सेहत :: गोलगप्पे खाने से होते हैं कई गुपचुप फायदे !

21

picsart_10-06-06-56-23-320x246उ.स.डेस्क : जब गोलगप्पे खाने की बात आती है तो हर किसी के मुंह में पानी जरूर आ जाता है। यह एक ऐसी डिश है, जिसे न सिर्फ मुंह के टेस्ट को बदलने के लिए बल्कि आपके सेहत के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है। शहर-गांव, गली-कूचे और हर चौराहों पर मिलने वाले गोलगप्पा यदि सीमित मात्रा और सही समय पर खाया जाए तो यह मोटापा तक भी कम करने में कारगर साबित हो सकता है। हालांकि देशभर के विभिन्न क्षेत्रों में इसे अलग-अलग नामों से पुकारा जाता है। जैसे महाराष्ट्र में पानी पुरी, हरियाणा में पानी के पताशे, उत्तर प्रदेश में पानी के बताशे या पताशी या फिर फुल्की, वेस्ट बंगाल में पुचके, उड़िसा में गुपचुप और गुजरात में पकोड़ी आदि नामों से जाना जाता है। चलिए आइए जानते हैं कि गोलगप्पे खाने से कैसे हेल्दी बने रह सकते हैं?

गोलगप्पे से कैसे कम कर सकते हैं मोटापा ?

यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो गोलगप्पा भी एक माध्यम जरूर हो सकता है। गोलगप्पे खाने के कुछ जरूरी तरीके अपनाने होंगे जिससे आपको फायदा मिलेगा। सूजी का प्रयोग न करके आटा की गोलपप्पे खाएं और जीराजल में मीठापन बिल्कुल नहीं होना चाहिए, बल्कि इसमें मात्रानुसार पुदीना, नींबू, हींग और कच्चा आम का प्रयोग कर सकते हैं। पानी में पड़ने वाले ये चीजें आपका मोटापा बढ़ाने से रोकेगा। इतना ही नहीं बल्कि खाने से पहले यह ध्यान रखना होगा कि गोलगप्पा ज्यादा फ्राई न हुआ हो, क्योंकि इसमें तेल की मात्रा ज्यादा होने से आपको नुकसान पहुंचा सकता है, साथ ही पानी में टमाटर बिल्कुल भी प्रयोग न करें।

मुंह के छाले को करता है गायब- यदि आपने किसी के मुंह से गोलगप्पे खाने से मुंह के छाले खत्म होने की बात सुनी है तो यह गलत बात नहीं होगी, क्योंकि मुंह के छाले के दौरान गोलगप्पे के साथ मिलने वाले जलजीरा में तीखापन और पुदानी या खट्टापन से छाले को दूर करने में सहायक होता है। हालांकि यह अधिक मात्रा में नहीं खाना चाहिए।

एसिडिटी- गोलगप्पे से मिलने वाले फायदे में एसिडिटी भी है, जिससे छुटकारा पाया जा सकता है। आटे की पानीपुरी के साथ जलजीरा में पुदीना, कच्चा आम, काला नमक, कालीमिर्च, पिसा हुआ जीरा और साधारण नमक का मिश्रण होना चाहिए। इन सभी चीजों का मिश्रण होने से एसिडिटी कुछ ही मिनटों में दूर किया जा सकता है।

जी मचलाए तो भी खा सकते हैं गोलगप्पे- यदि आप सफर के दौरान या फिर बंद कमरे में घुटन जैसा महसूस कर रहे हैं। इतना ही नहीं बल्कि उलझन या फिर जी मचला रहा हो तो गोलगप्पा आपके लिए रामबाण का काम कर सकता है। ऐसे वक्त में आप आटे के कम से कम 4-5 गोलगप्पे खाएंगे तो इससे आपको उलझन या फिर जी मचलाने जैसी समस्या से तुरंत निजात पा सकते हैं।

मूड रिफ्रेश करने में सहायक- गर्मी और चिलचिलाती धूप में अक्सर लोग हैरान-परेशान होने वाली स्थिति में होते है। इस दौरान चिड़चिड़ाहट और ज्यादा से ज्यादा पानी पीने की इच्छा होती है। यदि आप पानी पीने से पहले 2-4 गोलगप्पे खाकर पानी पिएं तो आप खुद को बिल्कुल रिफ्रेश जैसा महसूस करेंगे।

कब और कितने खाएं गोलगप्पे ?

यदि आप गोलगप्पे खाने को सोच रहे हैं तो इसके लिए दोपहर का समय सबसे बेहतर होगा। क्योंकि लंच और शाम के नास्ते के बीच खाने पर न सिर्फ यह फायदेमंद होगा बल्कि आपके पाचन क्रिया को भी सक्रिय रखेगा। गोलगप्पे शाम को खाने से वजन बढ़ा सकता है, इसके अलावा यदि आप वर्कआउट करते हैं तो इसके पहले या बाद में इसका सेवन बिल्कुल भी न करें। दोपहर के वक्त आप छोटे-छोटे 5-6 आटे के गोलगप्पे खा सकते हैं। यदि पानीपुरी में मटर की जगह मूंग या चने का इस्तेमाल करते हैं तो यह और भी फायदेमंद होगा।