बिहार :: धू-धू कर जला रावण, श्रीराम की जयघोष से गुंजायमान हुआ आकाश

7

picsart_10-11-06-16-05-240x298पटना : मंगलवार को अहंकार और बुराई के नाश के साथ ही समूचा आकाश श्रीराम की जयघोष से गुंजायमान हो गया. रंगारंग आतिशबाजी के बीच श्रीराम ने रावण पर वार कर लंका दहन कर दी.
राजधानी पटना के गांधी मैदान में रावण दहन के कार्यक्रम को देखने के लिए हजारों की तादाद में लोग उमड़े. यहां भगवान का श्रृंगार कर राम-रावण युद्ध की आकर्षक झांकी सजाई गई.

received_1222998124427665गांधी मैदान में रावण दहन का कार्यक्रम अपने निर्धारित समय पर शाम पांच बजे शुरू हो गया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की विधिवत शुरूआत की। उसके बाद नीतीश कुमार ने गुब्बारा उड़ाकर शांति का संदेश दिया। फिर सीएम ने रामलला की आरती उतारी। यह दृश्य देखकर लोग भाव विभोर होते रहे।

201610111339_349

सीएम के आरती उतारने के बाद रामलला और लक्ष्मण ने गांधी मैदान की परिक्रमा की। सबने राम, लखन सहित पूरी सेना के दर्शन किए।इस समारोह में इस वर्ष आधुनिक तकनीकों का भी इस्तेमाल किया गया. रावण वध के पहले राम और रावण के बीच संवाद भी हुए.

picsart_10-11-06-29-58-320x187फिर श्रीराम ने सबसे पहले तीर चलाकर कुंभकर्ण का वध किया. चारों ओर जय श्री राम के जयघोष की ध्वनि गूंज उठी.उसके बाद मेेघनाद का वध किया गया. सबसे अंत में रावण का वध हुआ। रावण का वध होते ही चारों ओर शंख ध्वनि गूंज उठी.बुराई पर अच्छाई की जीत हुई. धू-धू कर रावण, कुंभकर्ण और मेघनाद के पुतले जल उठे.इसी के साथ लोगों ने एक-दूसरे को गले लगाकर विजयदशमी पर्व की शुभकामनाएं दीं.

मालूम हो कि दशहरा महोत्सव समिति के अध्यक्ष कमल नोपानी ने बताया कि इस वर्ष रावण का पुतला 70 फुट का, कुंभकर्ण का 65 फुट और मेघनाद का पुतला 60 फुट ऊंचा बनाया गया था. पुतलों में 450 पटाखे भरे गए थे.