बिहार :: 15 अक्टूबर से मॉर्निंग और इवनिंग वॉक के लिए देने होंगे पैसे

6

picsart_09-28-01-49-18पटना : चिड़ियाघर में मॉर्निंग और इवनिंग वॉक की सुविधा अब मुफ्त नहीं होगी। 15 अक्टूबर से इसके लिए शुल्क लगेगा। घूमने वाले मासिक और सालाना पास बनवा सकते हैं।

यह नियम पर्यावरण एवं वन विभाग ने पास पर प्रवेश का नियम बनाया। एक महीने का पास बनवाने पर 250 रुपए और एक साल पर दो हजार रुपए लगेंगे। वहीं, 60 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्गों को वयस्कों से आधा शुल्क लगेगा। यानी बुजुर्गों को एक महीने का 125 रुपए और एक साल के लिए एक हजार रुपए देने होंगे। पास पर कभी भी जा सकते हैं । अब इस पास पर सुबह-शाम वॉक करें या घूमें यह उनकी मर्जी पर होगा।

पर्यावरण एवं वन विभाग के प्रधान मुख्य वन संरक्षक  डीके शुक्ला ने बताया कि चिड़ियाघर में वॉक को बंद करने का सख्त निर्देश सेंट्रल जू अथॉरिटी ने दिया है। इसी निर्देश का अनुपालन करते हुए इस तरह के नियम लागू किए जा रहे हैं।

दिन में भी इस पास के जरिए मुफ्त जा सकते हैं। जो लोग पास नहीं बनवाएंगे उन्हें टिकट लेकर ही प्रवेश करना होगा। चिड़ियाघर खुलने का समय सुबह 5 बजे और बंद होने का समय शाम छह बजे तक तय किया गया है। करीब 15 हजार रोज आते हैं वॉक करने चिड़ियाघर में रोजाना सुबह और शाम मिलाकर करीब पंद्रह हजार लोग मॉर्निंग और इवनिंग वाक को आते हैं। इनमें कई वीवीआईपी भी होते हैं। चिड़ियाघर प्रशासन का कहना है कि चाहें वीवीआईपी हो या आम लोग। सभी को पास बनवाने होंगे।