बिहार :: हार्डवेयर व्यवसायी की धारदार हथियार से गला रेत कर निर्मम हत्या, आक्रोशित लोगों ने किया सड़क जाम

5

1479704504-300x250समस्तीपुर : बिहार में अपराध की वारदातें एक बार फिर से बढ़ने लगी हैं। ताजा मामला समस्तीपुर का है जहां बेखौफ अपराधियों ने एक व्यवसायी की गला रेतकर निर्मम तरीके से हत्या कर दी।

मिली जानकारी के मुताबिक समस्तीपुर जिले के सिंघिया थाने के पिपरा चौक पर हार्डवेयर की दुकान चलाने वाले रामकुमार झा की बीती रात अपराधियों ने धारदार हथियार से गर्दन रेत कर हत्या कर दी। अपराधियों ने इस घटना को उस समय अंजाम दिया जब वे दुकान बंद कर घर जाने की तैयारी में थे। हत्या की घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने लाश के साथ पिपराचौक को जाम कर सिंघिया-कुशेश्वर स्थान रोड को जाम कर आवागमन ठप कर दिया। वहीं जाम हटाने गयी सिंघिया थाने की पुलिस को खदेड़ दिया। लोगों ने पुलिस जीप की हवा भी निकाल दी। बाद में बीडीओ जयकिशन व रोसड़ा इंस्पेक्टर विश्वनाथ पंडित पहुंचे और उन्हें समझाने काप्रयास किया लेकिन ग्रामीणों ने उनकी भी नहीं सुनी। वे जाम स्थल पर एसपी को बुलाने और सिंघिया थाना प्रभारी को हटाने की मांग पर अड़े थे। उनका आरोप था कि रात में ही थाने को व्यवसायी के गायब होने की जानकारी देकर खोजने में मदद करने की गुहार लगायी गयी लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

IMG_20170124_131609-300x200बताया गया है कि व्यवसायी रामकुमार झा प्रतिदिन शाम करीब सात बजे के बाद दुकान बंद कर घर चले जाते थे। लेकिन कल रात जब 10 बजे तक नहीं पहुंचे तो परिजन चिंतित होकर खोजने निकले। दुकान पर पहुंचे तो उनकी मोटरसाइकिल वहीं खड़ी पायी। उस पर उनका झोला भी टंगा था। लेकिन उनका कोई अता-पता नहीं था। इस पर परिजनों को उनके अपहरण की आशंका सताने लगी। ग्रामीण संजय कुमार झा व बखेरी झा ने बताया कि परिजनों के साथ वे लोग सिंघिया थाने गये और मामले से अवगत कराते हुए श्री झा की खोज बीन में मदद करने की गुहार लगायी किन्तु पुलिस ने अनसुनी कर दी। निराश परिजनों ने अपने स्तर से ही खोज में लग गये लेकिन कुछ पता नहीं चला। सुबह कुछ लोग शौच करने के लिए जब दुकान के पास ही खेत की ओर गये तो लाश पर उनकी नजर पड़ी। इसके बाद देखते ही देखते वहां भीड़ लग गयी। लोगों ने पाया कि तेज धारदार हथियार से गर्दन रेत कर उनकी हत्या की गयी है। कनपट्टी पर वार किये गये थे। इसके बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गये। ग्रामीणों के मुताबिक व्यवसायी ने कल दिन में तीन-चार ट्रक गिट्टी व बालू बेचा था। हो सकता है कि उसी रुपये को लूटने के लिए अपराधियों ने इस घटना को अंजाम दिया। ग्रामीणों को आशंका है कि व्यवसायी दुकान बंद करने के बाद लघुशंका करने खेत की ओर जाते थे। इसका पता अपराधियों को रहा होगा। कल रात भी वे जब लघुशंका करने गये होंगे तो अपराधियों ने उन्हें पकड़ इस घटना को अंजाम दे डाला।