Breaking News

लखनऊ:40 गांवों में कागजों में पूरे, हकीकत में बने ही नहीं आधे शौचालय

लखनऊ:40 गांवों में कागजों में पूरे, हकीकत में बने ही नहीं आधे शौचालय

उमेश कुमार सैनी

लखनऊ।राजधानी की 40 पंचायतों के सचिव और प्रधानों ने मिलकर कागजों में शौचालय खड़े कर डाले। सत्यापन हुआ तो पता चला कि गांवों में शौचालयों का काम आधा-अधूरा पड़ा है। कहीं शौचालय की छत नहीं तो कहीं दरवाजा गायब। कहीं शौचालय में सीट नहीं लगी तो कहीं शौचालय बना लेकिर गड्ढा खुदा ही नहीं। सत्यापन में हुए इस खुलासे के बाद जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा इन 40 पंचायतों के प्रधानों को नोटिस और सचिवों को आरोप पत्र दिया गया है।
राजधानी को खुले में शौच मुक्त बनाने की मुहिम में एक बार (दो अक्टूबर) चूकने के बाद अबभी कई प्रधान व सचिव हीलाहवाली कर रहे हैं। अधिकारियों द्वारा सत्यापन के बाद 40 ग्राम पंचायतों में तथ्य सामने आए उससे तो प्रशासन भी सकते में आ गया। इन पंचातयों में लक्ष्य के अनुरूप शौचालय तो बने नहीं, लेकिन भारत सरकार की वेबसाइट पर सभी शौचालयों को बना दिया दिया गया। जो शौचालय बने है उनमें 60 से 80 प्रतिशत तक शौचालय प्रयोग में नहीं हैं। यही नहीं कहीं शौचालयों में दरवाजा गायब तो कहीं छत। जबकि इन सभी पंचायतों में पैसा पूरा भेजा जा चुका है। इस तरह की लापरवाही को देखकर जिलाधिकारी और सीडीओ बहुत नाराज हुए। प्रशासन ने प्रधानों को कारण बताओ नोटिस भेजी। वहीं बृजेश वर्मा, जेएन शर्मा, आलोक चौधरी, संजीव पाल, विनोद कुमार अवस्थी, भूपेंद्र सिंह सहित 40 ग्राम पंचायत सचिवों को आरोप पत्र जारी किया गया है।

शौचालय नहीं हुए सही तो बर्खास्तगी तय

अधिकारियों की माने तो अगर इन पंचायतों में सभी शौचालय सही नहीं हुए तो प्रधानों को 95 जी यानी बर्खास्तगी और सचिवों को निलंबन से लेकर बर्खास्तगी तक की कार्रवाई के लिए तैयार रहना होगा। सीडीओ मनीष बंसल ने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत थोड़ी सी चूक भी बर्दाश्त नहीं होगी। तीन दिनों में माकूल जवाब न मिला तो प्रधान और सचिवों को कठोर कार्रवाई के लिए तैयार रहना होगा।

इन गांवों में कागजों में पूरे, हकीकत में अधूरे शौचालय

सरोजनीनगर – हसनपुर खेवली, बरौना, जैतीखेड़ा, कल्ली पश्चिम
चिनहट – रैथा, मेहौरा, घैला
काकोरी- बरकताबद, सरोसा-भरोसा, सरसण्डा, थावर, कुढ़ाईट गांव, शिवरी, कुशमौरा
गोसाईगंज – सुरियमऊ, काजीखेड़ा, पंचसरा
बीकेटी – चाँदपुर खानीपुर,दुघरा, अरम्बा, अस्ती, नरोसा, अकड़िया कला, सुल्तानपुर
मोहनलालगंज – कोडरा रायपुर, निगोहा, कुबहरा कनेरी,
मलिहाबाद – सरावां, दौलतपुर, रुसैना, दतली, सुरगौला, सिधरवा, मलहा
माल – बदैय्या, माल,आंटगढ़ी सौरा, अटारी, बसंतपुर

लखनऊ:भू माफियाओं के आगे एंटी टास्क फोर्स टेक रही घुटने

लखनऊ:40 गांवों में कागजों में पूरे, हकीकत में बने ही नहीं आधे शौचालय

Check Also

सिकरोड़ी पुल की चह क्षतिग्रस्त, बड़े हादसे के इंतजार में प्रशासन आवागमन बाधित बढ़ी परेशानी

चकरनगर/इटावा (डॉ एस बी एस चौहान की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट) : पिछले 3 दिनों से जारी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *