Breaking News

बिहार :: मुस्लिम मोर्चा शुद्ध एकता परिषद का सम्मेलन 26 को

बिहारशरीफ। संविधान दिवस के अवसर पर पहली बार अल्पसंख्यक समाज के तरफ से आगामी 26 नवंबर को पटना के श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल गांधी मैदान में यूनाइटेड मुस्लिम मोर्चा शुद्ध एकता परिषद के तत्वावधान में एक सम्मेलन का आयोजन किया गया है और यह भारत का पहला ऐसा ऐतिहासिक सम्मेलन होगा जिसे अल्पसंख्यकों के द्वारा आयोजित किया जा रहा है। इस मौके पर पूर्व राज्यसभा सांसद डॉ एजाज अली ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि आजादी के 70 सालों बाद भी देश आज भुखमरी महंगाई बेरोजगारी एवं भ्रष्टाचार की मार झेल रहा है जिसका मुख्य कारण कम्युनल पॉलिटिक्स है जो देश की राष्ट्रीय राजनीति पर हमेशा हावी रहने का काम किया है। बिजली-सड़क-पानी एवं गांव की बदहाली को केंद्र मानकर अगर कॉमन पॉलिटिक्स की गई होती तो शायद देश आज विकसित देशों की कतार में खड़ा होता। नोटबंदी शराबबंदी एवं जीएसटी जैसा कदम उठाकर देश की सियासत को नई दिशा देने की कोशिश हो रही है जो सराहनीय है लेकिन इसके पहले तो मंदिर मस्जिद हिंदू मुसलमान हिंदुस्तान पाकिस्तान के अलावा पिछले सियासतदानों को भी तो कुछ सोचता ही नहीं था। अभी भी देश की कंट्टरपंथी शक्तियां राजनीति की दिशा को लौटकर उनके धार्मिक द्वेष की तरफ से ले जाने की कोशिश में लगी हुई है ताकि दंगा भड़का और धार्मिक ध्रुवीकरण द्वारा आसानी से वोट की राजनीति करने में उन्हें कामयाबी मिल सके । इस सम्मेलन के माध्यम से हम सरकार के ऊपर दबाव डालने का काम करेंगे ताकि राज्य सरकार और केंद्र सरकार नोटबंदी एवं शराबबंदी की तरह दंगाबंदी कानून का भी सख्ती से लागू कर सके ।इसके लिए कोई भी संविधान बनाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। राज्य सरकार और केंद्र सरकार अगर चाहे तो इसको खुद ही लागू कर सकती है । उन्होंने कहा कि कम्युनल पॉलिटिक्स पर जब इस तरह की कानूनी प्रतिबंध लगेगा तभी हर सियासी दल कॉमन पॉलिटिक्स की तरफ ध्यान देगा ताकि देश से भूख मरी महंगाई बेरोजगारी भ्रष्टाचार दूर होने के साथ बिजली-सड़क-पानी एवं गांव की मूलभूत समस्याओं का निराकरण हो और दंगा मुक्त भारत नंगा मुक्त भारत का निर्माण हो सके।इसलिए उन्होंने आज इस प्रेस वार्ता के माध्यम से लोगों को दावत देने का काम किया था कि आगामी होने वाले सम्मेलन में बड़ी से बड़ी संख्या में भाग ले । इस मौके पर कई स्थानीय जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

Check Also

DMCH डाटा इंट्री कर्मचारियों को 4 माह से वेतन भुगतान नहीं, अस्पताल प्रबंधन की संवेदनहीनता – C.I.T.U.

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट : दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल के विभिन्न वार्डों, रजिस्ट्रेशन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *