पूजा-पंडाल :: बिहारी बाबू तेजस्वी यादव माँ के दरबार में दिखें एकसाथ, शत्रु ने तेजस्वी को लगाया राजतिलक

22

पटना (संजय कुमार मुनचुन) : बॉलीवुड अभिनेता एवं पटना साहिब से भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा एवं राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के छोटे पुत्र और पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव मंगलवार को पटना के कई पूजा पंडालों में साथ-साथ दिखे. पंडाल में पहुंचने के बाद शत्रुघ्न सिन्हा और तेजस्वी यादव ने मां की पूजा की. इस दौरान शत्रुघ्न सिन्हा ने तेजस्वी के माथे पर तिलक भी लगाया. दोनों ने एक साथ पटना के कई पूजा पंडालों का भ्रमण करते हुए मां दुर्गा का आशीर्वाद लिया. 

बिहार की राजनीति समझने वालों के लिए भाजपा के बाहर राजनीतिक भविष्य तलाश रहे शत्रुघ्न सिन्हा की सियासी चाल चौंकाने वाली नहीं थी. पर, सियासत की बात न करते हुए भी जीत का जो आशीर्वाद तेजस्वी ने प्राप्त किया वो अनायास नहीं था. इसकी रचना सुबह ही हो चुकी थी.

राजनीतिक संदेश देने के लिए राजनीतिक बातें करना ज़रूरी नहीं होता है. ये प्रतीकों और तर्कों से ही सामने आ जाता है.यहीं भी वही दिखा. तिलक लगाने के बाद जब पत्रकारों ने शत्रुघ्न सिन्हा से पूछा कि आपने तेजस्वी से क्या कहा तो उनका कहना था- विजयी भव. फिर ये पूछने पर कि क्या 2020 में जीत के लिए, तपाक से शॉट गन ने कहा – यहां राजनीतिक बातें नहीं करूंगा.लेकिन राजनीति की व्याख्या व्यक्तिगत रिश्तों की बारीकियों के जरिए करते हुए शत्रुघ्न सिन्हा ने न सिर्फ राजनीतिक वर्तमान बताया बल्कि भविष्य की झलक भी दिखाई. उन्होंने कहा, “हम हमेशा साथ रहेंगे. साथ थे, हैं और रहेंगे. पारिवारिक रिश्ते कब किस रिश्ते में बदल जाए ये कहना मुश्किल है. इतना ज़रूर कहूंगा तेजस्वी के अच्छे दिन कब आएंगे पता नहीं पर शुभ दिन की शुरुआत हो गई है.” 

शत्रुघ्न सिन्हा पटना साहिब से भाजपा सांसद हैं लेकिन 2019 के समर में उन्हें टिकट न मिलना तय है. तेजस्वी पहले ही कह चुके हैं कि पार्टी उनके साथ है, शत्रुघ्न सिन्हा को तय करना है कि वो कहां से लड़ना चाहते हैं.