अपने किए गए हस्ताक्षर की जांच हैंडराइटिंग एक्सपर्ट से कराने की मांग की है।

इस संदर्भ में दूरभाष पर संपर्क करने पर निवर्तमान डीईओ डॉ. झा ने बताया कि मेरे साथ मेरे कर्मियों की ओर से धोखाधड़ी की गई है। मैं अपने हस्ताक्षर की जांच कराने के लिए आवेदन दे चुका हूं। विशेषज्ञ की ओर से हस्ताक्षर की जांच के उपरांत दूध का दूध, पानी का पानी विभाग के सामने आ जाएगा।

क्या है पूरा मामला

दरभंगा जिला शिक्षा कार्यालय में पोशाक और साइकिल के लिये आए 60 लाख रूपये के हेराफेरी का मामला सामने आया है। गबन का आरोप डीईओ डॉ. सुधीर कुमार झा के साथ दो और लोगों पर लगा है। जिला कार्यक्रम पदाधिकारी कार्यालय की योजना एवं लेखा शाखा के लिपिक दिलीप कुमार पाठक के द्वारा लहेरियासराय थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

छात्र-छात्राओं के पोशाक और साइकिल वितरण के लिए 16 मार्च 2016 को चेक संख्या 506 के माध्यम से राशि दी गई। एक दिन बाद 17 मार्च को चेक जमा करा दिया गया और 18 मार्च को चेक क्लियरेंस हो गया।

आरोप है कि उक्त राशि को 31 सितंबर को चेक संख्या 411051 के माध्यम से लहेरियासराय पंजाब नेशनल बैंक के खाता संख्यां 2407002100010544 में ट्रांसफर कर दिया गया। यह खाता नारायण टूर एंड ट्रेवल्स का है, जिसके संचालक का नाम राजीव सिंह है। टूर एंड ट्रेवल्स के संचालक ने धीरे-धीरे सारे पैसे निकाल लिए। मामले की गंभीरता को देखते हुये दरभंगा जिलाधिकारी ने जांच टीम बना दी थी। एमएलसी सुनील कुमार सिंह ने भी इस मामले में शिक्षा मंत्री को पत्र लिखकर छात्रों के हक पैसे का गबन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी।

Check Also

सिकरोड़ी पुल की चह क्षतिग्रस्त, बड़े हादसे के इंतजार में प्रशासन आवागमन बाधित बढ़ी परेशानी

चकरनगर/इटावा (डॉ एस बी एस चौहान की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट) : पिछले 3 दिनों से जारी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *