Breaking News

विशेष :: 200 रुपये के नोट आएंगे जल्द, शुरू हुई छपाई

डेस्क : नोटबंदी के बाद 500 और 2000 रुपये के नए नोट मार्केट में लाने के बाद केंद्र सरकार अब 200 रुपये के नोट उतारने की तैयारी में है। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा इसकी छपाई भी शुरू कर दी गई है। केंद्रीय बैंक का कहना है कि लोगों के लिए ट्रांजैक्शंस को आसान करने के मकसद से इस नोट को जारी किया जाएगा। पूरे मामले से जुड़े दो लोगों ने इकनॉमिक टाइम्स को बताया कि आरबीआई की ओर से कुछ सप्ताह पहले ही इन नोटों की छपाई का आदेश दिया गया है। इसके बाद से ही सरकारी प्रिंटिंग प्रेस में इन नोटों की छपाई का काम चल रहा है। पहले इन नोटों को जुलाई में जारी किए जाने की बात की जा रही थी, लेकिन अब इसमें कुछ देरी हो सकती है।

एसबीआई में ग्रुप चीफ इकॉनमिस्ट के तौर पर काम करने वाले सौम्या कांति घोष ने कहा, ‘दैनिक लेन-देन के मकसद से 200 रुपये के नोट लाए जाने से कामकाज में आसानी होगी।’ बता दें कि नरेंद्र मोदी सरकार ने बीते साल 8 नवंबर को काले धन की इकॉनमी और नकली नोटों के धंधे पर चोट करने के मकसद से 500 और 1000 रुपये के नोटों को अमान्य कर दिया था। इसके बाद 500 और 2000 रुपये के नए नोट जारी किए गए थे।

आपको बता दें कि मार्च में हुई एक मीटिंग में आरबीआई बोर्ड ने 200 रुपये के नोटों को लागू करने का फैसला लिया था। इससे पहले सरकार भी नागरिकों के लिए इस्तेमाल में आसान रहने वाले नोट को जारी करने पर विचार कर रही थी। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की रिसर्च के आंकड़ों के मुताबिक 8 नवंबर को नोटबंदी के वक्त देश में 500 रुपये के नोटों की संख्या 1,650 करोड़ थी। इन नोटों को हटाए जाने के बाद मार्केट में सर्कुलेट नोटों की संख्या में बड़ा अंतर आ गया था।

पूरी होगी छोटे नोटों की कमी
सौम्या कांति घोष ने कहा, ‘नोटबंदी में हटाए गए नोटों के एक हिस्से की भरपाई 2,000 रुपये के नोटों के जरिए हुई है, जबकि 500 रुपये के नोटों ने काफी हद तक इस कमी को पूरा करने का काम किया है। लेकिन, यह काफी नहीं था।’ उन्होंने कहा कि 200 रुपये के नोटों को जारी किए जाने के बाद छोटी करंसी के संकट से निजात मिल सकेगी, जिसकी कमी लोग 500 रुपये के पुराने नोटों को बंद किए जाने के बाद से ही महसूस कर रहे हैं।

इसके अलावा सर्कुलेशन में छोटे और बड़े नोटों के अनुपात को भी सही किया जा सकेगा। पूरे मामले की जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने बताया, ‘200 रुपये के नए नोटों में कई अडवांस्ड सिक्यॉरिटी फीचर्स होंगे। अथॉरिटीज इस बारे में अतिरिक्त सावधानी बरत रही हैं ताकि इनके नकली नोट न तैयार किए जा सकें।’

Check Also

LNMU :: हिंदी विभाग में नवचयनित सहायक प्राध्यापकों को किया गया सम्मानित

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा : ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग …