बिहार :: छात्र नेता कन्हैया के काफिले पर खूब चले लाठी डंडे ,कई गाड़ियां क्षतिग्रस्त दो लोगों का फटा सिर

17

संजय कुमार मुनचुन : जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार मंगलवार को मंसूरचक प्रखंड से सभा कर लौट थे। इस दौरान भगवानपुर प्रखंड के दहिया गांव के पास कन्हैया के काफिले में शामिल लोगों व स्थानीय पूजा समिति के सदस्यों के बीच जाम को लेकर कहासुनी हो गई। धीरे-धीरे मामले ने तूल पकड़ना शुरू कर दिया और दोनों पक्षों के बीच झड़प होने लगी। इसमें स्थानीय दुर्गा पूजा समिति से जुड़े लोगों ने कन्हैया के काफिले में शामिल वाहनों पर हमला कर दिया। उसके शीशे तोड़ दिए। साथ ही, गाड़ी को क्षतिग्रस्त भी कर दिया। 

मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार की देर शाम जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के समर्थकों एवं स्थानीय पूजा समिति के कार्यकर्ताओं के बीच जमकर मारपीट हुई। मारपीट में पूजा समिति के दो कार्यकर्ताओं के सिर फट गए। उग्र लोगों ने कन्हैया के काफिले में शामिल आधा दर्जन वाहनों के शीशे तोड़ दिए। दोनों ओर से अलग-अलग थानों में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

कन्हैया की मंसूरचक में सभा थी। वे वाहनों के काफिले के साथ सभा कर अपने गांव बीहट लौट रहे थे। रास्ते में भगवानपुर बाजार स्थित बाइक शोरूम के प्रथम तल पर संचालित एक निजी कोचिंग संस्थान के संचालक से मिलने के लिए कन्हैया रुक गए। उनके काफिले की सारी गाडिय़ां सड़क पर रुक गईं। इससे जाम लग गया।

इसपर बगल में सजे दुर्गा पूजा पंडाल समिति के कार्यकर्ताओं ने गाडिय़ों को साइड करने को कहा। इसी पर दोनों पक्षों में विवाद शुरू हो गया। देखते-देखते मारपीट शुरू हो गई।

कन्हैया के समर्थकों ने गाड़ी में मौजूद लाठी-डंडों से पूजा समिति के कार्यकर्ताओं पर हमला बोल दिया। पूजा समिति के सदस्य दहिया निवासी सानू कुमार भारद्वाज एवं एक अन्य कार्यकर्ता के सिर फट गए। आधा दर्जन अन्य कार्यकर्ताओं को भी चोटें आईं। यह देख लोगों का आक्रोश फूट पड़ा और उन्होंने आधा दर्जन वाहन क्षतिग्रस्त कर दिए। इसके बाद दोनों पक्षों में जमकर लाठियां चलीं। 

भगवानपुर थानाध्यक्ष दीपक कुमार ने बताया कि घायल पूजा समिति के कार्यकर्ताओं का उपचार कराया जा रहा है। घायलों के आवेदन पर कन्हैया और उनके समर्थकों पर  प्राथमिकी दर्ज की गई है। दूसरी ओर, बरौनी थाना अध्यक्ष गजेंद्र सिंह ने बताया कि कन्हैया ने भी जानलेवा हमले की शिकायत दर्ज कराई है।

बता दें कि एक दिन पहले ही कन्हैया कुमार पर पटना एम्स के डॉक्टरों से बदसलूकी के आरोप में राजधानी के फुलवारी शरीफ थाने में केस दर्ज कराया गया है। कन्हैया वहां अपने साथी और एआईएसएफ के नेता सुशील कुमार को देखने पहुंचे थे। इसी दौरान उनके समर्थकों और एम्स के गार्डों के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। जिसके बाद बताया जाता है कि अस्पताल के जूनियर डॉक्टरों से भी कन्हैया के समर्थकों की झड़प हो गई।

खबरों के अनुसार कन्हैया कुमार 2019 के लोकसभा चुनाव में महागठबंधन की ओर से बेगूसराय से प्रत्याशी हो सकते हैं। इस संबंध में सीपीआई की राज्य ईकाई ने पहले ही ऐलान कर दिया है।