Breaking News

बिहार :: नीतीश के फैसले से जदयू में फूट, शरद यादव असंतुष्ट विधायकों के साथ करेंगे बैठक

पटना : नीतीश कुमार के फैसले से जदयू में फूट की खबर आ रही है। बिहार में महागठबंधन को तोड़कर बीजेपी के साथ सरकार बनाने वाले नीतीश कुमार के खिलाफ उनकी पार्टी जेडीयू के भीतर से बगावती सुर सुनाई देने लगे हैं। पार्टी के वरिष्ठ नेता शरद यादव और सांसद अली अनवर ने नीतीश के खिलाफ बिगुल फूंका है। शरद यादव जहां नीतीश के शपथग्रहण समोराह में शामिल नहीं हुए, वहीं उनके कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने की खबर भी है। सूत्रों के मुताबिक, शरद यादव आज शाम अली अनवर और पार्टी के दूसरे असंतुष्ट नेताओं से भी मुलाकात करेंगे। शरद के आवास पर शाम पांच बजे होने वाली इस बैठक में आगे की रणनीति तय होने की उम्मीद है। बता दें कि शरद के बगावती तेवरों को देखते हुए उन्हें केंद्र में मंत्री बनने का ऑफर दिए जाने की भी अटकलें हैं।

पूर्व जेडीयू अध्यक्ष शरद यादव ने गुरुवार सुबह इस पूरे घटनाक्रम पर मीडिया के सामने खुलकर नाराजगी जाहिर की। शरद यादव ने कहा, ‘नीतीश कुमार ने सरकार बनाने का फैसला बहुत जल्दबाजी में लिया है। गठबंधन तोड़कर इतनी जल्दी बीजेपी के समर्थन से सरकार बनाने के फैसले का मैं समर्थन नहीं करता हूं।’ बता दें कि 2013 में बीजेपी से रिश्ता टूटने के बाद से ही शरद यादव बीजेपी पर खुलकर हमला करते आए हैं। वहीं, जेडीयू के राज्यसभा सांसद अली अनवर ने भी अंतरात्मा की आवाज दोहरा दी। नीतीश कुमार ने कहा कि उन्होंने अंतरात्मा की आवाज पर इस्तीफा दिया। वहीं, अनवर कह रहे हैं कि उनकी अंतरात्मा इस फैसले के साथ नहीं है। उन्होंने कहा, ‘बीजेपी की जिन बातों से हमें परहेज था, बीजेपी अब उस तरफ और उग्रता के साथ बढ़ रही है।’

इधर, जेडीयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने अनवर के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि पार्टी का यह निर्णय सर्वसम्मति से हुआ है, जिससे इस फैसले को लेकर नाराजगी है, उसे पार्टी फोरम में बात उठानी चाहिए। बता दें कि बीजेपी के साथ सरकार बनाने को लेकर नीतीश अपने पूर्व सहयोगियों आरजेडी और कांग्रेस के निशाने पर हैं। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने नीतीश कुमार पर महागठबंधन को धोखा देने और ‘व्यक्तिगत स्वार्थ’ के लिए बीजेपी से हाथ मिलाने को लेकर निशाना साधा। राहुल ने संसद के बाहर संवाददाताओं से कहा, ‘हम जानते थे कि पिछले तीन-चार महीनों से क्या चल रहा था। भारतीय राजनीति के साथ यही समस्या है। सत्ता और राजनीतिक स्वार्थ के लिए वे किसी भी चीज के साथ समझौता कर सकते हैं।’ वहीं लालू ने भी नीतीश को भस्मासुर तक कह डाला।

Check Also

हड़कंप :: एक SDO,2 एसपी, 4 डीएसपी, तीन CO समेत 18 अधिकारी निलंबित, अवैध बालू खनन मामले में बिहार सरकार की सबसे बड़ी कार्रवाई

डेस्क : अवैध बालू खनन को लेकर सख्ती दिखा रही सरकार के हाथ अपने कई …