Breaking News

बिहार :: द्वितीय शाही स्नान में 25 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने किया स्नान

बेगूसराय, रघुवीर झा  संवाददाता : सिमरिया कुम्भ के अबतक के सफर व द्वितीय शाही स्नान के बाबत कुम्भ सेवा समिति द्वारा सोमवार को प्रेसवार्ता आयोजित किया गया। प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए विधान पार्षद रजनीश कुमार ने कहा कि रविवार के द्वितीय शाही स्नान में एक आकलन के मुताबिक 25 लाख से अधिक लोग स्नान किये। महाकुंभ के शाही स्नान के पूर्व संध्या से ही लोगों का आना शुरू हो गया। यद्यपि शाही स्नान के लिए संतों एवं अखाड़ों की शोभा यात्रा साढ़े आठ बजे सुबह से शुरू हुआ परन्तु लोगों ने रात दो बजे से ही सभी 26 घाटों पर स्नान शुरू कर दिया एवं जाम से बचने के लिए स्नान कर निकलना शुरू कर दिया था। यह कुंभ मेला गंगा के तट के समानांतर लगभग दो किलोमीटर पूरब से पश्चिम तक तथा दो किलोमीटर उत्तर से दक्षिण गंगा तट तक फैला हुआ है। कल शाही स्नान के बाद तक यह क्षेत्र श्रद्धालुओं से भरा पड़ा हुआ था। सबसे पहले जूना अखाड़ा एवं आवाहन अखाड़ा के नागा संतों ने स्नान किया। उसके बाद विभिन्न अखाड़े के संत अपने-अपने निशान के साथ शाही स्नान में भाग लिया। सर्वमंगला परिवार सिमरिया धाम के स्वामी चिदात्मन जी के नेतृत्व में हजारों साधु-संतों ने शाही स्नान किया वहीं कुंभ तदर्थ समिति के अध्यक्ष एवं फतेहा मठ के महंथ राम सुमिरन दास एवं सूजा मठ के महंथ रामशंकर दास के नेतृत्व में मिथिला एवं आस-पास के संत महात्माओं ने शोभा यात्रा निकाल कर शाही स्नान में भाग लिया। संत कबीर पंथ के सैकड़ों संत-महात्माओं महंथ धर्मदास साहेब के नेतृत्व में शाही स्नान में भाग लिया। कुंभ सेवा समिति, कुंभ तदर्थ समिति तथा सर्वमंगला परिवार के साथ-साथ अन्य सामाजि एवं सांस्कृतिक संगठनों तथा जिला प्रशासन के सामुहिक प्रयास से द्वितीय शाही स्नान की व्यवस्था सफल हुई है। इस शाही स्नान के अवसर पर कुंभ सेवा समिति के द्वारा भंडारा की व्यवस्था की गई थी जिसमें हजारों लोगों ने निःशुल्क भोजन किया है। गंगा महाआरती, रामलीला, रासलीला, श्रीरामकथा अमृतवर्षा, श्रीमद् भागवत कथा के साथ-साथ शास्त्र मंथन के रूप में राष्ट्रीय संगोष्ठी एवं विशेष अवसरों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। यह संपूर्ण व्यवस्था बेगूसराय के समाज के विभिन्न वर्गों के लोगों के सहयोग से किया जा रहा है। इसी प्रकार कुंभ सेवा समिति उन सभी के प्रति आभार व्यक्त करती है तथा उनका अभिनंदन करती है। किसी भी कुंभ के आयोजन की जिम्मेदारी सरकार एवं अखाड़ा पर होती है। परन्तु चूंकि यह कुंभ प्रारंभिक अवस्था में है इसलिए सरकार की ओर से जिला प्रशासन ने जो व्यवस्था किया वह आवश्यकता से बहुत ही कम रहा फिर भी शाही स्नान में एक दिन में लगभग 25 लाख से अधिक लोगों का भाग लेना एवं बिना घटना एवं दुर्घटना के सफल होना अपने आप में अद्भूत एवं आश्चर्यजनक है। प्रथम शाही स्नान में लगभग पांच लाख, द्वितीय शाही स्नान में लगभग 25 लाख तथा उद्घाटन से लेकर औसतन प्रतिदिन लगभग दो लाख लोग सिमरिया कुंभ में स्नान एवं भाग लेने के लिए आते रहे। इस आधार पर आकलन है कि अभी तक लगभग 50 लाख से अधिक की संख्या में लोग सिमरिया कुंभ में भाग ले चुके हैं। सरकार एवं जिला प्रशासन की पर्याप्त भूमिका नहीं होने के बावजूद भी सिमरिया कुंभ सफलता की ओर सतत अग्रसर हो रहा है। आगामी कार्यक्रम में पूर्णिमा का स्नान 4 नवम्बर तथा तीसरा शाही स्नान 8 नवम्बर को होना सुनिश्चित है जिसमें लाखों लोग भाग लेंगे तथा सभी अखाड़े के संत था देश के गणमान्य लोग भाग लेंगे। मौके पर डा. नलिनी रंजन, पूर्व मेयर संजय कुमार, भूमिपाल राय, संजय कुमार आदि मौजूद थे।

Check Also

डॉ मशकूर उस्मानी ने निभाया वादा, अंजली बिटिया की पढ़ाई शुरू जाने लगी कांवेंट स्कूल

डेस्क : बीते माह जाले के ब्राह्मण टोली में रहने वाली चंचल झा नाम की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *