Breaking News

बिहार :: अपील पर अपील ! आखिर कब मिलेगा नैंसी को इंसाफ ?

मधुबनी : बिहार के मधुबनी जिले के अंधरामठ थाना क्षेत्र के महादेवा मठ गांव की रहने वाली नैंसी को इंसाफ दिलाने की मांग तेज पकड़ने लगी है. इसी क्रम में लोक गायिका शारदा सिन्हा ने सोशल मीडिया पर एक भावुक अपील करते हुए राज्य सरकार और  पीएम मोदी से नैंसी को न्याय और उसके परिवार को इंसाफ दिलाने की मांग की है. शारदा सिन्हा ने अपील करते हुए कहा है कि नैंसी के साथ जघन्य अपराध हुआ है. सीता की धरती पर इस तरह का अपराध क्षम्य नहीं हो सकता. उन्होंने ऐसा करने वालों को कहा है कि नारी खत्म नहीं होगी, भले उसका शरीर खत्म हो जाये. उन्होंने बिहार और मिथिला के लोगों से आगे आने की अपील करते हुए न्याय के लिए संघर्ष करने की बात कही. उन्होंने कहा कि नैंसी के लिए लोग आवाज उठायें. शारदा सिन्हा ने कहा कि यह क्या हो रहा है, चारों ओर. निर्भया कांड के बाद लगता था कि सबकुछ खत्म हो जायेगा. यह खत्म क्यों नहीं हुआ. उन्होंने अनुरोध किया है कि नैंसी को जल्द से जल्द न्याय मिले.

इंसाफ की अपील

शारदा सिन्हा की इस अपील को काफी संख्या में लोगों ने देखा और सुना है. ज्ञात हो कि 25 मई से गायब 12 साल की नैंसी की क्षत-विक्षत हालत में लाश मिली थी. वह एमएनपी पब्लिक स्कूल के निदेशक कुमार रविंद्र झा की बेटी थी. पुलिस अभी तक हत्यारे तक नहीं पहुंच सकी है.  इधर, नैंसी के मां-पिता व उसके परिजन शोक में डूबे हैं.

घर से पास ही हुई थी गायब

जानकारी के मुताबिक, इस घटना का दूसरा सबसे अहम पहलू यह है कि जिस समय नैंसी के गायब होने का समय बताया जा रहा है, वह समय लोगों के बाजार में होने का है, लेकिन किसी की नजर उस पर नहीं पड़ी. न तो किसी संदिग्ध लोग ही आसपास नजर आये, अब सवाल उठ रहा है कि नैंसी गायब कैसे हो गयी. रवींद्र की मानें तो जिस जगह से नैंसी के गायब होने की बात बतायी जा रही है, वह जगह उसके घर से महज 30 मीटर की दूरी पर है.  परिवार में चार बच्चे थे. इसमें तीन बच्चे पैतृक घर पर पहले चले गये. बाद में करीब दस मिनट के बाद नैंसी भी घर जाने को निकली, लेकिन वह रास्ते से ही गायब हो गयी.  पुलिस के जांच का दायरा यहीं पर उलझा रहा. पुलिस के साथ साथ परिजन और आम लोग भी हैरत में हैं कि शाम करीब साढ़े छह बजे ही यह घटना घटी, तो फिर किसी की नजर नैंसी को गायब करने वालों पर क्यों नहीं पड़ी.

अब तक हत्यारों का सुराग नहीं
नैंसी की हत्या अब तक पुलिस के लिए अनसुलझी पहेली बनी है. वह कई पहलुओं पर जांच कर रही है, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला है. हालांकि दो लोगों को इस मामले में पुलिस ने हिरासत में लेकर जेल भेज दिया है, लेकिन अब तक हत्या करने वाले का ठोस सुराग हाथ नहीं लग सका है.  इधर, मासूम नैंसी की निर्मम हत्या से ना सिर्फ उसके परिजन दुखी हैं, बल्कि समाज का हर वर्ग इससे मर्माहत है. लोग मासूम नैंसी के हत्यारे को फांसी की सजा दिये जाने तक की मांग करने लगे हैं. लोगों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है. सोशल मीडिया पर भी नैंसी हत्याकांड की बातें वायरल हो गयी है. लोग हत्यारे को फांसी तक की सजा दिये जाने की मांग कर रहे हैं.

25 मई को हुई थी गायब

नैंसी की अपराधियों ने नृशंस तरीके से गला रेतकर एवं दोनों हाथ की नस को काटकर कर दी थी. नैंसी की बुआ की शादी 26 मई को थी. 25 मई को मेंहदी की रस्म अदायगी में वह शाम साढ़े छह बजे अपने स्कूल से पैतृक आवास पर जा रही थी, जो एमएनपी स्कूल से करीब 300 मीटर की दूरी पर है.  इसी दौरान मोटर साइकिल सवार एक व्यक्ति जर्बदस्ती मोटर साइकिल पर बिठाकर नैंसी को ले भागा.  प्राथमिकी आवेदन में गांव के पवन झा व लालू झा पर भी संदेह व्यक्त किया था. इधर, एसपी दीपक बरनवाल ने बताया है कि जल्द ही अपहरणकर्ता और आरोपित पुलिस के गिरफ्त में होंगे.

Check Also

महारानी कल्याणी कॉलेज में राष्ट्रीय सेवा योजना दिवस पर कार्यक्रम आयोजित

डेस्क : राष्ट्रीय सेवा योजना के महारानी कल्याणी महाविद्यालय की इकाई में आज राष्ट्रीय सेवा …