Breaking News

रांची :: हिन्दू जागरण मंच के प्रांतीय अभ्यास वर्ग का हुआ समापन, बोले डॉ सुमन ‘जीवन को तपस्या के तरह समझें’

भरनो :भरनो स्थित सीताराम साहू सरस्वती शिशु विद्या मंदिर में चल रहे हिन्दू जागरण मंच का तीन दिवसीय प्रांतीय अभ्यास वर्ग का रविवार को समापन हो गया। समापन सत्र को संबोधित करते हुए मंच के झारखण्ड बिहार क्षेत्रीय संगठन मंत्री सह संघ के प्रचारक डॉ सुमन ने कहा जीवन को तपस्या के तरह समझें कार्यकर्ता और इस अभ्यास वर्ग रूपी तपोस्थली से एक व्रत लेकर अपने क्षेत्रों में जाएँ। प्रशिक्षु बंधुवर संगठन के अनुरूप पूर्ण वचनबद्धता के साथ समाज में अपने  व्यवहार से लोगों के मन में जगह बनायें। डॉ सुमन ने जागरण मंच के बारे में बताते हुए कहा कि, हिन्दू समाज  के मान बिंदुओं का संरक्षण एवं संवर्धन,हिन्दू समाज में व्याप्त कुरीतियों,आडम्बरों तथा किसी भी प्रकार के अपमान,आक्रमण के विरुद्ध प्रबल प्रतिरोध करते हुए हिंदू चेतना को जागृत करने के उद्देश्य से हिन्दू जागरण मंच कार्यशील हैं। मंच द्वारा वर्ष भर में मनाये जाने वाले पांच उत्सवों को जिक्र करते हुए कहा कि सभी को वर्ष प्रतिपदा,मकर सक्रांति,हिन्दू साम्राज्य दिनों उत्सव,अखंड भारत संकल्प सप्ताह तथा विजयादशमी पर्व पर सेवा बस्तियों में जाएँ और लोगों को सेवा कार्य करें। समाज को बतायें कि नेता,नीति और नारा से इस देश का भला नहीं होने वाला। हमें सदैव अपने वीर व्रत,तेरा वैभव अमर रहे माँ हम दिन चार रहे न रहे के प्रति जो संकल्प हम सबने लिया है वो हमें सदैव स्मरण रहना चाहिये। समय पर दर्शन और प्रदर्शन दोनों की जरुरत है। दर्शन साल भर के लिए और प्रदर्शन विधर्मियों के लिए। महाभारत के दृष्टान्त को उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा लड़ाई धर्म और अधर्म के बीच है जो अधर्म के साथ खड़े थे वो चारो खाने चीत हुए। आज भी वही परिस्थिति है। कश्मीर भारत की शान है हिंदुओं का प्राण है वर्षों पहले घाटी कश्मीरी पंडितों से शोभित होता था किन्तु आज जो पथरबाजी सेना के साथ कर रहें हैं वो देश द्रोही हैं।कश्मीर हो या गोहाटी अपना देश अपनी माटी। खंडित भारत हमें स्वीकार नहीं अखंड भारत ही हमारी नियती है। भारत के सरजमीं से लव,लैंड,हेल्थ जेहाद चलाया जा रहा है और इसके पीछे पाकिस्तान, आईएसआई और देश के कुछ जयचंदों और मानसिंह के औलाद देश में रहकर ही देश के खिलाफ धड़यंत्र कर रहे हैं इन्हें नेस्तनाबूद करने के लिए सजग, सतर्क रहने की जरुरत है। नारी राष्ट्र का ध्वजा है,प्रचंड शक्ति है। मानवता की परिभाषा इस ममता रूपी माँ से ही पूरी होती है जिसके आँचल के साथ खिलवाड़ कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। मार्क्स,मैकाले और मरियम पुत्रों के गलत शिक्षा नीति के कारण अभी तक हम अपने पूर्वजों को अपने महापुरूषों को पहचानने के भूल कर बैठे हैं। भारत किसका और किनका विषय पर भी नासमझी कर बैठे हैं। भारत को सुजलाम् सुफलाम् बनाये बिना हमें विराम नहीं लेना है। अंत में उन्होंने कहा भारत की जानों भारत को मानो भारत का बनो और भारत को बनाओ। समापन सत्र में जागरण मंच के राष्ट्रीय संगठन मंत्री अशोक प्रभाकर,सह संगठन मंत्री प्रेम कुमार,प्रान्त अध्यक्ष रामकेवल सिंह,महामंत्री वाणी कुमार रॉय,परावर्तन प्रमुख संजय वर्मा,संथाल प्रमुख पिंकू शुक्ला,सह प्रमुख रमेश टुडु, प्रदेश मंत्री प्रवीण सिंह,जनजातीय प्रमुख जगरनाथ भगत,बेटी बचाओ प्रमुख अरुण केशरी,सह बेटी बचाओ प्रमुख ऋषि शाहदेव,किशोर साहू,कृष्ण देव सिंह,नवल किशोर शाही राहुलकेशरी , आदि लोग उपस्थित थे। अभ्यास वर्ग में रांची महानगर से 12 कायकर्ता,रांची जिला ग्रामीण 8,गुमला 18,लोहरदगा 4,सिमडेगा 4,रामगढ़ 1,हजारीबाग 2,चतरा,लातेहार 5 2,देवघर 7,कोडरमा 5,पाकुड 5,जामताड़ा 4,खूंटी 1,जमशेदपुर 2,बोकारो 1 आदि कुल सभी चौबीसों जिलों से प्रशिक्षु भाग लिए।

Check Also

अब पेट्रोल पंपों से भी मिलेगा “छोटू” सिलेंडर

– छोटे उपयोगकर्ताओं के लिए कम कम औपचारिकता का कनेक्शन– 5 किलो वाला एलपीजी सिलेंडर …