Breaking News

बिहार :: केन्द्रीय विद्यालय के छात्रों का क्लास में मारपीट वाला वायरल वीडियों का पूरा सच

picsart_10-13-09-57-57-320x315उ.स.डेस्क : एक स्कूल में दबंग बाप के बेटों की दबंगई सामने आयी है. मामला मुजफ्फरपुर स्थित केन्द्रीय विद्यालय का है जहां पहले तो एक छात्र को बुरी तरह से पीटा गया और फिर इस पिटाई का वीडियो बना कर इसे वायरल किया गया.

सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस वीडियो में सेन्ट्रल स्कूल के क्लास के भीतर ही छात्र को बुरी तरह से मारा पीटा जा रहा है.
वीडियो में पीड़ित छात्र बार-बार बचाव के लिए आवाज लगा रहा है लेकिन दबंग छात्रों का ग्रुप हाथ-पैर और मुक्के के बाद बेल्ट, जूते से छात्र को बुरी तरह पीटते हुए दिखाई दे रहा है. वीडियो में मारने वाले दो सगे भाईयों को पहचान लिया गया है.

विशाल और विक्की नामक छात्र दोनों सगे भाई हैं और स्कूल में क्रमश: 12 वीं और 11 वीं के छात्र हैं. पीटने वाले दोनों छात्रों की पहचान इलाके के कुख्यात शशिभूषण उर्फ फौजी के बेटे के रूप में की गई है. फौजी कई मामले में वांछित है और फिलहाल मुजफ्फरपुर केन्द्रीय कारा में बंद है. पिटाई खाने वाले छात्र की पहचान शहर के रामदयालु नगर में रहने वाले उत्तम कुमार के रूप में की गई है जो 12 वीं कक्षा के बी सेक्शन का छात्र है.

जानकारी के मुताबिक स्कूल के दूसरे सेशन में पढ़ने वाले उत्तम कुमार ने पहले सेशन में पढ़ने वाले विशाल उर्फ तन्मय सिंह के बारे में स्कूल प्रबंधन से मारपीट सहित दूसरी कारगुजारियों की शिकायत की थी. इस बात से नाराज फौजी के दोनों बेटों ने अपने साथियों के साथ मिलकर उत्तम की क्लास रूम में पिटाई की और फिर छात्रों के बीच अपने नाम का आतंक फैलाने के लिए मारपीट का वीडियो बनाकर साथियों के बीच भेजा.

दोनों भाई विशाल और विक्की की कई और कारगुजारियों के चर्चे जोरों पर है लेकिन कोई भी मुंह खोलने को तैयार नहीं है. स्कूल के प्राचार्य राजीव रंजन ने इस मामले में कुछ भी बोलने और कैमरे से वीडियो तक बनाने से साफ तौर पर मना कर रहे हैं लेकिन ऑफ द रिकार्ड प्राचार्य ने वीडियो क्लिप को स्कूल का मानते हुए इसे 25 अगस्त का बताया है.

इसके अलावा स्कूल प्रबंधन की जांच में दोषी पाये जाने पर 10 दिनों के लिए दोनों भाईयों को निलंबित करने की बात की है. स्कूल प्रबंधन का कहना है कि पीड़ित छात्र और उनके अभिभावक किसी प्रकार की लिखित शिकायत नहीं कर रहे हैं इसलिए कड़ी कार्रवाई नहीं की जा रही है. इस मामले में जिला प्रशासन ने किसी भी प्रकार की टिप्पणी करने से इंकार किया है

Check Also

दर दर की ठोकरे खा रहे बुजुर्ग, नही हो रहा विश्वविद्यालय थाना में एफआईआर दर्ज

मामले को अकिंत करने के बजाय उलझाने में लगे है विश्वविद्यालय थाना दरभंगा। विश्वविद्यालय थाना …