Breaking News

बिहार :: पटना पहुंचने का नया लक्ष्य पांच घंटा –नीतीश कुमार।

गया/अजय कुमार:-अब बिहार के किसी कोने से पटना पहुँचने का नया लक्ष्य पांच घण्टे का है। पहले यह लक्ष्य 6 घंटे का था। इसे लगभग पूरा कर लिया गया है। बिहार में सड़कों का निर्माण तेज गति में चल रहा है।मुख्यमंत्री बुधवार को गया में पूर्व सीएम जीतन राम मांझी के पैतृक गांव महकार में 15 करोड़ 54 लाख 37 हजार की विभिन्न योजनाओं का लोकार्पण कर रहे थे। सीएम ने कहा कि शराबबंदी के बाद अब बाल विवाह और दहेज उन्मूलन के लिये संकल्प लेने का समय है। इस साल के अंत तक ऐसी कोई बसावट नहीं होगी जहां तक बिजली नहीं पहुंच जाए।अगले साल तक कोई ऐसा घर नहीं बचेगा जहां मांगने पर बिजली न मिले। इस मौके पर सीएम ने मकहार को ब्लॉक बनाये जाने का भरोसा भी दिलाया। साथ ही महकार में विद्युत सबस्टेशन बनाये जाने की घोषणा भी की। दरअसल पूर्व सीएम ने अपने संबोधन में इसकी मांग की थी। कहा था कि जब वे सीएम थे तो उन्होंने नोटिफिकेशन किया था। बाद में इसे रोक दिया गया।
बापू के सपनों को साकार करने की कोशिश
मुख्यमंत्री ने कहा कि वे बापू के सपनों को साकार करने की कोशिश कर रहे हैं। गांधी जी ने चम्पारण में 6 स्कूल खोले थे। जो पढ़ेगा नहीं वो आगे बढ़ेगा नहीं।
कृषि रोड मैप की शुरुआत के लिये राष्ट्रपति से अनुरोध
सीएम ने बताया कि नया कृषि रोड मैप तैयार है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से इसकी शुरुआत करने का अनुरोध किया है। आज भी 76 फीसदी आदमी कृषि कार्यों पर निर्भर हैं। जबतक कृषि का विकास नहीं होगा बिहार का विकास नहीं होगा। सीएम ने कहा कि शराबबंदी के बाद बाल विवाह और दहेज उन्मूलन अभियान से समाज सुधार की नींव पड़ी है।
बिहार में 39 फीसदी बाल विवाह
सीएम ने कहा कि आज भी बिहार में 39 फीसदी बाल विवाह होते हैं। बिहार महिलाओं पर अत्याचार के मामले में देश में 26वें नम्बर पर है लेकिन दहेज हत्या में इसका दूसरा नम्बर है। इसके खिलाफ अभियान चलाने की जरुरत है।वही पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने अपने संबोधन सीएम नीतीश कुमार की जमकर तारीफ की। कहा कि आप ने ही मुझे मुख्यमंत्री बनाया और काम करने की आजादी दी। यही कारण है कि मैंने महकार ही नहीं राज्य में विकास किया। यह आपकी कृपा है। आज के दिन मैं यह कामना करता हूं कि आप दीर्घायु हों। जीतन राम मांझी ने महकार में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टरों की प्रतिनियुक्ति का अनुरोध किया। अगर अच्छे डॉक्टर रहेंगे तो यहाँ 1000 से ज्यादा मरीज आएंगे।उन्होंने मकहार के आस पास के गांवो में संपर्क पथ बनाये जाने की मांग रखी। मांझी ने गया में पुलिस व्यवस्था पर सवाल उठाये। कहा कि पुलिस की लापरवाही से हत्या हो जा रही है।वही इन पांचों भवनों के निर्माण पर कुल 15 करोड़ 54 लाख 37 हजार रुपए खर्च किए गए हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार गांव में निर्मित आईटीआई भवन के निर्माण पर आठ करोड़ 37 लाख, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भवन के निर्माण पर 5 करोड़ 77 लाख, प्रथम वर्गीय पषु स्वास्थ्य केंद्र भवन के निर्माण पर 56 लाख 54 हजार, सामुदायिक भवन के निर्माण पर 32 लाख 71 हजार तथा तालाब-सीढ़ी के निर्माण व उसके सौन्दर्यीकरण पर 51 लाख 12 हजार रुपए खर्च किए गए हैं। इन सभी योजनाओं को बुधवार को मुख्यमंत्री ने जनता को सौंप दिया। इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी, पशुपालन एवं मत्स्य पालन मंत्री पशुपति कुमार पारस, कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार, शिक्षा व विधि मंत्री सह गया जिला के प्रभारी मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा, गया के सांसद हरि मांझी, जहानाबाद सांसद अरुण कुमार, टिकारी विधायक अभय कुषवाहा, गुरुआ विधायक राजीव नंदन दांगी सहित सैंकड़ों की संख्या में लोग उपस्थित थे।

Check Also

प्रखंडों में टीएचआर वितरण में गड़बड़ी पाई गई तो नपेंगे बाल विकास परियोजना पदाधिकारी – डीएम दरभंगा

डेस्क : दरभंगा समाहरणालय अवस्थित अम्बेडकर सभागार में जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम. की अध्यक्षता में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *