Breaking News

बिहार :: बुजुर्गो को पेंशन के इंतजार मे पथरा गई आंखें, डेढ़ वर्षों से नही मिला पेंशन

नालंदा/नगरनौसा (कुमार सौरभ):  बुजुर्गों को बुढ़ापा अवस्था में सहारा देने के उद्देश्य से सरकार द्वारा चलाई गई वृद्धापेंशन जैसी कल्याणकारी योजना नौकरशाहों के लापरवाही का भेंट चढ़ता नजर आ रहा है। जब सरकार ने बुजुर्गों को सहारा देने के उद्देश्य से वृद्धापेंशन जैसी योजना लागू की थी तो ऐसा लगा था कि मानो अब बुजुर्गों को अपनी औलाद का तिरस्कार नहीं झेलना पड़ेगा। सरकार उन बुजुर्गों के लिए एक मजबूत लाठी का सहारा पेंशन के रूप में दी थी लेकिन सरकार के अन्य योजनाओं की तरह यह भी नौकरशाहों की लापरवाही का भेंट चढ़ गया। जिसके परिणाम स्वरुप लगभग डेढ़ साल से बुजुर्गो को पेंशन नही मिल पाया है। इस बीच कई पर्व-त्यौहार आए और चले गए बुजुर्गों की बुझती आंखें पेंशन का इंतजार ही करते रह गई। इतना ही नहीं कई बुजुर्ग तो किसी तरह यह उम्मीद लेकर साहेब के कार्यालय तक का चक्कर काटते रहे ताकि वहां से कोई सुनवाई हो सके। मुखिया जी के दरवाजे पर भी बुजुर्ग इसी उम्मीद से दस्तक देते है कि मुखिया जी कुछ करेंगे और हमें पेंशन दिलाएंगें लेकिन विभागीय दांव पेंच में यह मामला इस तरह से उलझा रहा कि बेचारे बुजुर्गों का पेंशन रूपी सहारा भी उनसे दूर होता चला गया। कुछ ऐसा ही समस्या परेशान नगरनौसा प्रखंड के सैकड़ो पेंशनलाभार्थी प्रतिदिन प्रखंड कार्यालय से लेकर आरटीपीएस का चक्कर लगा रहे है। विदित हो कि अबतक प्रखंड के ऐसे पांच सौ से अधिक पेेंशन लाभार्थी जिन्हे इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विधवा पेंशन, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय निःशक्तता पेंशन, लक्ष्मीबाई समाजिक सुरक्षा पेंशन, बिहार निःशक्तता पेंशन के तहत मिल रहे पेंशन की राशि बिगत डेढ़ साल से बंद है। जिससे पेंशनलभार्थी के साथ एक बहुत बड़ी समस्या उत्पन्न हो गया है। पेंशनलाभार्थी दाने-दाने के लिए मुहताज हो रहे है। पेंशनधारी लक्ष्मण मांझी, सम्पतिया देवी, सुनैना देवी, जयसमतिया देवी, लखपतिया देवी, कुलदीप मांझी, सीता देवी, सरोज देवी, शुभ्या देवी, पनमा देवी सहित दर्जनों पेंशन लाभार्थीयों ने बताया कि जब से सरकार द्वारा सभी पेेंशन लाभार्थी को बैंक खाता द्वारा पेंशन राशि देने की घोषणा की कई जव से पेंशन की राशि नही मिला है। जिससे खाने के साथ जीवनयापन के लिए जरूरी सामग्री के लिए पाई-पाई, दाने-दाने के लिए मोहताज हो गए है। करीब डेढ़ वर्ष पूर्व सभी लोगो से बैंक खाता,आधार कार्ड ,पेंशन स्वीकृति पत्र लिया लिया गया कुछ महीना पूर्व पुन्ह जरूरी दस्तावेज लिया गया परन्तु बिगत डेढ़ वर्ष बीत जाने के पश्चात भी अबतक बैंक खाते में पेंशन की राशि नही आया। कुछ लोगों का आया भी तो वो भी आये हुए महीनो से ज्यादा समय हो गया बाकी शेष पेंशनधारी को अब तक पेंशन की राशि खाते में नही आई है। प्रखंड विकास पदाधिकारी अरविंद कुमार सिंह ने बताया कि पेंशनलभार्थी को अब सीधे खाता में पैसा जाता है। ब्लॉक का इसमें कोई रोल नही है। जिन लोगो को अब तक पेंशन की राशि नही मिली है वे आरटीपीएस काउंटर पर जाकर अपना पेंशन से सम्बंधित जांच करा लें।

Check Also

योगीता फाउंडेशन :: मन, वचन व कर्म में समानता रखने वाले गांधी व शास्त्री ने आत्मनिर्भर समाज का देखा था सपना- मनोज शर्मा

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जीवन दर्शन एवं …

Leave a Reply

Your email address will not be published.