Breaking News

बिहार :: रेल क्षेत्र में पुलिस की पहल से अपराधियो में हड़कम्प

गढ़हरा (बेगूसराय)/संवाददाता: लगातर बरौनी रेल क्षेत्र और गढ़हरा थाना के इलाके में पुलिस की पहल से अपराधी प्रवृति के लोगों में हड़कम्प मची है। देर रात इलाके में चहलकदमी करने वालों व संदिग्ध लोगों के खिलाफ नकेल कसी गयी है। संदिग्ध बाइकर्स पर पुलिस की पैनी नजर है। पुलिस पूरी जांच पड़ताल कर रही है। रेलवे गार्ड अभिकान्त कुमार के साथ ड्यूटी के दौरान गढ़हरा में ही उसके ब्रेक भान में प्रवेश कर सशस्त्र नकाबपोश अपराधियों द्वारा जानलेवा हमला कर लूटपाट करने के मामले से रेलकर्मी सहमें हुए हैं। इस घटना के करीब एक पखबारे बीतने के बाबजूद अपराधी पुलिस के पकड़ से बाहर है। इससे पूर्व तीन चार छिनतई की घटना के बाद इससे जुड़े अपराधी को दबोचने में पुलिस को सफलता मिली। करीब चार साल बाद फिर गढ़हरा-बरौनी मुख्य रेल सड़क सहित आसपास के कालोनी क्षेत्रों में लूटपात होने से रेलकर्मी सहमे है। कई मामलों में रेल थाना और सिविल थाना के विवाद में समस्या गंभीर हो जाता है। गार्ड अभिकान्त कुमार के साथ हुई घटना में भी करीब एक घंटा हाई बोल्टेज ड्रामा हुआ था। गढ़हरा थाना अध्यक्ष अमित कुमार ने कहा कि यह मामला रेल क्षेत्र से जुड़ा है तो वहीं जीआरपी बरौनी में एफआईआर होना चाहिए। उधर जीआरपी निरीक्षक ने भी इस तरह का ही नसीहत दे डाली थी। इससे आक्रोशित रेल यूनियन के स्थानीय अधिकारियों के पहल पर कर्मियों ने काम का बहिष्कार कर दिया था। बाद में रेल अधिकारियों के आश्वासन से मामला शांत हुआ था। कई पीड़ित ने बताया कि अपराधी उतना उत्तेजित हो जाते हैं अगर पीड़ित के पास से कम रुपये व कीमती सामान नहीं होते हैं तो खूब पिटाई भी करता है। लोगों का कहना है कि पुलिस चैकस रहती तो इस तरह की घटना नहीं होती। रेल यूनियन से जुड़े एनके मेहता, मनोज कुमार सिंह, एनके सिंह, प्रीतम दत्ता, प्रवीण कुमार सिंह, मुरारी कुमार, विजय कुमार साह आदि ने मुख्य सड़कों पर 24 घण्टे पुलिस गस्ती की मांग किया। विदित हो कि रेलवे यार्ड से पेट्रोलियम पदार्थों की चोरी, शराब का होम डिलेवरी, जुआ सट्टे की अवैध कारोबार के जड़ में यह आपराधिक बढ़ रही थी।

Check Also

योगीता फाउंडेशन :: मन, वचन व कर्म में समानता रखने वाले गांधी व शास्त्री ने आत्मनिर्भर समाज का देखा था सपना- मनोज शर्मा

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जीवन दर्शन एवं …

Leave a Reply

Your email address will not be published.