Breaking News

बिहार :: विष्णुपद मंदिर में अक्षयनवमी पर उमड़े श्रद्धालु,सुरक्षा के कडे प्रबंन्ध।

गया।कार्तिक शुक्ल पक्ष की नवमी पर प्रमुख मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ रही। सबसे ज्यादा भीड़ विष्णुपद मंदिर में रही। अक्षय नवमी रविवार की सुबह भक्तों ने मंदिर के गर्भगृह में भगवान विष्णु के चरणचिह्न के दर्शन कर आराधना की। फल-फूल के अलावा मुख्य रूप से आंवला का व तुलसी का माला विष्णुपद को अर्पित किया। सुबह से शाम तक श्रद्धालुओं ने तुलसी अर्चना की। हजारो श्रद्धालुओं ने पूजा-अर्चना की। भीड़ को लेकर साफ-सफाई व सुरक्षा की विशेष व्यवस्था की गई थी। विष्णुपद मंदिर के अलावा मां मंगलागौरी मंदिर, बगला स्थान, बागेश्वरी मंदिर में भी श्रद्धालुओं ने मत्था टेक मंगल कामना की।वही हिंदू धर्म के पवित्र कार्तिक माह में आने वाली शुक्ल पक्ष की नवमी को अक्षय नवमी कहते हैं. दिवाली के लगभग 10 दिनों बाद और कार्तिक मास में होने वाली इस पूजा को आंवला नवमी भी कहते हैं।कार्तिक मास में वैसे तो स्नान का अपना ही महत्व होता है, लेकिन इस दिन स्नान करने से अक्षय प्राप्त होता है।हिंदू रीति रिवाज में इस दिन शादी-शुदा महिलाएं व्रत रखती हैं और कथा भी सुनती हैं. इस साल हिंदू पंचांग के अनुसार 29 अक्टूबर यानि आज रविवार को ये पूजा होगी।इस दिन स्नान, पूजन, तर्पण तथा अन्न दान करने से हर मनोकामना पूरी होती है।अक्षय नवमी के दिन आंवले के वृक्ष की पूजा करने का नियम है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार आंवले का वृक्ष भगवान विष्णु को अतिप्रिय है, क्योंकि इसमें लक्ष्मी का वास होता है।इसलिए इसकी पूजा को ऐसा माना जाता है कि मानो विष्णु-लक्ष्मी की पूजा करना।इस दिन व्रत करने से शादीशुदा औरतों की सभी मनोकामना पूरी होती है।आंवला नवमी के दिन सुबह स्नान कर दाहिने हाथ में जल, चावल, फूल आदि लेकर निम्न प्रकार से व्रत का संकल्प करें. नवमी के दिन आंवला वृक्ष के नीचे भोजन बनाकर खाने का विशेष महत्व है।यदि आंवला वृक्ष के नीचे भोजन बनाने में असुविधा हो तो घर में भोजन बनाकर आंवला के वृक्ष के नीचे जाकर पूजन करने के बाद भोजन करना चाहिए।भोजन में सुविधानुसार खीर, पूड़ी या मिष्ठान्न हो सकता है

Check Also

एके-47 के साथ कुख्यात मुन्ना मिश्रा को बिहार एसटीएफ ने दबोचा, 8 साल से फरार दिलीप मिश्रा उर्फ मुन्ना 50 हजार का इनामी

डेस्क : 50 हजार का इनामी कुख्‍यात मुन्‍ना मिश्रा को यूपी के बलिया से बिहार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *