Breaking News

बिहार :: शोभा की वस्तु बन कर रह गई दक्षिणवारी मठिया का ट्रांसफॉर्मर

शहर तेलपा प्रतिनिधि : काफी भाग दौड़ के बाद मुख्यालय स्थित दक्षिणवारी मठिया में ट्रांसफॉर्मर आया भी तो एक शोभा के रूप में बस देखने के लिए काफी है। इस गाँव के कुछ लोगो ने बताया कि इस गाँव की जनसंख्या लभगभ 1000 से अधिक है। प्रखंड मुख्यालय के काफी करीब होने के बाद भी यहाँ आज तक बिजली नहीं आई थी। जब जब चुनाव आता था सभी लोग चुनाव बाद बिजली पहुँचाने की बात कहा करते थे। लेकिन चुनाव जीतने के बाद ऐसे भूल जाते थे मानो उनके क्षेत्र में दक्षिणवारी मठिया गाँव है हीं नहीं। आश्वासन की घुटी पीते पीते अंततः हमलोग पिछले कई माह से विभाग का चक्कर लगाते रहे। लेकिन कोई सुनने वाला नही। एक ग्रामीण ने नाम नहीं छापने के शर्त पर बताया कि हम गाँव के लोग आपस पैसे इकट्ठा कर एक व्यक्ति को 25000 रूपये दिए तो ट्राँसफॉर्मर मिले अब 15 दिन होने को है। जो गाँव के निकट स्थित नहर पर जमीन पर रखा है। क्योंकि जबतक तार और पोल नहीं उपलब्ध होंगे तब तक ट्राँसफॉर्मर युँ हीं जमीन पर पड़ा रहेगा। ग्रामीणों ने बताया कि तार पोल के लिए विभागीय कार्यालय का चक्कर लगा रहा हुँ लेकिन कोई सुनने वाला नही। ग्रामीणों ने जिला पदाधिकारी से तार एवं पोल की व्यवस्था करने की मांग की है ताकि इस गांव को बिजली मिले बिजली नहीं रहने से बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित हो रही है। ग्रामीणों ने बताया कि यदि गाँव में बिजली उपलब्ध हो जाती तो जिस जमीन पर फसल नही लगते है उस जमीन पर हमलोग सब्जियाँ उगा बेच भी सकते थे।

Check Also

योगीता फाउंडेशन :: मन, वचन व कर्म में समानता रखने वाले गांधी व शास्त्री ने आत्मनिर्भर समाज का देखा था सपना- मनोज शर्मा

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जीवन दर्शन एवं …

Leave a Reply

Your email address will not be published.