Breaking News

बिहार :: मुंगेर पुल को ले फ्रेंड्स ऑफ आनंद के कार्यकर्ताओं का आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन

बेगूसराय-आरिफ हुसैन, संवाददाता: मुंगेर पुल के एप्रोच पथ में हो रहे अनावश्यक विलंब से आक्रोशित होकर फ्रेंड्स ऑफ आनंद के कार्यकर्ताओं ने मुंगेर पुल के पास स्थानीय लोगों के साथ मिलकर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन किया। इस मौके पर समाजसेवी कौशल किशोर सिंह की अध्यक्षता में एक सभा हुई। सभा को संबोधित करते हुए फ्रेंड्स ऑफ आनंद के जिलाध्यक्ष प्रदीप क्षत्रिय ने कहा कि मुंगेर पुल में एप्रोच पथ के नहीं बनने के कारण बेगूसराय खगड़िया और मुंगेर तीनों जिले की जनता परेशान हो रही है। मुंगेर और बेगूसराय में बेटी-रोटी का रिश्ता है। हजारों लोग प्रतिदिन बेगूसराय से मुंगेर जरूरी कार्य से आना जाना करते हैं। एक छोटी सी डीएमयू सवारी गाड़ी पर भेड़-बकरी की तरह लादकर यात्रा करने को बेगूसराय मुंगेर के यात्री विवश हैं। सरकार को जनता की परेशानी से कोई सरोकार नहीं। केंद्र और राज्य में एक ही गठबंधन की सरकार है। मुख्यमंत्री कहते हैं कि विकास का डबल इंजन लग गया तो फिर क्यों मुंगेर सड़क पुल के एप्रोच पथ के बनने में अनावश्यक विलंब हो रहा है कहीं ना कहीं केंद्र और राज्य सरकार की लापरवाही इसमें परिलक्षित होती है। जान-बूझकर सड़क निर्माण के लिए ऐसी जमीन का चयन किया गया है जिसमें लोगों का आवास है जबकि सरकार के पास कई अधिग्रहित जमीन पहले से बेकार पड़ी हुई है। हमारा संगठन यथाशीघ्र सड़क निर्माण कार्य शुरू करने की मांग करता है। अन्यथा हमारा संगठन स्थानीय किसानों के साथ मिलकर चरणबद्ध उग्र आंदोलन को मजबूर होगा। सभा को संबोधित करते हुए फ्रेंड्स ऑफ आनंद के संयोजक रमन शार्दूल ने कहा कि पुल को बनाने में जिन जमीनों का अधिग्रहण सरकार के द्वारा किया गया उनके मुआवजे का भुगतान सही ढ़ंग से नहीं हुआ है। कार्यालयों का चक्कर लगा के लोग परेशान हो चुके हैं। भू-विस्थापित युवाओं को रेल में नौकरी का सब्जबाग दिखाया गया, बावजूद इसके युवाओं के साथ नौकरी के नाम पर सिर्फ टालमटोल किया जा रहा है। हमारा संगठन जन समस्याओं के प्रति गंभीर दृष्टिकोण रखता है। किसानों और युवाओं की हकमारी नाकाबिले बर्दाश्त है। हमारा संगठन केंद्र और राज्य सरकार से मांग करता है कि यथाशीघ्र किसानों के मुआवजे का उचित दर से भुगतान हो, भू-विस्थापित युवाओं को रेलवे में नौकरी मिले, सड़क पुल के एप्रोच पथ का निर्माण जितनी जल्दी हो सके शुरू किया जाए अन्यथा भू-विस्थापित लोग हमारे संगठन के साथ मिलकर सड़क पर उतरकर आंदोलन करने को मजबूर होंगे। सभा का संचालन किशन कुमार ने किया। मौके पर शंभू यादव, मोनू कुमार, धनंजय कुमार, बंटी कुमार, सौरभ मिश्रा, प्रियांशु कुमार, चुनचुन राम, मो. जाबिर, मो. अब्बास, दिनेश सिंह, तारणी सिंह के साथ दर्जनों कार्यकर्ताओं और ग्रामीणों ने मुंगेर सड़क पुल में एप्रोच पथ के निर्माण के लिए अपनी आवाज को बुलंद किया और राज्य और केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की

Check Also

आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एक दिवसीय कार्यशाला दरभंगा डीएमसीएच ऑडिटोरियम में आयोजित

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट : स्वास्थ्य विभाग, बिहार सरकार द्वारा निर्गत पत्र के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *