Breaking News

बिहार :: नालंदा विवि के हटाये गए सुरक्षाकर्मियों ने गेट को किया घंटों जाम

राजगीर : नालंदा विश्वविद्यालय से हटाये गए सुरक्षाकर्मियों ने सोमवार को सीपीएम व सीटू नेताओं के नेतृत्व में सुरक्षाकर्मियों की वापसी व विवि कर्मी अनिल कुमार पर कार्रवाई की मांग को लेकर गेट के साथ छबिलापुर-राजगीर स्टेट हाइवे को जाम कर दिया। प्रदर्शन में शामिल सैंकड़ों महिलाओं व अन्य लोगों ने विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। इस दौरान छबिलापुर-राजगीर स्टेट हाइवे आधे घंटे तक जाम रही। विश्वविद्यालय का गेट 12 बजे से लेकर 2.30 मिनट बजे तक जाम रहा। इस दौरान प्रदर्शन कर रहे लोगों ने एक भी कर्मी व गाड़ी को अंदर व बाहर होने नहीं दिया। वहीं सुरक्षा के ख्याल से गेट पर बीडीओ राजीव रंजन कुमार, इंस्पेक्टर विजेन्द्र कुमार सिन्हा पर्याप्त मात्रा में पुलिस के बल, दंगा नियंत्रक बल के साथ तैनात थे। वे लोगों को लगातार समझाने का काम कर रहे थे। प्रदर्शन कर रहे हटाये गए सुरक्षाकर्मियों का नेतृत्व कर रहे सीपीएम के राष्ट्रीय कमेटी सदस्य सह पूर्व विधायक डॉ.गणेश शंकर विद्यार्थी ने कहा कि यहां के ये कर्मी कई सालों से यहां काम कर रहे थे। इनकी जमीन भी विवि में गयी है। सरकार व विवि प्रशासन जमीन जाने वाले लोगों के एक परिवार को रोजगार दे। वहीं विवि प्रशासन ने पहले से काम कर रहे सुरक्षाकर्मियों से रोजगार छीनने का काम किया है। उन्होंने कहा कि विवि प्रशासन पैसा लेकर दूसरे व बाहरी लोगों को बहाल करने का काम कर रहा है। यह काफी निदंनीय है। उन्होंने कहा कि विवि की कुलपति यहां से भाग गयी हैं। इससे आम जनता व सुरक्षाकर्मियों और धरना दे रहे लोगों में काफी आक्रोश है। सीपीएम के राज्य कमेटी सदस्य परमेश्वर प्रसाद ने कहा कि विवि प्रशासन ने पिछले पांच सालों से काम कर रहे 145 सुरक्षाकर्मियों को बिना किसी सूचना के हटा दिया। गैर कानूनी तरीके से हटाया। ये लोग रोजगार छीन जाने से सड़क पर आ गए हैं। इसके बाद भी अब तक कोई विवि प्रशासन ने पहल नहीं की है। वहीं विवि के कर्मी अनिल कुमार जिस पर 22 नवम्बर को महिला थाना में एक महिला कर्मी ने यौन उत्पीड़न का केस किया है। इसके बाद भी विवि प्रशासन उसे बचाने का काम कर रही है। पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर रही है। उस कर्मी को विवि प्रशासन तुरंत हटाये और सभी हटाये गए सुरक्षाकर्मी को काम पर वापस रखे। रोजगार देने की बजाय रोजगार छीनने का काम हो रहा है। इस प्रदर्शन में सीटू के राज्य कमेटी सदस्य अरुण कुमार मिश्रा, राज्य सचिव शंकर शाह, किसान नेता सुरेन्द्र प्रसाद यादव, सीपीएम के राज्य कमेटी सदस्य परमेश्वर प्रसाद, राजकिशोर प्रसाद, रविन्द्र सिंह सहित अन्य मौजूद थे। विवि की ओर से कम्यूनिकेशन ऑफ डायरेक्टर सुमंत पारांजी व प्रोफेसर चन्द्रपाणि ने प्रदर्शन कर रहे लोगों से मिला और उन्हें कहा कि मंगलवार को बात होगी। इसका समाधान निकाला जायेगा। विवि के कम्यूनिकेशन ऑफ डायरेक्टर सुमंत पारांजी ने कहा कि 30 नवम्बर को धरना दे रहे लोगों के सदस्यों से बात हुई थी। उस दिन ओरियन कंपनी के लोग नहीं थे। इस कारण बात नहीं हो सकी। मंगलवार को एसडीओ कार्यालय में एसडीओ के सामने धरना दे रहे सुरक्षाकर्मियों के प्रतिनिधि मंडल, विवि प्रशासन के लोग, नये टेंडर वाली कंपनी के लोग उसमें शामिल होंगे और सभी बातों का निपटारा होगा।

Check Also

योगीता फाउंडेशन :: मन, वचन व कर्म में समानता रखने वाले गांधी व शास्त्री ने आत्मनिर्भर समाज का देखा था सपना- मनोज शर्मा

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जीवन दर्शन एवं …

Leave a Reply

Your email address will not be published.