बिहार :: मिथिला के बेटे उत्सव को यूपीएससी में 14वां रैंक तो बेटी सौम्या को 58वां रैंक

19

दरभंगा : यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा का रिजल्ट बुधवार की देर शाम घोषित कर दिया गया. इसमें बड़ी संख्या में बिहार के अभ्यर्थियों ने सफलता हासिल की है. मिथिला के दरभंगा लाल उत्सव कौशल ने टॉप 20 में जगह बनायी है. उन्हें 14वां रैंक मिला है. सीएम सांइस कॉलेज के अंग्रेजी विभाग के अध्यक्ष डॉ. केके सिन्हा व स्टेट बैंक की अधिकारी आभा सिन्हा के होनहार पुत्र उत्सव कौशल ने यूपीएससी की परीक्षा में 14वां स्थान लाकर केवल अपने माता-पिता का नाम रौशन नहीं किया, बल्कि उसकी सफलता से पूरे जिलेवासियों का सिर गर्व से ऊंचा हो गया है। उत्सव कौशल दरभंगा का मिश्रटोला निवासी है। खास बात रही कि उत्सव ने दो बार यूपीएससी की परीक्षा में भाग लिया और दोनों बार सफलता हासिल कर ली। पहले प्रयास में उसने 500वां स्थान प्राप्त किया था। उसका चयन ऑडिट व सर्विस विभाग में हुआ था। वह फिलहाल शिमला में ट्रेनिंग कर रहा है। पहले प्रयास में ही सफलता मिलने के बावजूद वह अपने रैंक से संतुष्ट नहीं था। ट्रेनिंग के साथ ही उसने परीक्षा के लिए दिन-रात जागकर तैयारी की। उसका ऊंचा मनोबल व जीवन में कुछ कर दिखाने की ललक उसके काम आयी। उत्सव ने जीसस एंड मेरी एकेडमी से सीबीएसई की दसवीं की परीक्षा 90 प्रतिशत से ज्यादा अंक से पास की थी। दसवीं की परीक्षा पास करने के बाद वह दिल्ली चला गया। वहां आईआईटी की कोचिंग करने के साथ ही पंजाबी बाग स्थित टैगोर इंटरनेशनल स्कूल से उसने सीबीएसई की 12वीं की परीक्षा पास की। इसके बाद आईआईटी की परीक्षा में भी परचम लहराने के बाद उसे आईआईटी, बंगलुरु में दाखिला मिला। वहां से उसने इलेक्ट्रिकल इंजीनियर की डिग्री हासिल की। हालांकि उसका मकसद शुरू से आईएएस बनने का था। अथक मेहनत से उसने यह मकसद भी पूरा कर लिया। पढ़ाई के अलावा उत्सव को पुराने सिक्के इकठ्ठा करने का शौक है। वह बेहतर स्केटिंग करता है। अपने माता व पिता की प्रेरणा से ही वह यह मुकाम हासिल कर सका। देश की सेवा करना उसका एकमात्र मकसद है। वहीं उसके पिता डॉ. सिन्हा ने भी अपने पुत्र की सफलता पर खुशी का इजहार किया।

वहीं, दरभंगा के प्रसिद्ध चिकित्सक व पदमश्री डॉ मोहन मिश्रा की नतिनी सौम्या झा ने पहले प्रयास में ही 58वां रैंक प्राप्त किया है. उनके पिता संजय कुमार झा आइपीएस अधिकारी, जबकि मां डॉ मातंगी झा चिकित्सक हैं. सौम्या मूल रूप से मधुबनी जिले के डुमरा गांव की रहनेवाली हैं. उन्होंने डीएवी,पटना  से 10वीं की परीक्षा पास की. डीपीएस, दिल्ली से इंटर पास करने के बाद वह मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की पढ़ाई 2016 में पूरी की.

मधुबनी के मूल निवासी नीरज कुमार झा को 109वां रैंक मिला है। उनकी परिवार फिलहाल धनबाद में रहता है। नीरज के पिता दामोदर वैली कार्पोरेशन में कार्यरत हैं। दरभंगा के सुमित कुमार झा ने 111वां रैंक हासिल किया है।

बिहार के अन्य टॉपर्स

सन्नी राज 132

प्रभात रंजन पाठक 137

नितेश पांडेय 141

सत्यम ठाकुर 218

मानस वाजपेयी 456

ओंकार 458

आदित्य कुमार झा 503

कुंदन कुमार 553

ओंकार नाथ 653

अभिषेक कुमार 773

विनोद कुमार 819

बमबम यादव 949