यूपी:रायबरेली रेल हादसा: ट्रेन को ग्रीन सिग्नल तो दे दिया, लेकिन नहीं जोड़ी पटरियां

1

यूपी:रायबरेली रेल हादसा: ट्रेन को ग्रीन सिग्नल तो दे दिया, लेकिन नहीं जोड़ी पटरियांयूपी:रायबरेली रेल हादसा: ट्रेन को ग्रीन सिग्नल तो दे दिया, लेकिन नहीं जोड़ी पटरियां

राज प्रताप सिंह,ब्यूरो लखनऊ

रायबरेली।बुधवार की सुबह रायबरेली के हरचंदपुर स्टेशन के पास एक बड़ा रेल हादसा हो गया। मालदा टाउन से नई दिल्ली जा रही 14003 न्यू फरक्का एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई। ट्रेन की इंजन सहित 9 डिब्बे पटरी से उतर गए। इस भयानक हादसे में अभी तक नौ लोगों की मौत हो गई है, जबकि 50 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं।
प्रारंभिक जानकारी के अनुसार पश्चिम बंगाल के मालदा टाउन से चलकर दिल्ली आ रही 14003 न्यू फरक्का एक्सप्रेस सुबह करीब 6 बजे हादसे का शिकार हो गई। बताया जा रहा है कि हरचंदपुर स्टेशन के असिस्टेंट स्टेशन मास्टर ने ट्रेन को पास होने के लिए ग्रीन सिग्नल तो दे दिया, लेकिन पटरियां नहीं जोड़ी। जिससे ट्रेन हादसे का शिकार हो गई। ट्रेन का इंजन और उससे लगे 3 जनरल कोच एक-एक कर पलट गए। वहीं इसके पीछे लगे स्लीपर कोच S-7, S-8, S-9, S-10 और S-11 पटरी से उतर गए।

असिस्टेंट स्टेशन मास्टर को किया निलंबित

इस हादसे के बाद रेलवे अधिकारी ने हरचंदपुर के असिस्टेंट स्टेशन मास्टर आशीष कुमार को प्रथम दृष्टया में दोषी पाते हुए निलंबित कर दिया है। वहीं रेल हादसे के शिकार यात्रियों की मदद के लिए एनडीआरएफ आइटीबीपी जीआरपी और स्थानीय पुलिस के जवान रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटे हुए हैं। जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक भी मौके पर पहुंच गए हैं। आसपास के स्कूलों की गाड़ियां बुलाकर घायलों को लखनऊ और रायबरेली के अस्पतालों में भेजा जा रहा है।

हरचंदपुर रेलवे स्टेशन का रिप्ले रूम किया सील

रेल हादसे के वास्तविक कारणों को पता लगाने के लिए हरचंदपुर के स्टेशन अधीक्षक ने रेलवे स्टेशन का रिप्ले रूम सील कर दिया है। महकमे के सूत्रों के अनुसार हरचंदपुर रेलवे स्टेशन के रायबरेली की तरफ के आउटर पर रिपेयरिंग का काम चल रहा था। इसी आउटर पर पटरियों को आपस में जोड़ने लापरवाही की बात सामने आ रही है। स्टेशन यार्ड में हादसा होने के कारण इसके लिए पूरी तरह से रेलवे का सिग्नल एवं ऑपरेटिंग डिपार्टमेंट दोषी माना जा रहा है इसीलिए उच्चाधिकारियों के निर्देश पर स्टेशन अधीक्षक ने रिप्ले रूम सील कर दिया है ताकि इससे कोई छेड़छाड़ न कर सके।

एटीएस ने कानपुर व आगरा में वैज्ञानिकों के लैपटॉप व मोबाइल सीज किये

सीएम ने घटना पर संज्ञान लिया, किया मुआवजे का ऐलान

हादसे के बाद सीएम योगी आदित्यानाथ ने इस घटना पर संज्ञान लेते हुए फौरन डीएम, एसपी, स्वास्थ्य अधिकारियों और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन बल से कहा है कि सभी हरसंभव राहत और बचाव कार्य में जुट जाएं। सीएम योगी ने मुआवजे का भी ऐलान कर दिया है। मृतक के परिजनों को 2-2 लाख रुपये वहीं घायल लोगों को 50-50 हजार रुपये देने का ऐलान किया है।

निचे कमेंट बॉक्स में अपनी प्रतिक्रिया जरुर लिखें