बिहार :: कभी भी हो सकते हैं मध्यावधि चुनाव, कार्यकर्ता रहें तैयार : भाजपा

2

 

picsart_10-16-11-46-17-320x245पटना : भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि बिहार मध्यावधि चुनाव की ओर बढ़ रहा है. नीतीश सरकार अपना कार्यकाल पूरा नहीं करेगी. मध्यवाधि चुनाव के मद्देनजर पार्टी ने अपने कार्यकर्ताओं को तैयार रहने के लिए कहा है.

प्रदेश सरकार के दो मुख्य दलों जदयू और राजद के बीच मनमुटाव का दावा करते हुए भाजपा ने शनिवार को कहा कि महागठबंधन का आंतरिक मतभेद बिहार में मध्यावधि चुनाव का कारण बन सकता है.

महागठबंधन के दो प्रमुख दलों जदयू और राजद के बीच मोहम्मद शहाबुद्दीन की जमानत रद्द होने और राजद विधायक राज बल्लभ यादव के निलंबन सहित विभिन्न मुद्दों पर मनमुटाव की स्थिति है.

‘जिस प्रकार राज्य सरकार में तीनों गठबंधन सहयोगी (जदयू, राजद और कांग्रेस) आंतरिक मतभेद से जूझ रहे हैं, यह उनके बीच बढ़ते तनाव का संकेत है. ऐसे में विधानसभा चुनाव सदन का कार्यकाल (विधानसभा) समाप्त होने से पहले कभी भी हो सकता है.’
                  — बिहार भाजपा अध्यक्ष मंगल पांडेय

पार्टी को दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक समाप्त होने के बाद पांडेय संवाददाताओं से बात कर रहे थे. बैठक बिहार विधानपरिषद् में विपक्ष के नेता सुशील कुमार मोदी के सरकारी आवास 1, पोलो रोड पर चल रही थी.

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और बिहार प्रभारी भूपेन्द्र यादव, बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता प्रेम कुमार और राधा मोहन सिंह, रविशंकर प्रसाद, राजीव प्रताप रूडी सहित अन्य केन्द्रीय मंत्रियों तथा विभिन्न विधायकों और विधानपाषर्दों ने दो दिवसीय बैठक में भाग लिया.