बिहार :: कातिलाना हमले में बाल बाल बचे पूर्व जिप उपाध्यक्ष

1

अंधराठाढ़ी(रमेश कर्ण) : स्थानीय थाना के पलार गांव में कातिलाना हमला में पूर्व जिला परिषद उपाध्यक्ष गोविंद कुमार मेहता एवं उनकी पत्नी गंभीर रूप से जख्मी हो गये। जख्मी श्री मेहता का इलाज रेफरल अस्पताल अंधराठाढ़ी में चल रहा है । हालत अधिक खराब रहने के कारण उन्हें दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल दरभंगा रेफर कर दिया गया। पुलिस को दिए बयान में अपने दो बड़े भाई अलख कुमार मेहता, भुवनेश्वर प्रसाद मेहता, राजा मेहता,किरण देवी समेत कुल 13 लोगो को नामजद अभियुक्त बनाया है। उन्होंने अपने बयान में बताया कि दो दिन पूर्व भी थानाध्यक्ष अंधराठाढ़ी के समक्ष आपस में पंचायत हुयी थी। आज भी थाना पर आपस में पंचायत रखी गयी थी। आरोपी पंचायत में आने के बजाय घर पर हमलावरों के साथ हमला कर दिया। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि सम्पति हरपने की मंशा से उन्हें बन्दूक के बट से मारपीट कर जबरण सादे स्टाम्प पर अंगूठा छाप ले लिया । बचाने आयी उनकी पत्नी को भी मारपीट कर जेवरात आभूषण आदि लुट लिए।
उल्लेखनीय है कि श्री मेहता इलाके के प्रसिद्ध जमींदार हैं । सैकड़ों एकड़ जमीन की स्वामित्व उनके पिता के पास था। सैकड़ों एकड़ जमीन पर सरकार ने सिनिग एक्ट भी लगा रखी है। उपाध्यक्ष तीनों भाई में सबसे छोटे हैं। पिता के निधन के बाद से सम्पति बँटवारा को लेकर पूर्व से विवाद चला आ रहा है। पिछले साल भी इसी तरह जानलेवा हमला किया गया था। दोनों बड़े भाई एक साथ हैं। जबकि गोविंद कुछ वर्षो से अलग हैं।

कहते हैं थानाध्यक्ष
रंजित कुमार महतो आपस में विवाद सुलझाने का प्रयास किया जा रहा था। इनलोगों में सम्पति बंटवारा को लेकर विवाद चला आ रहा था।  जख्मी के बयान पर प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है। जांच के बाद ही घटना की  वास्तविकता उजागर होगी।