बिहार :: गब्बर की गोवा में हत्या, शव पहुँचते ही गाँव में मचा कोहराम

2

gowa-01-11-2016-1478000533_storyimage-320x240समस्तीपुर : सिंघिया थाने के सालेपुर का मो. मुश्ताक उर्फ गब्बर की हत्या गोवा में कर दी गई. वह तीन माह पूर्व मजदूरी करने गोवा गया था.मंगलवार की सुबह मुश्ताक की लाश जब गांव में पहुंची तो आक्रोशित लोगों ने सिंघिया-रोसड़ा रोड जाम कर आवागमन बाधित कर दिया।

मिली जानकारी के मुताबिक सिंघिया थाने के सालेपुर के मो. मुश्ताक उर्फ गब्बर को गांव के ही ठेकेदार सुधीर कमती और अशोक कमती मजदूरी कराने के लिए तीन माह पूर्व गोवा ले गए थे। गोवा में गत 27 अक्टूबर को उसकी लाश बरामद हुई। बदमाशों ने हत्या कर मो. मुश्ताक की लाश फेंक दी थी। मो. मुश्ताक की पत्नी का कहना था कि 26 अक्टूबर को मोबाइल पर हुई बातचीत में मुश्ताक ने उसे बताया कि ठेकेदार के यहां उसके 15 हजार रुपये बाकी हैं। पैसे को लेकर ठेकेदार से विवाद हुआ है। उसके बाद 27 अक्टूबर को बोरा में बंद कर फेंकी गयी उसकी लाश मिली। परिवार वाले ठेकेदार पर हत्या करने का आरोप लगा रहे हैं और ठेकेदार के परिजनों से मृतक की तीन बेटियों व पत्नी के भरण पोषण की व्यवस्था करने की मांग करने लगे। दूसरी ओर ठेकेदार के परिजन व समर्थक हत्या में हाथ नहीं होने की बात कह भरण-पोषण का जिम्मा उठाने से इंकार कर रहे थे।

इस आरोप-प्रत्यारोप के बीच विवाद इतना गहरा गया कि दोनों पक्ष आमने-सामने हो गये। तनाव व सड़क जाम की जानकारी मिलने पर सिंघिया थाने की पुलिस जामस्थल पर पहुंची। गोवा का मामला बताते हुए सड़क जाम नहीं हटाने पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी तो मृतक के समर्थक आक्रोशित होकर उलझ गये। महिलाओं की टोली तो पुलिस को पीटने के लिए तैयार हो गयी। स्थिति को भांप पुलिस पीछे हट गयी। करीब पांच घंटे बाद गांव के ही कुछ गणमान्य लोगों ने बीच-बचाव किया। उन्होंने पंचायत में फैसला करने की बात कहकर जाम हटवाया। जाम हटने के बाद पंचायत बैठी। वहीं स्थिति पर नजर बनाये रखने के लिए पुलिस गांव में मौजूद है।