Breaking News

साक्षात्कार :: बॉलीवुड नायिका रैना बनर्जी के साथ “एक मुलाकात”।

“प्रतिविम्ब और नारी” जैसे सॉर्ट फिल्मों में दमदार अभिनय से पहचान बनानें वाली वॉलिवुड अभिनेत्री रैना बैनर्जी अपनें अपकमिंग फिल्म की सुटिंग में इन दिनों काफी व्यस्त हैं।

बिहार के समस्तीपुर जिले में लगे फिल्म के भव्य सेट पर प्रस्तूत हैं ‘‘स्वर्णिम मिडिया’’ के प्रधान संपादक विशाल गौरव और अभीनेत्री रैना बैनर्जी के बीच हुई बातचीत के मुख्य अंश।

प्रश्न : रैना बिहार मे आकर आपको कैसा लग रहा है?

रैना बनर्जी : काफी अच्छा लग रहा है, पहली बार बिहार आना काफी सुखद है।

यहॉ के लोग काफी अच्छे है मुझे यहाँ पर काम करने मे काफी मजा आ रहा है।

 

प्रश्न : आपको मिथिला के अतिथि सत्कार कैसा लगा?

रैना बनर्जी : देखिए मिथिला की धरती पर मेहमाननवाज़ी काफी फेमस है, सबसे ज्यादा मुझे यहाँ के लोगों में अपनापन दिखा यहाँ आकर एैसा बिलकुल नहीं लग रहा है की मैं अपनें घर से दुर कहीं आइ हूँ।

मिथिला और बंगाल की संस्कृति में काफी समानताए हैं इसलिए मुझे यहाँ कोई परेशानी नहीं हो रही है।

 

 

प्रश्न : आपका बचपन से सपना था फिल्म इन्डस्ट्री में आनें का तो कैसी रही आपकी तैयारी, बचपन के दिनों में?

रैना बनर्जी : देखिए मेरी फैमली ट्रेडिसनल फैमली है और कला में परिवार में पहले से हीं है।

मैं चार साल की थी तब से डान्स सीख रही हूँ। मैं एक क्लासिकल डान्स में ट्रेन्ड हूँ, मैंने दश सालों तक इसका कठोर अभ्यास किया है।

डान्स के माहोल से एक्टिंग और एक्टिंग के माहोल से कुछ कर दिखानें का चाव उत्पन्न होता गया।

 

प्रश्न : आपनें अपनें डान्स और स्टडी को बैलेन्स कैसे किया?

रैना बनर्जी : मैं बहुत छोटी थी तब से स्टेज प्रोग्राम कर रही हूँ लेकिन मुझे दोनों के बीच संतुलन बनानें में कोई खास परेशानी नहीं हुई।

लेकिन बीच में कुछ निजी कारनों से डान्स छुट गया था, लेकिन मैंने जल्द हीं इसे ठीक कर लिया।

 

प्रश्न : आप अपनें पारिवारिक पृष्टभूमि के बारें में बताएँ?

रैना बनर्जी : मैं एक मध्यमवर्णीय परिवार से हूँ! लेकिन मेंरा परिवार कन्जरवेटिव नहीं है मेरे परिवार में माँ, पिता जी के अलावा एक बड़ी बहन है जिसकी शादी हो चुकी है।

ये लोग बहुत हेल्पफुल हैं और मेंरे हर काम में मेंरे परिवार का पुरा सहयोग रहा है।

 

प्रश्न : आपनें स्टेज प्रोग्राम करना कब सुरु किया?

रैना बनर्जी : हमनें तो लगभग 5 (पांच) साल की उम्र से सुरु किया अब तो लोग 1 (एक) साल की उम्र से हीं सुरु कर देतें है।

 

प्रश्न : उन लड़कियों के बारे में क्या कहेंगी जो सामाजिक दबाव के कारण इस क्षेत्र में अपना करियर नहीं बना पाती है?

रैना बनर्जी : पुरे भारत में अगर देखा जाए तो हर जगह एैसी लड़कीयाँ हैं जो मेंरी तरह आगे बढनें के लिए संघर्ष कर रहीं है, वो लोग जो इन सब को गलत सोंचते हैं वो लोग भी आगे बढ़ कर मद्द करने का प्रयास करें नाकी रोकनें का।

 

प्रश्न : जब आप समाज और इन्डट्री के बीच आगे बढने को लेकर संघर्ष कर रहीं थीं वैसे वक्त में आपके लिए प्रेरणा का स्रोत?

रैना बनर्जी : पहले तो मेंरे पापा उसके बाद मेंरे गुरु राजेन्द्र कर्ण नें मेंरा हौशला बढ़ाया इसके बाद मैं साई बाबा पर बहुत भरोशा करती हूँ।

जब से मैने होश सम्भाला है साई बाबा को मानते हुए ही बड़ी हुई हूँ।

इन लोगों की बातें मुझे हमेंसा इन्सपायर करती आई है, मुझे बहुत हौशला दिया है।

 

प्रश्न : आपकी मुलाकात राजेन्द्र कर्ण से कैसे हुई और आपको कब एहसास हुआ की ये आपके गुरु हो सकतें है?

रैना बनर्जी : राजेद्र कर्ण मेरे पापा के दोस्त हैं बचपन से हीं मेरे घर उनका आना-जाना रहा है।

जो मुझे अपने बच्चों के तरह हीं प्यार करतें हैं। मैं उनके मार्गदर्शन पर चलती रही धीरे-धीरे मुझे लगने लगा यही वो इन्सान हैं जिसे मैं ढुन्ढ रही थी,

सायद साई बाबा नें हीं इन्हें मेंरे लिए भेजा है।

प्रश्न : आपकी दिलचस्पी डान्स और सिंगिग में थी! आपको कब लगा की आपको एक्टिंग करना चाहिए।

रैना बनर्जी : एक्सप्रेशन डान्स का महत्वपूर्ण हिस्सा है जो एक्टिग के लिए महत्वपूर्ण होता है।

अगर आप एक्सप्रेशन सीख लेते हैं तो बहुत हद तक एक्टिग अपने आप आजाती है जहां तक मेरे एक्टिंग में आनें का सवाल है

तो कॉलेज के सेकेन्ड ईयर में मेंरे परफॉरमेंस को देख कर मेरे देस्तो ने मेरे अंदर के एक्टर को नोटिस किया असके बाद मैंने तय किया की एक्टिग को हीं अपना करियर बनाउॅगी।

 

प्रश्न : एक्टिंग के अलावे क्या आपकी रुचि कुकिंग में भी है?

रैना बनर्जी : जी हॉ बिल्कुल मेंरी रुची हमेंशा से कुकिंग में रही है और मुझे जब भी समय मिलता है मैं तरह-तरह के व्यंजन बनाती रहती हूँ।

खासकर मुझे बिर्यानी बहुत पसंद है।

 

प्रश्न : रैना आपके लिए लाईफ क्या है?

रैना बनर्जी : मेरे लिए लाईफ अति महत्वपूर्ण है जहॉ सकारात्मक सोच इसे खुशनुमा बनाती है।

जिवन का एक भी पल व्यर्थ बर्बाद न करें क्योकी वो वक्त जो हमारे हाथों से निकल जाता है उसे हम वापस लौटा नहीं सकतें।

 

प्रश्न : कभी एैसा मौका आया है जब आपको लगा हो की जीवन बहुत दर्द भरा है?

रैना बनर्जी : जब मुझे समाज से ताना मिलता था तब लगता था की लाईफ का क्या मतलब जहॉ आप अपनें मनमुताबिक चलनें में इतना कुछ झेलना पड़े।

जब हमें कुछ रास्ता नहीं सुझता तो डिप्रेशन आजाता है की कैसे आगे बढ़ेंगे? कहॉ जायेंगें? क्या करेंगे?

उस समय थोड़ा मुझे लगने लगता है की यहॉ से तो पीछे भी नहीं जा सकते है।

लेकिन उपर वाले की दया से मैं इन सबसे आगे बढ़ चुकी हूँ और इन परिस्थितियों से उबरनें में गुरु राजेन्द्र कर्ण नें मेंरी बहुत मद्द की है।

 

Raina Banerjee

प्रश्न : होने वाले जीवन साथी के बारे में क्या कहेंगी?

रैना बनर्जी : प्यार से ज्यादा जरुरी है एक दुसरे को समझना कई बार एैसा होता है की हम कीसी से प्यार तो कर लेतें है लेकिन हम उसे समझ नहीं पाते और ना हीं वो हमें समझ पाता है।

होने वाले जीवन साथी में मैं आपसी समझ और मानशिक जुराव को प्रमुखता दुंगी।

चाहे वो किसी भी धर्म या समप्रदाय से हो मगर अपने ईश्वर में उसकी आस्था होनी चाहीए। साथ हीं वो एक्टर हो या ना हो उसमें कला की समझ होनी चाहीए।

 

प्रश्न : अपने फैन्स के लिए आप क्या कहना चाहेंगी।

रैना बनर्जी : मैंने दो सॉर्ट फिल्में की थीं जो फैन्स की दुआओं के कारण हीं अॅवार्ड विनिंग रही,

मैं अपनें सभी फैन्स को इतनें प्यार के लिए धन्यवाद कहती हूँ और आशा है मेरे आने वाली

फिल्मो को भी उनका प्यार इसी तरह मिलता रहेगा।

 

रैना बनर्जी के इन्टरव्यू को देखने के लिए निचे विडिये देखें।

Check Also

हाजीपुर में सोना लूटकांड, महज 15 मिनट में करोड़ों की लूट CCTV का DVR भी लेकर फरार

सोना लूट कांड दोबारा इन हाजीपुर, देखें वीडियो… डेस्क : वैशाली जिले के हाजीपुर में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *