Breaking News

बिहार :: पुलिसिया दमन और उत्पीड़न के खिलाफ आइसा ने फूंका पीएम का पुतला

बेगूसराय : बुधवार को आइसा से जुड़े छात्रों ने नजीब अहमद को न्याय दिलाने की मांग कर रही नजीब की मां पर पुलिसिया दमन के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पुतला फूंका। छात्रों का जत्था आइसा जिला कार्यालय से निकल कर केन्द्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए ट्रैफिक चैक पहुंच प्रधानमंत्री का पुतला जलाया। मौके पर आइसा नेता वतन कुमार ने कहा कि जेएनयू के छात्र नजीब अहमद के लापता हुए एक साल होने को है। मामला सीबीआई के हाथों में है लेकिन हैरत की बात है कि देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी की हाथ कुछ भी नहीं लगा है। एक मां अपने बेटे की तलाश में दर-दर की ठोकर खा रही है लेकिन बीते दिन दिल्ली हाईकोर्ट के बाहर जब तक नजीब के पता नहीं चलने पर नजीब की मां और आइसा नेताओं द्वारा हो रहे प्रदर्शन के दौरान मोदी सरकार की संवेदनहीन पुलिस ने जिस प्रकार उनके साथ बदसलुकी की, उन्हें जमीन पर घसीटते हुए गिरफ्तार कर लिया जिससे सरकार का दमनकारी चेहरा उजागर होता है। मौके पर छात्र नेता अभिषेक आनंद ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने अभी तक नजीब के गायब होने से पहले उनके साथ मारपीट करने वाले विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार नहीं किया गया है। इससे पता चलता है कि सरकार नजीब के गुनहगार विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं को बचाना चाहती है। मौके पर राजीव कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री कैसा डिजिटल इंडिया बना रहे हैं जहां सालों से गायब एक छात्र को भी नहीं ढूंढ सकती। वहीं दूसरी तरफ झारखंड के सिमडेगा जिले में आधार कार्ड न होने की वजह से कई दिनों से एक गरीब परिवार को राशन नहीं दिया जा रहा था जिससे भूख की वजह से एक ग्यारह साल की मासूम बच्ची शासन की नीतियों के पचड़े की वजह से भूख से मर गई। आइसा मांग करती है कि नजीब अहमद के साथ मारपीट करने वाले लोगों को गिरफ्तार करे। नजीब के परिवारों पर पुलिसिया उत्पीड़न बंद करे व झारखंड में भूख से मारी गई बच्ची के गुनहगारों को कठोर सजा दी जाये। मौके पर छात्र नेता अविनाश कुमार, रौशन कुमार, प्रतीक कुमार, अंकुश, अंकित, मोनू, राजा सहित माले नेता राजेश श्रीवास्तव उपस्थित थे।

Check Also

डॉ मशकूर उस्मानी ने निभाया वादा, अंजली बिटिया की पढ़ाई शुरू जाने लगी कांवेंट स्कूल

डेस्क : बीते माह जाले के ब्राह्मण टोली में रहने वाली चंचल झा नाम की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *