अफवाह :: 2000 के नोट में नैनो GPS चिप, जमीन के अंदर भी होगा ट्रैक देश की सबसे अधिक मूल्य की करेंसी ब्लैकमनी प्रूफ

1

picsart_11-10-02-24-42-320x269उ.स.डेस्क : यह पहली बार है जब रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया 2000 रुपए के करेन्सी नोट जारी की है। यह नोट देश में अब तक के सबसे अधिक मूल्य का नोट है। यह नोट नई तकनीक से लैश पूरी तरह ब्लैकमनी प्रूफ है।

नए 2000 रुपए के इस नए नोट में नैनो जीपीएस चिप लगी है।इसे सेटेलाइट के माध्यम से आसानी से ट्रैक किया जा सकता है।जब सैटेलाइट एनजीसी को सिग्नल भेजती है तो एनजीसी अपनी लोकेशन को बताती है।यह जमीन के भीतर से भी सिग्नल दे सकती है। एनजीसी लगी करेंसी को कही सें भी ट्रैक किया जा सकेगा।इस तकनीक की मदद से इस बात का पता लगाया जा सकेगा कि किस लोकेशन पर कितना पैसा इकट्ठा है।अब ब्लैकमनी जमा करने वाले लोग अपनी प्रतिभा का इस्तेमाल किसी दूसरे फील्ड में कर सकते हैं।

वित्त मंत्री अरूण जेटली ने इस मामले को अफवाह बताया। उन्होंने कहा कि 2000 के नोट में नैनो जीपीएस चीप वाली बात महज एक अफवाह है।

गौरतलब है कि देश भर में 8 नवंबर की आधी रात से 500 और 1000 रुपए के नोट्स तत्काल प्रभाव से बंद कर दिए गए हैं। साथ ही रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने बाजार में 500 और 2000 रुपए के नए नोट जारी किए हैं.