Breaking News

बिहार :: व्यवसायियों ने निकाला विरोध मार्च, प्रशासन के प्रति जताई नाराजगी

गौरव कुमार-बखरी (बेगूसराय)/संवाददाताः शुक्रवार को व्यवसायियों ने अतिक्रमण हटाओ अभियान के विरोध में फलेग मार्च निकालकर विरोध जताया। अम्बेदकर चौक पर एकत्रित हुए सभी व्यवसायियों ने प्रशासन के इस मुहिम के विरूद्ध मे काला बिल्ला लगाकर विरोध जताया। ये लोग सम्पूर्ण बाजार का भ्रमण करते हुए अनुमंडल कार्यालय तक पहुंचे जहां सभा में तब्दील हो गयी। विकास बर्मा ने कहा कि प्रशासन का यह कदम विधि सम्मत नहीं है। बाजार में रेडी, ठेला और वाहनों का प्रवेश अतिक्रमण का कारण है। इन पर अंकुश लगाने में विफल प्रशासन दुकानदारों के प्रतिष्ठानों में तोड़फोड़ कर रहे हैं। सरकारी भूमि की पहले मापी करायी जाय। यदि किसी के द्वारा अतिक्रमण किया गया है तो उसे भूमि खाली करने के लिए नोटिस दिया जाए सरकारी आदेश का अनुपालन नहीं करने बाले व्यक्ति के खिलाफ विधि सम्मत कार्रवाई किया जाय। किन्तु प्रशासन ने नियम को वगैर पूरा किये जो मनमाना कार्य किया है उसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। राजेश अग्रवाल ने कहा कि वह अतिक्रमण हटाओ अभियान के विरुद्ध नहीं है। लेकिन यह विधि के अनुरूप होना चाहिए। प्रशासन ने जिस तरह से बाजार में बुलडोजर चलाया है वह व्यवसायियों पर अत्याचार है। व्यवसायी इसके विरुद्ध अपना संघर्ष जारी रखेगा। अन्त में व्यवसायियां ने सड़क पर गड़े बिजली के खंभे, ट्रांसफार्मर को हटाने, सब्जी बिक्रेता, ठेला, रेडी पर दुकान चलाने वाले दुकानदारों के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करने सहित पांच सूत्री मांगों का एक ज्ञापन अनुमंडल कार्यालय में मौजूद कर्मी को दिया। इधर गुरुवार की रात व्यवसायियों की एक बैठक पुरानी दुर्गा मंदिर परिसर में संपन्न हुई। जिसमें प्रशासन के इस अभियान के खिलाफ संघर्ष की रणनीति बनाई गई। जिसमें एक समिति का भी गठन किया गया। जिसका संयोजक अजय साहू को बनाया गया है। विरोध मार्च में राजा बाबू केशरी, दिलीप चौधरी, चंद्र भूषण पोद्दार, महफुज साफी, अरूण चौहान, पवन केशरी, जयदेव सान्याल, रामदयाल केसरी, नंद किशोर साह, गणेश कुमार, मनीष केशरी सहित दर्जनों व्यवसायी शामिल थे।

Check Also

दो दिवसीय किसान मेला का आज हुआ समापन

दरभंगा, सुरेन्द्र चौपाल :- संयुक्त कृषि भवन, बहादुरपुर के प्रांगण में दो दिवसीय किसान मेला …

Leave a Reply

Your email address will not be published.