शिव राष्ट्र सेना ने गैंगरेप की घटनाओं पर कडा आक्रोश व्यक्त किया !

0

timthumb(यू0पी0 ब्यूरो) : शिव राष्ट्र सेना ने उत्तर प्रदेश में ताबड़तोड़ हो रही गैंगरेप की घटनाओं पर कडा आक्रोश व्यक्त किया है। शिव राष्ट्र सेना महानगर इकाई के कार्यकर्ताओं ने बक्शीपुर स्थित आर्यसमाज मंदिर पर एक आपात बैठक कर बुलंदशहर, फ़िरोज़ाबाद और बिजनौर में हुई गैंगरेप की घटनाओं पर कडा आक्रोश व्यक्त किया है। बैठक की अध्यक्षता करते हुए शिव राष्ट्र सेना के महानगर अध्यक्ष वैभव अग्रहरि ने इन घटनाओं को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा की प्रदेश में कानून व्यवस्था पुर्णतः ध्वस्त हो चुकी है और अपराधियों के हौसले बुलंद हैं, उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने का दम्भ भरने वालों ने प्रदेश को अपराधियों का गढ़ बना दिया है महिलाओं की सुरक्षा के लिए करोड़ों रुपये खर्च हो गए लेकिन धरातल पर जो सच्चाई है वो जनता के लिए आये दिन मुसीबत का सबब बनी हुई है। उन्होंने मुख्यमंत्री से इस्तीफे की मांग करते हुए प्रदेश में राष्ट्रपति शासन की मांग की और केंद्र सरकार से मामले में हस्तक्षेप कर इन दोषियों के विरुद्ध कड़ी करवाई की मांग करने के साथ ही चेतावनी देते हुए कहा की यदि एक सप्ताह के भीतर इन घटनाओं का खुलासा नहीं हुआ तो शिव राष्ट्र सेना एक विशाल प्रदेशव्यापी जनआंदोलन करने के लिए बाध्य होगी। वहीं बैठक को संबोधित करते हुए शिव राष्ट्र सेना के प्रदेश संयोजक रितेश कुमार आल्हा ने कहा की उत्तर प्रदेश में जंगलराज़ व्याप्त है और प्रदेश के मुखिया कान में तेल डाले बैठे हुए हैं।

हाइवे पर पेट्रोलिंग में लगे पुलिस के जवान जब सोते रहेंगे तो ऐसी जघन्य घटनाओं पर रोक कैसे लगेगी इसका जवाब तो मुख्यमंत्री और उनके गैरजिम्मेदार अफसरों को देना पड़ेगा। उन्होंने इस मामले में कड़ी करवाई की मांग करते हुए कहा की इस तरह की घटनाओं में शामिल लोगों पर ऐसी कारवाई होनी चाहिए जो अपराधियों के लिए नज़ीर बन जाये इसके साथ ही उन्होंने शीघ्र ही गैंगरेप की तीनों घटनाओं के खुलासे की माँग की। इस बैठक में वरिष्ठ भाजपा व व्यापारी नेता राजकुमार आल्हा ने भी गैंगरेप की घटनाओं पर खेद व्यक्त करते हुए दोषियों के विरुद्ध कड़ी कारवाई की मांग की और मुख्यमन्त्री समेत नगर विकास मंत्री आज़म खान के भी इस्तीफे की मांग की। उन्होंने आज़म खान पर इस घटना पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा की यदि यही घटना आज़म आज़म खान के परिवार के किसी सदस्य के साथ होती तो भी वह इसे राजनैतिक साजिश करार देते? इस बैठक में अभय श्रीवास्तव, शिवम् मिश्रा, चन्दन अग्रवाल, अंकित शर्मा, अभिषेक जायसवाल, सूरज गौड़, अनिल निषाद, दीपू वर्मा, अभिषेक राव, रूपेश मौर्या, अंकित बजाज, शिवम् गुप्ता, आदित्य अवस्थी, धर्मेन्द्र जायसवाल, शिवम् श्रीवास्तव, अनुराग श्रीवास्तव, आदित्य प्रताप सिंह, अमन गुप्ता, मिलन पासवान, संतोष गौड़ आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे।