Breaking News

बिहार :: वंशवाद के कारण सरदार पटेल को कांग्रेसियों ने नहीं दिया मान सम्मान – सुशील

बिहारशरीफ,पटना : स्थानीय श्रम कल्याण केन्द्र के मैदान मे सरदार विचार मंच द्वारा सरदार पटेल की 142वी जयंती समारोह का भव्य आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम मे पूरे जिले से कई हजार लोग कार्यक्रम मे शामिल हुए और पटेल के विचारों से अबगत हुए। यह पहला कार्यक्रम था जिसमे जात पात, धर्म और सम्प्रदाय, उंच नीच व दलीय भावना से उपर उठकर मनाया गया। कार्यक्रम का उदघाटन राज्यसभा सदस्य रामचन्द्र प्रसाद सिंह, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, स्नातक विधान पार्षद निरज कुमार, बिहार शरीफ विधानसभा के विधायक डॉ सुनील कुमार एवं राजगीर विधायक रवि ज्योति कुमार ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया। सुशील कुमार मोदी ने कहा कि कांग्रेस की खुदगर्जी के कारण ही सरदार पटेल को भारत रत्न मिलने मे 41 साल लग गया। उन्होने कहा कि वर्तमान मे लौह पुरूष है देश मे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी है और दूसरा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हैं। दोनो मे लौह पुरूष की तरह दृढ़ इच्छा शक्ति है, दोनों मे नेतृत्व का क्षमता है। प्रधानमंत्री ने नोटबंदी किया उन्होने जीएसटी को लागू किया। वही बिहार मे सीएम नीतीश कुमार ने शराबबंदी कर दृढ इच्छा शक्ति का परिणाम है। राज्यसभा सदस्य आरसीपी सिंह ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की एक बयान को याद दिलाते हुए कहा कि आज वो जिस राज्य मे मुख्यमंत्री बनकर शासन कर रही हैं वह पटेल की ही देन है अन्यथा आज वह जगह पाकिस्तान मे होता। उन्होने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस सिर्फ वंशवाद को बढ़ावा देने मे लगी है। जिन्होने 565 रियासतों को जोड़कर एक भारत का निर्माण किया आज उन कांग्रेसियां के पास उन पटेल के लिए दो फूल तक नही है। यहां तक कि उन्हे भारत रत्न देने के बजाय कांग्रेस ने खुद ले लिया और 41 साल इंतजार के बाद उन्हे भारत रत्न दिया गया। उन्होने किसानों की समस्या, जंगल की समस्या पर भी प्रकाश डाला। निरज कुमार ने कहा कि पटेल के विचारों को रोकने की हिम्मत किसी भी व्यक्ति मे नही है। उन्होने कहा कि अगर आज भ्रष्टाचार को पूर्ण रूप से मिटाना है तो पटेल के विचारों को अपनाकर ही मिटाया जा सकता है। आये दिन पटेल जयंती को चुनौति मिल रही है। उनकी चुनौतियो को स्वीकारते हुए पटेल जयंती मनायी जायेगी। उन्होने कहा कि अगर नये दौर मे नई कहानी लिखना है तो पटेल के विचारों को आत्मसात करना होगा। देश के विकास के लिए नियत और नियती साफ होनी चाहिए। डॉ सुनील कुमार ने कहा कि जीतने वाले सिर्फ लक्ष्य को देखा करते हैं और हारन वाले रूकावटों को । उन्होने कहा कि 31 अक्टूबर 2013 के पहले सिर्फ गावों मे पटेल की जयंती मनाई जाती थी। अब पूरे देश मे उनकी जयंती मनायी जाने लगी है यह तभी संभव हुआ जब प्रधानमंत्री ने गुजरात मे दुनिया का सबसे बड़ा स्टैच्यु सरदार पटेल का जब निर्माण होना शुरू हुआ। उन्होने कांग्रेस पर आक्रामक तेवर मे कहा कि कांग्रेस के लोग जयंति पर दां फूल भी चढ़ाना उचित नही समझते हैं। बह सिर्फ इंदिरा नेहरू पर फूल चढ़ाते है क्या यह परिवार वाद नही है। क्या उन्हे याद नही करना चाहिए जिन्होने पूरे देश को एक किया। इस अवसर पर आयोजन समिति के सदस्य संजयकांत सिन्हा, राजीव रंजन पटेल, अविनाश मुखिया, अनिरूद्ध कुमार, कौशलेंद्र कुमार उर्फ छोटे मुखिया, भोला जी, रामसागर सिंह, अरविन्द कुमार, प्रो रामसागर सिंह, पूर्व विधायक राजीव रंजन, सुधीर कुमार, डा आशुतोष कुमार, राजेश कुशवाहा विनोद कुमार सहित अन्य लोग मौजूद थें।

Check Also

दरभंगा कंकाली मंदिर के पुजारी की गोली मारकर हत्या, 3 अपराधियों की आक्रोशित लोगों ने की पिटाई एक की मौत 2 की हालत गंभीर एक भक्त भी गोली लगने से ज़ख्मी

राजू सिंह की रिपोर्ट दरभंगा : दुर्गापूजा के महानवमी की अहले सुबह दरभंगा में अपराधियों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *