Breaking News

बिहार :: नक्सलियों के ऐलान के बाद बिहार के पाँच जिलों में हाईअलर्ट।

लखीसराय :: ( रजनीश कुमार )– पांच नक्सलियों को फांसी की सजा सुनाए जाने के  बिरूद् मे
माओवादीयों  के द्वारा पूर्व बिहार बंद का ऐलान

फुड, अस्पताल, एमबुलेंस, पानी, दूध, अखबार आदि बंद से मुक्त।

सजा सुनानेवाले न्यायाधीश को जनअदालत में मौत की सजा देने की अपील।

शनिवार को भाकपा माओवादी बिहार झारखंड सीमांत जोनल कमिटि के प्रवक्ता लालजीत कोड़ा ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि 2014 के मुंगेर लोकसभा चुनाव के दौरान सीआरपीएफ की टुकड़ी पर हमला मामले में मुंगेर जिला के अपर
जिला एवं सत्र न्यायाधीश ज्योति स्वरूप श्रीवास्तव के द्वारा पांच 
निर्दोष किसानों विपिन मंडल, अधिक लाल पंडित, रतू कोड़ा, मनु कोड़ा एवं
बानो कोड़ा को सुनाए गए फांसी की सजा को हमारी पार्टी भाकपा माओवादी कड़़ी निंदा करती है तथा फांसी की सजा के विरोध में 28 व 29 मई 2017 को पांच जिला मुंगेर, जमुई लखीसराय, बांका एवं भागलपुर जिला को बंदी करने का आह्वान करती है। साथ ही साथ इन पांच निर्दोष किसानों को दी गई मौत की सजा के विरूद्ध व्यापक पैमाने पर जनप्रतिवाद व जनप्रतिरोध आन्दोलन निर्माण करने तथा फांसी की सजा सुनाने वाले जल्लाद जनविरोधी प्रतिक्रियावादी न्यायाधीश ज्योति स्वरूप श्रीवास्तव को जन अदालत में हाजिर कर मौत की सजा देने की अपील करती है। इस बंदी में फूड, अस्पताल, एम्बुलेंस, पानी, दूध,अखबार आदि को बंद से मुक्त रखा गया है। इन जिलों में सबसे अधिक किऊल भागलपुर रेलखंड किऊल जसीडीह रेलखंड को सबसे ज्यादा हाई अलर्ट पर रखा गया है रेल प्रशासन को विशेष चौकसी बरतने का आदेश दिया है!

Check Also

नगर निकाय चुनाव को लेकर हुई बैठक

दरभंगा, सुरेन्द्र चौपाल :- दरभंगा, समाहरणालय अवस्थित बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेदकर सभागार में जिला …