Breaking News

‘बीवी पास चाहिए तो घर में संडास चाहिए’, यूपी की प्रियंका भारती की रियल स्टोरी अक्षय कुमार अभिनीत ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’

डेस्क : अक्षय कुमार की फिल्म ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ अगस्त में रिलीज़ होने वाली है. हाल ही में इस फिल्म का ट्रेलर लॉन्च हुआ है. ट्रेलर देख कर ही आप समझ गए होंगे कि इस फिल्म की कहानी एक औरत की बेसिक जरूरत के आस-पास घूम रही है. इस फिल्म का एक डायलॉग है‘बीवी पास चाहिए तो घर में संडास चाहिए’. इस डायलॉग को सच कर दिखाया था यूपी की प्रियंका भारती ने. जब ससुराल में टॉयलेट न होने की वजह से घर छोड़ दिया. ये फिल्म प्रियंका भारती के ऊपर ही बनी है. तो आइए हम प्रियंका भारती के बारे में आपको बताते हैं कि कैसे उन्होंने अपनी जिद के दम पर गांव की सूरत बदल दी.

कौन है प्रियंका भारती ?

प्रियंका यूपी के महाराजगंज जिले के कुइयां कंचनपुर गांव की रहनेवाली हैं. 2007 में 14 साल की उम्र में प्रियंका की शादी महाराजगंज की विशुनपुर खुर्द गांव के अमरजीत से हुई थी. शादी के समय प्रियंका पांचवीं क्लास में थीं. उस समय वो नाबलिग थीं, जिसकी वजह से प्रियंका का गौना हुआ. 5 साल तक मायके में रहकर प्रियंका ने अपनी पढ़ाई जारी रखा. 2012 में जब प्रियंका 19 साल की हुईं तो उसका गौना हुआ और फिर वो अपने ससुराल विशुनपुर खुर्द गईं.

जब तीन दिन के अंदर ससुराल छोड़ दिया

ससुराल में जैसे कि हर नई-नवेली दुल्हन अपनी सास-ननद से चीजें पूछती या बताती हैं, प्रियंका ने भी वैसे ही किया. अगली सुबह उसने अपने सास तेतरा देवी को बताया कि उसे बाथरूम जाना है. तो प्रियंका की सास ने कहा कि रुको मैं तुम्हारे साथ चलती हूं. ये सुनकर प्रियंका को बेहद अजीब लगा. जब प्रियंका की सास उसे लेकर खेतों में गई, तब उसे एहसास हुआ कि उसके ससुराल में टॉयलेट नहीं हैं. एक अखबार को प्रियंका ने बताया था-‘मेरे एक हाथ में लोटा था और एक हाथ से मैं घूंघट संभाल रही थी. सारे लोग मुझे देख रहे थे. मुझे बहुत शर्म आ रही थी.’ पहले ही दिन प्रियंका ने अपने पति और ससुराल वालों से कहा कि घर में टॉयलेट होना चाहिए. लेकिन इस बात पर किसी ने उतना ध्यान नहीं दिया. न चाहते हुए भी अगले 2 दिन तक प्रियंका शौच के लिए खेतों में जाती रहीं. चौथे दिन प्रियंका ने खेत में जाने से साफ इंकार कर दिया और कहा जब तक घर में टॉयलेट नहीं बनेगा मैं शौच के लिए जाउंगी ही नहीं. इसके बाद प्रियंका के पेट में दर्द होने लगा. इसी बीच प्रियंका का भाई किसी रस्म के लिए उसके ससुराल आया. फिर क्या प्रियंका ने अपना सामान उठाया और भाई के साथ मायके चली गई.

अफवाह फैली कि प्रेम-प्रसंग में दुल्हन भाग गई

मायके पहुंचने के बाद प्रियंका ने अपने मां-बाप से कहा कि वो वापस तब तक नहीं जाएंगी, जब तक उसके ससुराल वाले घर में टॉयलेट नहीं बनवाते. ये सुनकर प्रियंका के मां-बाप का कहना था कि जब तुम्हारी सास-ननद खुले में शौच जा सकती हैं. तो तुम्हें क्या दिक्कत है. वहीं रिश्तेदार प्रियंका को ताने देने लगे. ससुराल वाले गांव में अलग ही रायता फैल गया. कुछ लोगों ने अफवाह उड़ा दी कि प्रियंका का अपने गांव में किसी से प्रेम-प्रसंग चल रहा है. जिसके कारण वो भाग गई. इतना कुछ होने और कोई सपोर्ट नहीं मिलने के बाद भी प्रियंका अपने फैसले पर डटी रही. 

दुनिया ताना देती रही, लेकिन प्रियंका अपने फैसले से पीछे नहीं हटीं

प्रियंका की जिद की धीरे-धीरे हर जगह चर्चा होने लगी. घर वाले, रिश्तेदार, गांव हर जगह प्रियंका को कोसा जा रहा था. इस बीच गांवों में शौचालय बनवाने वाली एनजीओ सुलभ इंटरनेशनल की नजर इस खबर पड़ी. उन्होंने प्रियंका के घर जाकर उससे और उसके माता-पिता से बात की. उन्होंने प्रियंका से कहा तुमने ससुराल छोड़कर बहुत ही हिम्मत का काम किया है. फिर एनजीओ वालों ने प्रियंका के ससुराल वालों से बात करके और खर्च देकर घर में टॉयलेट बनवाया. टॉयलेट बनने के बाद एनजीओ की तरफ से ही गांव में भोज का आयोजन हुआ और प्रियंका को ससुराल वापस बुलाया गया. प्रियंका ने ही नए टॉयलेट का उद्धाटन किया. एनजीओ की तरफ से 2 लाख रुपए देकर सम्मानित भी किया गया. 2012 तक जहां उसके ससुराल में 3-4 घर में ही टॉयलेट हुआ करते था, अब वहीं 90 फीसदी घरों में टॉयलेट बन गया है.

काम ऐसा किया कि विद्या से लेकर अक्षय तक इंस्पायर्ड हो रहे

सुलभ इंटनेशनल स्वच्छता के लिए काम करने वाली भारत की सबसे बड़ी ऑर्गेनाइजेशन में से एक है. सुलभ ने न सिर्फ प्रियंका की मदद की बल्कि उसे अपना ब्रांड एम्बेसेडर भी बना लिया. एनजीओ की तरफ से 5 साल तक स्वच्छता अभियान के लिए हर महीने प्रियंका को 10 हजार रुपए दिए जाता था. विद्या बालन के साथ मिलकर प्रियंका ने एक ऐड भी शूट किया. जिसमें लोगों से घर में शौचालय बनाने की अपील कर रही हैं. तो वहीं इनकी लाइफ पर ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’  फिल्म भी बना दी गई है.

देखें ट्रेलर …

 

Check Also

दरभंगा कंकाली मंदिर के पुजारी की गोली मारकर हत्या, 3 अपराधियों की आक्रोशित लोगों ने की पिटाई एक की मौत 2 की हालत गंभीर एक भक्त भी गोली लगने से ज़ख्मी

राजू सिंह की रिपोर्ट दरभंगा : दुर्गापूजा के महानवमी की अहले सुबह दरभंगा में अपराधियों …