Breaking News

बिहार :: बीएलओ को महंगी पड़ी लापरवाही, डीएम ने एफआईआर दर्ज करने का दिया आदेश।

बिहार :: गया-बेलागंज।सात निश्चय योजना में हर घर शौचालय निर्माण महत्वपूर्ण निश्चय है जो किसी व्यक्ति की गरिमा एवं सम्मान से जुडा है। इस योजना को सरकारी योजना की तरह ना लेकर व्यवहार परिवर्त्तन के रूप में लोगों को शौचालय निर्माण हेतु प्रेरित करें। आज के आधुनिक युग में व्यवहार में परिवर्त्तन जरूरी है। शौचालय निर्माण को अभियान के अंतर्गत क्रांति का स्वरूप देते हुए क्रियान्वित करायें ।जिलाधिकारी कुमार रवि ने बेलागंज प्रखंड परिसर स्थित ट्राईसेम भवन में बुधवार को आयोजित समीक्षा बैठक में लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान, सात निश्चय, संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम एवं अन्य योजनाओं की प्रखंड स्तरीय समीक्षा में संबोधित करते हुए यह बातें कही। जिलाधिकारी ने कहा कि बेलागंज काफी समृद्ध प्रखंड है और गया पटना मार्ग पर होने के कारण जिला प्रशासन के लिए विशेष महत्वपूर्ण है। 26 जनवरी 2018 को बेलागंज प्रखंड को पूर्ण रूप मे खुले में शौच मुक्त प्रखंड के रूप में घोषित करना है।प्रखंड स्तरीय पर्यवेक्षको से समीक्षा में प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी बेलागंज द्वारा पूछे जाने पर स्पष्ट जबाब नहीं देने के कारण स्पष्टीकरण पूछने का निर्देश दिया गया । वहीं कोरमथु के इंदिरा आवास पर्यवेक्षक संतोषजनक उत्तर नहीं दिये जाने पर फटकार लगायी गई उनसे भी स्पष्टीकरण पूछने को कहा।जिलाधिकारी ने कहा यूनिसेफ की टीम भी शौचालय निर्माण में सहयोग कर रही है। उप विकास आयुक्त ने कहा कि सब मिलकर काम करेगे तो बेलागंज प्रखंड जल्द से जल्द ओडीएफ होगा।प्राप्त आवेदन की संख्या के आधार पर मतदान केन्द्र संख्या 5, 27, 44, 45, 54, 62, 63, 78 के बीएलओ को फटकार लगायी गई । चेतावनी दी गई कि यदि वे कार्य नहीं करेगें तो उनके दो वेतनवृद्धि रोकने के साथ साथ वेतन कटौती की जायेगी। वहीं बीएलओ को निर्धारित मानदेय का भी भुगतान नहीं किया जायेगा। कुल मतदाता का तीन प्रतिशत से कम नाम जोडने पर कारवाई की चेतावनी दी गई। वहीं मतदान केन्द्र संख्या 25, 70 एवं 74 के शून्य उपलब्धि एवं अनुपस्थित रहने पर इन मतदान केन्द्रों के बीएलओ के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश जिलाधिकारी ने दिया। आज की बैठक में अनुपस्थित रहने पर बाल विकास परियोजना पदाधिकारी एवं सांख्यिकी पर्यवेक्षक से स्पष्टीकरण पूछने हुए वेतन रोकने का आदेश दिया गया। वहीं प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी द्वारा बराबर अनुपस्थित रहने की शिकायत पर प्रपत्र क में कारवाई का निदेश दिया गया।इस बैठक में उप विकास आयुक्त राघवेन्द्र सिंह, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचल निरीक्षक, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, प्रखंड स्तरीय पदाधिकारीगण, सभी मुखिया, पंचायत सचिव, बीएलओ, प्रखंड समंवयक, टोला सेवक, विकास मित्र, इदिरा आवास पर्यवेक्षक एवं सहायक, मोटिवेटर, आंगनबाडी सेविका सहित पंचायत स्तरीय कर्मी एवं अन्य उपस्थित थे।

Check Also

WIT दरभंगा बने देश का पहला महिला आईआईटी, वैज्ञानिक डॉ. मानस बिहारी वर्मा को दें सच्ची श्रद्धाजंलि – पुष्पम प्रिया चौधरी

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट : डब्ल्यूआईटी को देश का पहला महिला आईआईटी के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *