Breaking News

दुर्गा पूजा :: शनिवार को कलश स्थापना से शारदीय नवरात्र की होगी शुरूआत

picsart_09-30-11-25-28दरभंगा : शुक्रवार को वाराणसी व बांग्ला पंचांग के अनुसार महालया होने के साथ पितृ पक्ष का समापन भी हो गया. गुरुवार रात्रि 3.20 बजे से अमावस्या लग गया, जो शुक्रवार की रात्रि शेष 04.21 बजे तक है. वहीं कलश स्थापना एक अक्टूबर को की जायेगी. महालया के दिन कई लोग घरों में चंडी पाठ  भी करते हैं. इसी दिन से लोग दुर्गा पूजा की भी तैयारी शुरू कर देते हैं. इस बार शारदीय नवरात्र 10 दिन का हो रहा है तथा 11वें दिन विजयादशमी होगी. पूजा को लेकर बाजार में पूजन सामग्री सहित कपड़ों की खरीदारी तेज हो गयी है. खरीदारी के लिए बाजार में भीड़ उमड़ रही है.

शारदीय नवरात्र एक अक्तूबर से शुरू हो रहा है. एक अक्तूबर को प्रात: 04.23 बजे से प्रतिपदा लग रहा है, जो रविवार को प्रात: 05.53 बजे तक रहेगा. इस दिन अभिजीत मुहूर्त दिन के 11.36 से 12.24 बजे के बीच है. कलश स्थापना के लिए यह बेहतर समय माना गया है. प्रात:काल कन्या लग्न मुहूर्त 05.44 से 06.53 तक है.

मां की आराधना में कलश स्थापना का विशेष महत्व है.मां की आराधना शुरू करने से पूर्व सबसे पहले कलश में जल,  गंगाजल, सर्वोषधि, दूर्वा, कुश, पंच पल्लव, सप्तमृतिका, कसैली, पंचरत्न,  द्रव्य डालकर उस पर ढक्कन लगाकर ढक दें.ढक्कन में अक्षत डालकर उस पर  नारियल एक कपड़े में लपेटकर रख लें और फिर उसकी पूजा कर लें. फिर इस मंत्र का जाप करें.

त्वत्प्रसादादिमं यज्ञं कर्तुमिह जलोदभव. सान्नध्यिं कुरु मे देव प्रसन्नो भव सर्वदा.

Check Also

पद से हटाए गए रमौली मुखिया उगन झा, निर्वाचन आयोग ने दोहरे पद पर लाभ को लेकर की कार्रवाई

डेस्क। राज्य निर्वाचन आयोग ने दोहरे लाभ के पद पर पदस्थापित रहने के कारण रमौली …

सांई झूलेलाल जन्मोत्सव सह सिन्धी मातृभाषा दिवस के अवसर पर दरभंगा में संगोष्ठी आयोजित

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा। सांई झूलेलाल जन्मोत्सव सह सिन्धी मातृभाषा दिवस के …

Lekhpals protested by tying black bands and submitted a memorandum

चकरनगर तहसील में लेखपालों ने काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शित कर ज्ञापन सोंपा

चकरनगर/इटावा। उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ की उप शाखा तहसील चकरनगर संघ के लेखपालों ने नरेंद्र …