Breaking News

कोरोना का अगला ठिकाना ग्रामीण क्षेत्र, माइकिंग कराने व मास्क अभियान चलाने का डीएम ने दिए निर्देश

दरभंगा : जिला पदाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम. की अध्यक्षता में उनके कार्यालय प्रकोष्ठ से कोरोना को लेकर ऑनलाईन बैठक की गयी। बैठक में जिलाधिकारी ने सभी अनुमण्डल पदाधिकारी,पुलिस उपाधीक्षक, अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी एवं थानाध्यक्ष को सम्बोधित करते हुए कहा कि होम आइसोलेशन वाले 50 वर्ष से ऊपर के व्यक्तियों पर विशेष नजर रखी जाये। उनके यहाँ प्रतिदिन चिकित्सा कर्मी पी.पी.ई. किट्स में जाकर उन्हें देखते रहें। होम आइसोलेशन वाले एक भी व्यक्ति की मृत्यु नहीं होनी चाहिए। साथ ही उनके निकट सम्पर्क रहने वाले पर भी विशेष नजर रखी जाये।


बाढ़ से घिरे गाँव के लिए खासकर कुशेश्वरस्थान पूर्वी एवं किरतपुर अंचल में वोट एम्बुलेंस की व्यवस्था रखी जाए। अनुमण्डल पदाधिकारी, बिरौल को इसे सुनिश्चित कराने का निदेश दिया गया। बैठक में डीपीएम द्वारा बताया गया कि कुशेश्वरस्थान पूर्वी में 01 वोट एम्बुलेंस की व्यवस्था की गयी है।

  • कोरोना को लेकर जिलाधिकारी ने की ऑनलाईन बैठक
  • प्रतिदिन मास्क अभियान चलाने का दिया गया निर्देश
  • 50 वर्ष से ऊपर वाले पर विशेष नजर रखने का निर्देश
  • घेराव व पथराव करनेवालों की करें गिरफ्तारी- एस पी.


जिलाधिकारी ने सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को विटामिन -सी एवं मल्टीविटामिन टेबलेट का वितरण सुनिश्चित करवाने का निर्देश दिया। उन्होंने सभी अनुमण्डल पदाधिकारी, पुलिस उपाधीक्षक, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी एवं थानाध्यक्ष को लगातार मास्क अभियान चलाते रहने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता लाने की विशेष आवश्यकता है और इसके लिए प्रतिदिन मास्क अभियान चलाते रहें। उन्होंने कहा कि प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी अपने क्षेत्र में खास करके कोरोना वाले क्षेत्र में लगातार माइकिंग कराते रहें, ताकि लोगों में जागरूकता बनी रहें।


उन्होंने कहा कि कई थानों में मास्क अभियान की स्थिति संतोषप्रद नहीं है। जिसमें भालपट्टी, हायाघाट, कमतौल, मोरो, केवटी, सिंहवाड़ा, अलीनगर, बिरौल एवं कुशेश्वरस्थान पूर्वी शामिल हैं। उन्होंने संबंधित अनुमण्डल पदाधिकारी एवं पुलिस उपाधीक्षक को इन थानों के मास्क अभियान का प्रतिदिन अनुश्रवण करने का निदेश दिया।
उन्होंने कहा कि केयर इण्डिया ने अपने रिसर्च में बताया गया है कि अगले चरण में कोरोना का संक्रमण ग्रामीण क्षेत्रों में होगा और ग्रामीण क्षेत्र में जब संक्रमण होगा, तो बड़े पैमाने पर होगा। इसलिए ग्रामीण क्षेत्र में जागरूकता एवं मास्क अभियान लगातार चलाने की जरूरत है। कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए मास्क और सामाजिक दूरी के अलावा और कोई उपाय नहीं है। प्रखण्ड विकास पदाधिकारी जनप्रतिनिधियों का सहयोग लें और पंचायतवार जागरूकता समिति बनाकर ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार जागरूकता अभियान चलावें।
इसके साथ ही कंटेनमेंट जोन पर भी विशेष नजर रखी जाये। कंटेनमेंट जोन का समुचित ढंग से घेराबन्दी की जाए तथा वहाँ प्रतिबंधित क्षेत्र का बैनर लगाया जाए। होम आइसोलेशन वाले से उनके घर में उपलब्ध कमरों के बारे में निश्चित रूप से जानकारी प्राप्त कर ली जाए। अगर उनके घर में कमरे नहीं हैं तो प्रखंड आइसोलेशन सेंटर में उन्हें रखा जाए।
बाढ़ राहत को लेकर कई अंचलों में घेराव एवं पथराव किया गया। उन्होंने कहा कि चुनाव के मद्देनजर राजनैतिक उद्देश्य के लिए लोगों को उकसा कर व गुमराह कर ऐसा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जहाँ बाढ़ नहीं आई है, वहाँ के लोगों को भी राजनैतिक उद्देश्य से उकसाकर घेराव एवं पथराव करवाया जा रहा है।

उन्होंने सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी ऐसे मामले में तुरंत प्राथमिकी दर्ज कराने एवं दोषी व्यक्ति की गिरफ्तारी कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि अगर किसी को अपनी माँग रखनी है, तो उचित तरीके से अपनी माँग रख सकते हैं, लेकिन हंगामा करना, पथराव करना व सड़क जाम करना गैर-कानूनी है।
बैठक में सभी थानाध्यक्ष को सम्बोधित करते हुए नगर पुलिस अधीक्षक श्री योगेन्द्र कुमार ने कहा कि मास्क अभियान के विरूद्ध थानों द्वारा जुर्माना संकलन संतोषजनक नहीं है। पिछले दिनों में इसमें गिरावट आई है। सभी थाने प्रतिदिन कम से कम तीन स्थल पर मास्क अभियान चलावें।

पुलिस महानिरीक्षक, मिथिला प्रक्षेत्र, दरभंगा द्वारा भी सभी अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी को इसके लिए निर्देश दिया गया है। उन्होंने कहा कि मास्क अभियान में जनप्रतिनिधियों का भी सहयोग लिया जाए। सभी थाने के गाड़ियों में माइक लगा हुआ है, उससे मास्क अभियान का प्रचार कराया जाए।

उन्होंने सभी थाना प्रभारी को कहा कि अंचलाधिकारियों के द्वारा घेराव एवं पथराव के लिए जिनके विरूद्ध भी प्राथमिकी दर्ज कराई गई है, उनकी गिरफ्तारी की जाए। यदि वे गिरफ्तार नहीं हो रहे हैं, तो कोर्ट से गैर-जमानतीय वारंट प्राप्त किया जाए।

बैठक में सहायक समाहर्त्ता सुश्री प्रियंका रानी, जिला भू-अर्जन पदाधिकारी श्री अजय कुमार, सिविल सर्जन डॉ. संजीव कुमार सिन्हा, अनुमण्डल पदाधिकारी सदर श्री राकेश कुमार गुप्ता, वरीय उप समाहर्त्ता राहुल कुमार, डी.पी.एम. (हेल्थ) विशाल कुमार एवं संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे।

Check Also

विश्व दिव्यांगता दिवस की पूर्व संध्या पर पुअर होम दरभंगा में कार्यक्रम आयोजित

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा : राष्ट्रवादी सोच पर आधारित सक्षम संस्था के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *