Breaking News

बिहार :: स्वयं सहायता समूह को किया जा रहा डिजिटाईजेशन

बिहारशरीफ। नाबार्ड द्वारा ई शक्ति प्रोजेक्ट नालंदा जिला में लॉच किया गया। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन ने किया। इस अवसर पर उपविकास आयुक्त सुब्रत कुमार सेन, वरीय उपसमाहर्ता बैंकिंग ब्रजेश कुमार, एलडीएम आर के बोहरा, डीपीएम जीविका आदि ने भाग लिया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि इस परियोजना का उददेश्य एसएसजी खातों को डिजीटलीकरण करना है जिससे उन्हें वित्तिय सेवाओं की व्यापक रेंज तक पहुंचाने में मदद मिलेगी। साथ हीं बैंकों द्वारा क्रेडिट मूल्यांकन और लिंकेज में आराम मिलेगा। स्वयं सहायता समूहों के अभिलेखों के पारदर्शी और उचित रख रखाव से एसएचजी को सुदृढ़ बनाने में मदद मिलेगी। इस अवसर पर डीडीएम नाबार्ड संजय कुमार चौधरी ने बताया कि यह कार्यक्रम नाबार्ड के लिए काफी महत्वपूर्ण हे। इस कार्यक्रम के माध्यम से जिले के सभी स्वयं सहायता समूह के सदस्यों का डाटा नाबार्ड की पोर्टल पर डाला जायेगा।इसका फायदा यह होगा कि स्वयं सहायता समूह को ऋण लेने में कठिनाई नहीं होगी। ऋण की अनुशंसा बैंक अधिकारी के पास स्वयं चला जायेगा एवं बैंक अधिकारी उस एसएचजी को ऋण स्वीकृत कर पायेंगे। नाबर्ड पोर्टल पर डाटा अपलोड होने से स्वयं सहायता समूह को और भी सुविधाएं प्राप्त होगी। इस अवसर पर वरीय उपसमाहर्ता ब्रजेश कुमार ने कहा कि डिजीटल मिशन को ध्यान में रखते हुये नाबार्ड ने देश में सभी स्वयं सहायता समूह के डिजीटलीकरण के लिए एक परियोजना शुरू की है जिसका नाम ई शक्ति है। इस अवसर पर डीपीएम जीविका ने बताया कि जिले में करीब 24 जार स्वयं सहायता समूह है जिसके डिजीटाईजेशन के लिए नाबर्ड का पूर्ण सहयोग प्रदान किया जा रहा है।

Check Also

दो दिवसीय किसान मेला का आज हुआ समापन

दरभंगा, सुरेन्द्र चौपाल :- संयुक्त कृषि भवन, बहादुरपुर के प्रांगण में दो दिवसीय किसान मेला …

Leave a Reply

Your email address will not be published.