लखनऊ:गावों में सफाई कर्मियों के न आने से फैली गन्दगी,जिम्मेदार कर रहे अनदेखी

3

लखनऊ:गावों में सफाई कर्मियों के न आने से फैली गन्दगी,जिम्मेदार कर रहे अनदेखीलखनऊ:गावों में सफाई कर्मियों के न आने से फैली गन्दगी,जिम्मेदार कर रहे अनदेखी

रामकिशोर रावत

माल,लखनऊ। जहां एक तरफ उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री स्वच्छ भारत व स्वस्थ भारत होने का सपना देख रहे वहीं माल विकासखंड की ग्राम पंचायतों में तैनात एक दर्जन से अधिक सफाई कर्मी प्रदेश सरकार के आदेशों की खुलेआम धज्जियां उड़ा रहे हैं। इनमें कई सफाई कर्मी के नाम तक नहीं जानते हैं ग्राम प्रधान। लेकिन ग्राम विकास अधिकारियों से सांठगांठ कर प्रत्येक महीने सफाई कर्मी निकाल रहे हैं वेतन। जबकि गांव में महीनों से बजबज आ रही है नालियां और लगे हैं कूड़े के ढेर। जिससे ग्रामीणों के स्वास्थ्य के साथ खुलेआम खिलवाड़ करते देखा जा रहा है माल विकास खंड की 67 ग्राम पंचायतों में कुल 72 सफाई कर्मचारीयो की नियुक्ती ग्राम पंचायतों की साफ-सफाई करने के लिए प्रदेश सरकार ने की है।

जिससे ग्राम पंचायतों को साफ सुथरा रखा जा सके लेकिन जब आधा दर्जन से सफाई कर्मी विकासखंड मुख्यालय पर ही अन्य कार्यों के लिए रखे गए हैं। जबकि लगभग एक दर्जन सफाई कर्मी कभी भी अपनी पंचायतों में नहीं पहुंचते हैं इतना ही नहीं कई बार ग्राम प्रधान तो अपनी पंचायतों में तैनात सफाई कर्मियों के नाम तक नहीं जानते तो कैसे ग्राम पंचायतों को साफ एवं स्वच्छ रखा जा सकता है इतना सब होते हुए भी ग्राम विकास अधिकारी सफाई कर्मचारियों की उपस्थित दिखा कर उनका वेतन निकलवा रहे हैं विकास खंड मुख्यालय पर तैनात सफाई कर्मियों में सेवक चंद्र रामू गुप्ता शेर बहादुर व जगदीश सहित दो अन्य सफाई कर्मी कभी भी विभिन्न कार्यों को करते हुए देखे जा सकते हैं जबकि सेवक चंद्र को ग्राम पंचायत केरौर में तैनात दर्शाया गया है

वहीं सफाई कर्मी रामू गुप्ता को ग्राम पंचायत इब्राहिमपुर में तैनाती है शेर बहादुर को ग्राम पंचायत शंकरपुर में तथा जगदीश सिंह को ग्राम पंचायत दनौर में तैनाती दर्शाई गई है जबकि अन्य ग्राम पंचायतों में तैनात सफाई कर्मियों में अवध नरेश को रनीपारा पंचायत में तैनात किया गया है हमेशा विवादों के घेरे में रहते हुए भी उक्त सफाई कर्मी के विरुद्ध आज तक किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं की गई कारण उक्त सफाई कर्मी पच्चा ब्रिक फील्ड नेवादा के मालिक पच्चा लोधी का लड़का है जो कि आज किसी भी ग्राम पंचायत में तैनाती होने के बावजूद भी नहीं गया। वहीं कुंदनलाल को रामनगर ग्राम पंचायत में तैनाती की गई अरुण कुमार को सरथरा नरेंद्र सिंह को कोलवाभनौरा श्री चंद तिवारी को रहटा जितेंद्र कुमार प्रथम आट सुशील कुमार को मझैवा तथा बबलेश्वर को शाहपुर गोड़वा ग्राम पंचायत में सफाई कर्मी नियुक्त किए गए हैं उपरोक्त सफाई कर्मी कभी भी अपनी अपनी ग्राम पंचायतों में जाते ही नहीं हैं सबसे बड़ी बात तो यह है कि जब

प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री झाड़ू लगाकर साफ सफाई करते देखे जा रहे हैं वहीं माल विकासखंड में सफाई कर्मचारियों को किसी भी पंचायत में नाली साफ करते नहीं देखा गया जैसे ऐसा लगता है कि इन सफाई कर्मचारियों को स्वच्छ भारत व स्वस्थ भारत ना होने की कसम खा चुके हैं जिसके चलते अफसर बनकर मुख्यालय से लेकर भर तक घूमते टहलते किसी भी समय देखे जा सकते हैं।

यह सब खेल विवाह के अधिकारी की सांठगांठ से ही खेल रहे हैं सफाई कर्मचारी ।जब इन सफाई कर्मियों के विषय में जिला पंचायत राज अधिकारी से वार्ता की गई तो उन्होंने कहा की प्रकार का मामला मेरे संज्ञान में नहीं है संज्ञान में आते हैं इन सफाई कर्मियों के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही की जाएगी।

राजधानी के कुम्हरावां में ब्लॉक स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता सकुशल संपन्न, नौनिहालों के भविष्य में लगते सुनहरे पंख

निचे कमेंट बॉक्स में अपनी प्रतिक्रिया जरुर लिखें