Breaking News

बिहार :: शांत परिसर अशांत तालाब, एक माह तीन लाशें दिखा बना मौत का तालाब

दरभंगा : बिहार के दरभंगा में एक ऐसा तालाब है जो तीन माताओं के कोख को एक महीने के दौरान ही सूनी कर दिया । तीन जिंदगियों की मौतों का जिम्मेदार यह तालाब जल्द ही मौत के तालाब के नाम से जाना जायेगा।
ताजा मामला रविवार सुबह का है। दरभंगा के श्यामा मंदिर परिसर स्थित तालाब में स्नान के दौरान दो लड़कों की डुबने से मौत हो गई। दोनों लड़कों की उम्र 16 वर्ष बताई जा रही है।

मिली जानकारी के मुताबिक विश्वविद्यालय थाना अंतर्गत राज परिसर में स्थापित माँ श्यामा मंदिर परिसर के तालाब में सुशांत कुमार और केशव कुमार सुबह सुबह स्नान करने गये । जहां स्नान करने के दौरान दोनों की डूबने से मौत हो गई। सुंदरपुर के रहने वाले अनंत कुमार झा का पुत्र सुशांत है जबकि उसी मोहल्ले के रंजीत कुमार झा का पुत्र केशव है। परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है और इलाके में मातम पसरा है। 

ताज्जुब की बात यह है कि तालाब प्रसिद्ध मंदिर कैंपस में है जहां भक्तों की भीड़ हमेशा रहती है साथ ही साथ सुरक्षा गार्ड की मौजूदगी भी 24 घंटे रहती है।

पहले भी मिला था शव
विगत 19 जून को भी विश्वविद्यालय थाना अंतर्गत राज परिसर में स्थापित माँ श्यामा मंदिर परिसर के तालाब में एक युवक का शव मिलने से इलाके में सनसनी फ़ैल गई थी।  लाश देखने से तक़रीबन 25 वर्ष के युवक का लग रहा था जिसके मुँह और नाक से खून निकलने के निशान दिख रहा था। बहरहाल मंदिर परिसर में शव मिलना लोगो के लिए हैरान करनेवाली बात लग रही है और एक सवाल भी उठ रहा है जब मंदिर परिसर में इतने सुरक्षा गार्ड होते हुए भी किसी को कुछ पता क्यूँ नहीं चला ?

Check Also

अब पेट्रोल पंपों से भी मिलेगा “छोटू” सिलेंडर

– छोटे उपयोगकर्ताओं के लिए कम कम औपचारिकता का कनेक्शन– 5 किलो वाला एलपीजी सिलेंडर …